मकरासन के अभ्यास से शरीर को मिलते हैं ये 8 फायदे, योग एक्सपर्ट से जानें करने का तरीका

मकरासन को क्रोकोडाइल पोज भी कहते हैं। इससे शरीर को नौ लाभ मिलते हैं। आर्टिकल में योग प्रशिक्षक से जानते हैं इसे करने से क्या-क्या फायदे मिलते हैं।

Satish Singh
Written by: Satish SinghUpdated at: Aug 19, 2021 15:50 IST
मकरासन के अभ्यास से शरीर को मिलते हैं ये 8 फायदे, योग एक्सपर्ट से जानें करने का तरीका

आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में ज्यादातर लोग जोड़ों, स्लिप डिस्क और पीठ में दर्द की समस्या से जूझ रहे हैं। ऐसे लोगों के लिए मकरासन योग काफी मददगार होता है। इस आसन को क्रोकोडाइल पोज भी कहा जाता है। इस आसन को करते समय हमारा शरीर मगरमच्छ की तरह दिखता है। मगरमच्छ को संस्कृत में मकर कहते हैं, इसलिए इस योग का नाम मकरासन पड़ा। ऐसा नहीं है कि यह सिर्फ पीठ या रीढ़ की समस्या से हमें राहत पहुंचाता है। जमशेदपुर के योग प्रशिक्षक व टाटा स्टील जेआरडी में बतौर योग ट्रेनर अरविंद ने बताया कि मकरासन के कई फायदें हैं। आइए इस आर्टिकल में हम मकरासन के फायदों के बारे में जानते हैं।

मकरासन शरीर के सभी अंगों को करता है प्रभावित

योग प्रशिक्षक बताते हैं कि मकरासन शरीर के लगभग सभी अंगों को प्रभावित करता है। इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता शरीर की बढ़ती है। इस आसन से सर्दी, जुकाम और खांसी से भी आपको छुटकारा मिल जाता है। बढ़ते मोटापे से परेशान लोग इस आसन को रोज करेंगे तो वजन भी कम हो सकता है। योग प्रशिक्षक ने कहा- अगर आपके पैर, कंधों, कुहनियों, गर्दन में दर्द हो रहा है तो इस आसन को जरूर करें। अनिद्रा में भी यह आसन लाभदायक होता है।  

मकरासन करने की विधि

  • आसन को करने के लिए खुली जगह का चयन कर लें
  • मैट को बिछा कर उसपर पेट के बल लेट जाइए
  • इसके बाद दोनों कुहनियों को जमीन पर रखें 
  • अब बिना कुहनियों को उठाए सिर और कंधों को ऊपर की तरफ ले जाएं
  • हथेलियों का स्टैंड ( कप के आकार) बनाकर इस पर ठुड्डी को रख लें 
  • गहरी सांस लें व गहरी सांस छोड़ें
  • अगर इस क्रम में कमर पर ज्यादा बल पड़ता है तो कोहनियों को हल्का और फैला दें
  • इन सारी चीजों को करने के बाद आप मकरासन की पुजिशन में आ जाएंगे
  • धीरे-धीरे दोनों पैरों को नीचे से ऊपर लेकर जाएं, फिर धीरे-धीरे नीचे से ऊपर लेकर जाएं
  • यह एक चक्र होता है, इस तरह से दस चक्र कर सकते हैं
Makarasana

