Monsoon diet: बारिश के मौसम की वायरल बीमारियों, एलर्जी और इंफेक्शन से बचा सकते हैं ये 3 इम्यूनिटी बूस्टर फूड्स

बारिश आ गई है, साथ ही आने वाली हैं कई बीमारियां। इसलिए इन 3 फूड्स को अपनी डाइट में शामिल करके इम्यूनिटी बढ़ाइए और सीजनल बीमारियों के खतरे को कम कीजिए।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Jun 26, 2020Updated at: Jun 26, 2020
Monsoon diet: बारिश के मौसम की वायरल बीमारियों, एलर्जी और इंफेक्शन से बचा सकते हैं ये 3 इम्यूनिटी बूस्टर फूड्स

चिलचिलाती गर्मी के बाद जब बारिश का मौसम आता है, तो सबको अच्छा लगता है। बारिश की फुहारों के बीच गर्म-गर्म चाय और पकौड़ों का आनंद लेना बहुत सारे लोगों को पसंद है, लेकिन ये मौसम अपने साथ कई बीमारियां भी लाता है। सालभर में वायरल इंफेक्श के सबसे ज्यादा मामले बारिश के समय सामने आते हैं। इसका कारण यह है कि जगह-जगह पानी, कीचड़ और मौसम में नमी के कारण वायरस और बैक्टिीरिया के पनपने और विकास के करने के लिए ये सबसे अच्छा मौसम होता है।

बारिश की सीजनल बीमारियों में वायरल बुखार, खांसी, जुकाम, नाक बहना, फंगल इंफेक्शन, फ्लू आदि का खतरा रहता है। इसके अलावा इस मौसम में पेट और पाचन से जुड़ी समस्याएं भी खूब सामने आती हैं। जिन लोगों की इम्यूनिटी कमजोर होती है, वो इस मौसम में बहुत जल्दी बीमार पड़ते हैं। इसलिए इम्यूनिटी को मजबूत बनाए रहना बहुत जरूरी है। हम आपको बता रहे हैं इस मौमस में बीमारियों से बचाने वाले और इम्यूनिटी बढ़ाने वाले 3 ऐसे फूड, जिनका सेवन हर व्यक्ति को हर रोज करना चाहिए।

haldi in diet benefits

हल्दी

हल्दी सबसे पावरफुल मसालों में से एक माना जाता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि हल्दी में 300 से ज्यादा ऐसे पोषक तत्व होते हैं, जिनकी जरूरत शरीर को होती है। इनमें कैल्शियम, आयरन, जिंक और फाइबर आदि शामिल हैं। हल्दी की खास बात ये है कि इसमें एंटी-वायरल, एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-इंफ्लेमेट्री और एंटी-कैंसर गुण होते हैं। हमारे शरीर की ज्यादातर बीमारियों का कारण यही वायरस, बैक्टीरिया या इंफ्लेशन होते हैं और हल्दी इन सबसे हमारी रक्षा करती है। इसके अलावा हल्दी मे मौजूद कर्क्यूमिन नामक तत्व हमारे शरीर के इम्यून सिस्टम को बहुत पावरफुल बना देता है। इसलिए अन्य मौसम में तो हल्दी का सेवन करें ही करें, लेकिन बारिश के मौसम में खाने में हल्दी की मात्रा बढ़ा दें।

इसे भी पढ़ें: घर के बने किसी भी खाने में डाल देंगे ये 5 चीजें तो खाना बन जायेगा हेल्दी, दूर रहेंगी कई बीमारियां

कैसे करें सेवन- इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आप रोजाना रात में सोने से 30 मिनट पहले 1 ग्लास गुनगुने दूध में आधा चम्मच हल्दी घोलकर पी सकते हैं। इसके अलावा आप चाहें तो 1 चम्मच देसी घी में एक चौथाई चम्मच हल्दी और 4 चुटकी काली मिर्च डालकर इसका सेवन कर सकते हैं। इन दोनों ही तरीकों से आपकी इम्यूनिटी बढ़ेगी। हल्दी वाला दूध पीने से आपको रात में नींद बहुत अच्छी आएगी और आपका पेट हमेशा स्वस्थ रहेगा।