मकरासन को करने के फायदे

  • दर्द में कमी आती है : इस आसन को करने से पैर, कंधों, कुहनियों, गर्दन में दर्द को आराम मिलता है। इससे घुटने का दर्द भी खत्म होता है। 
  • अस्थमा व हार्ट की बीमारी से राहत : मकरासन करते समय गहरी सांस छोड़ने और लेने से अस्थमा तथा हार्ट संबंधी बीमारी से राहत मिलती है। 
  • अनिद्रा दूर : इस आसन को नियमित तौर पर किया जाए तो अनिद्रा की समस्या से राहत मिलता है। लोगों को अच्छी नींद आती है।
  • दिमाग शांत व एकाग्र होता है : बच्चों के लिए यह आसन ज्यादा फायदेमंद है। मकरासन करने से आपका दिमाग शांत और एकाग्र होता है। बच्चे जिसे पढ़ने में मन नहीं लगता है वे अगर ये आसन करेंगे तो उनके लिए काफी फायदेमंद होगा।  
  • पीठ का दर्द कम : अगर आपके पीठ में दर्द की समस्या है तो इस आसन को जरूर करें। यह रीढ़ की हड्डी को लचीला बनाता है, उसमें तनाव कम करता है। शरीर की मांसपेशियों से जुड़ी समस्याओं से निजात दिलाता है।  स्लिप डिस्क को खत्म करता है। रीढ़ और कंधों की मांसपेशियों में तनाव कम करता है।
  • शरीर की थकान दूर : इस आसन को करने से शरीर की थकान दूर होती है। गर्दन की अकड़न को कम करता है। पेट की मांसपेशियों को टोन करने और कब्ज की समस्या को दूर करने के साथ ही पेट से जुड़ी कई बीमारियों को ठीक करता है।  
  • स्पॉनेडलाइटिस से निजात : एक्सपर्ट बताते हैं कि रोज अगर हम मकरासन सही तरीके से करेंगे तो स्पॉन्डिलाइटिस की बीमारी ठीक हो जाएगी। साइटिका की समस्या से भी राहत मिलेगी। शरीर के छोटे-छोटे विकारों को भी यह आसन दूर करता है।
  • हाईपरटेंशन से छुटकारा : मकरासन से हाइपरटेंशन व मानसिक रोगों से राहत मिलती है। इस रोग बचने के लिए रोज मकरासन करें। 

Makarasana

योग करते समय सावधानी बरतें 

वैसे योग शरीर की तकलीफों को दूर करने के लिए लाभदायक होता है। अगर आपके शरीर में परेशानी या कोई बीमारी हो तो कुछ योगासन के अभ्यास से शरीर की उन बीमारियों से छुटकारा पाया जा सकता है। लेकिन इसके लिए हमें जरूरी सावधानियां भी बरतनी चाहिए। इन सावधानियों को बरतें।

  • हल्ला या शोरगुल वाले जगह पर इस आसन को न करें। आसन को उसी जगह पर करें जहां शांति हो। अगर शांतपूर्ण जगह में इसे नहीं करेंगे तो दिमाग और मन शांत नहीं होगा, दिमाग एकाग्र नहीं होगा तो आसन करने का फायदा नहीं होगा।
  • अगर आपके कमर, पीठ और गर्दन में बहुत ज्यादा दर्द है या इन अंग में चोट लगा है तो मकरासन न करें, नहीं तो आपकी समस्या बढ़ सकती है। अगर स्वास्थ्य संबंधी अन्य समस्या है तो डॉक्टर की सलाह लेकर मकरासन करें व योग प्रशिक्षक से बात कर लें उसके बाद ही आसन करें।
  • अगर आपको मोटापे से ग्रसित हैं और हाई ब्लड प्रेशर है तो मकरासन का अभ्यास नहीं करना चाहिए, इसे करने से आपको नुकसान पहुंच सकता है।
  • मकरासन का अभ्यास करते समय शरीर को घुमाना नहीं चाहिए, शरीर को सीधा रखना चाहिए, नहीं तो शरीर में कई समस्या हो सकती है।
  • मकरासन करते समय शरीर को तनाव नहीं देना चाहिए। शांत दिमाग से इस आसन को करेंगे तभी फायदा होगा।

योगासन को करने के पहले योग प्रशिक्षक से लें ट्रेंनिंग

योगासन को करके आप शरीर को स्वस्थ्य व संतुलित कर सकते हैं। लेकिन इसके पहले जरूरी है कि योग प्रशिक्षक से ट्रेनिंग ले लिया जाए। क्योंकि हर व्यक्ति का शरीर अलग होता है, कई लोगों को बीमारी होती है तो कई निरोग रहते हैं। आप अच्छे से योग करें इसके लिए पहले एक्सपर्ट के निर्देशन में योग करना सही रहता है। ताकि जहां भी आप गलती कर रहे हों योग प्रशिक्षक आपकी गलतियों को सुधारें।

Read More Articles On Yoga

Disclaimer