बादाम खाएं

बादाम सभी नट्स में सबसे हेल्दी माना जाता है। इसका कारण यह है कि बादाम में ढेर सारे पोषक तत्व होते हैं। इनमें भी मैग्नीशियम, राइबोफ्लेविन, जिंक और प्रोटीन आदि प्रमुख हैं। बादाम में विटामिन ई की मात्रा बहुत अच्छी होती है, जो इसे खास बना देती है। ये विटामिन ई आपकी त्वचा और बालों के लिए तो फायदेमंद है ही, साथ ही फेफड़ों को भी स्वस्थ रखने में इसकी बड़ी भूमिका होती है। बादाम में कई एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो वायरस और बैक्टीरिया के कारण होने वाले इंफेक्शन से बचाते हैं। बादाम हेल्दी स्नैक्स माने जाते हैं और इन्हें आप कहीं भी कभी भी खा सकते हैं। बादाम आपकी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए बहुत हेल्दी नट है। ये आपको मौसमी बीमारियों से बचाएगा।

badam for immunity

कैसे करें सेवन- बादाम को आप दिन में या शाम को कभी भी हल्की भूख लगने पर स्नैक्स के रूप में खा सकते हैं। इसके अलावा आप चाहें तो रात में सोते समय बादाम वाला दूध पी सकते हैं। इसके लिए दूध को उबालते समय इसमें बादाम को छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर डालें और फिर पिएं। अगर आप ऐसे नहीं पसंद तो आप बादाम को पीसकर दूध में मिला सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: 70% इम्यूनिटी सेल्स आपकी आंतों में होती हैं, जानें आंतों को स्वस्थ रखने के 5 आसान तरीके ताकि दूर रहे हर बीमारी

yogurt for immunity

योगर्ट खाएं

बारिश में मौसमी बीमारियों के अलावा पेट की समस्याएं सबसे आम हैं। बारिश के मौसम में वायरस और बैक्टीरिया ज्यादा एक्टिव होते हैं, इसलिए फूड पॉयजनिंग होने का खतरा काफी बढ़ जाता है। इसके अलावा इस मौसम में लोग तेल में तली हुई चीजें, चिकन-मटन या गर्म खाना जरूरत से ज्यादा खा जाते हैं, जिससे उनके पाचन पर असर पड़ता है। इसलिए पेट की बीमारियों और समस्याओं को ठीक रखने के लिए आपको योगर्ट का सेवन करना चाहिए। योगर्ट एक प्रोबायोटिक फूड है, इसलिए ये आपके पेट में गुड बैक्टीरिया की संख्या बढ़ाता है। आपके इम्यून सिस्टम को बनाने वाली 70% सेल्स आंतों में ही होती हैं, इसलिए योगर्ट के सेवन से आपकी इम्यूनिटी भी बढ़ती है। फोर्टिफाइड योगर्ट में विटामिन डी अच्छी मात्रा में होता है, इसलिए इसके सेवन से बारिश के मौसम की सामान्य समस्याएं जैसे- बुखार, जुकाम और फ्लू का खतरा भी कम हो जाता है।

कैसे करें सेवन- योगर्ट को खाने के लिए ध्यान दें कि आप हमेशा ग्रीक योगर्ट ही खाएं। फ्लेवर्ड योगर्ट को खाने से कोई लाभ नहीं मिलता है क्योंकि इनमें काफी मात्रा में चीनी और फ्लेवर घोला जाता है। योगर्ट को आप सादा खा सकते हैं। इसके अलावा इसे फ्रूट स्मूदी में डालकर या फ्रूट रायता बनाकर खा सकते हैं।

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer