जानें क्या है ब्रेडफ्रूट और क्यों शोधकर्ता चाहते हैं इसे सुपरफूड की सूची में शामिल करना

अगर आप भी सुपरफूड्स की तलाश कर रहे हैं तो जान लें ब्रेडफ्रूट कैसे है आपके लिए फायदेमंद और शोधकर्ताओं का इसपर क्या है कहना। 

Vishal Singh
स्वस्थ आहारWritten by: Vishal SinghPublished at: Sep 23, 2020
जानें क्या है ब्रेडफ्रूट और क्यों शोधकर्ता चाहते हैं इसे सुपरफूड की सूची में शामिल करना

ऐसे तो कई तरह के सुपरफूड के विकल्प हमारे पास मौजूद हैं, लेकिन आजकल तेजी से चल रहे शोध से नए-नए सुपरफूड के साथ उनके स्वास्थ्य लाभ भी पता चल रहे हैं। इसी कड़ी में ब्रिटिश कोलंबिया विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं की एक नई रिपोर्ट जारी होने के साथ ब्रेडफ्रूट को सुपरफूड का अच्छा विकल्प बताया है। ये तब खाया जा सकता है जब ये पूरी तरह से पका हुआ हो, या इसे सुखाया जा सकता है और एक आटे में मिलाया जाए और कई प्रकार के भोजन में पुनर्निर्मित किया जा सके। लेकिन कई लोगों को शायद न पता हो कि ब्रेडफ्रूट क्या होता है तो अध्ययन के बारे में बताने से पहले हम आपको ब्रेडफ्रूट के बारे में जानकारी देते हैं। 

breadfruits

ब्रेडफ्रूट क्या है?

ब्रेडफ्रूट (Breadfruit) एक बड़ा, स्टार्चयुक्त फल है जो पेड़ों पर बढ़ता है। जब पके होते हैं, तो ये फल 4 से 8 इंच के आसपास होते हैं और ये हरे रंग के बाहरी होते हैं। इसमें आलू के समान एक बनावट है और इसे उबला हुआ, उबला हुआ या बेक किया जा सकता है, हालांकि भारतीय पारंपरिक खाने में इसका इस्तेमाल आग पर पकाने के साथ किया जाता है। कृषि विभाग के हवाई विभाग के अनुसार, 100 ग्राम ब्रेडफ्रूट में 4 ग्राम प्रोटीन और सिर्फ 5 ग्राम फाइबर होता है। यह मैग्नीशियम और पोटेशियम जैसे खास पोषक तत्वों का भी एक अच्छा स्रोत है और मध्यम ग्लाइसेमिक सूचकांक होने के दौरान ल्यूटिन जैसे कैरोटीनॉयड प्रदान करता है।

इसे भी पढ़ें: हेल्दी रहने के लिए ऐसे खाएं ब्रेड और ब्रेड स्प्रेड, मिलेंगे कई चम्तकारिक फायदे

ब्रेडफ्रूट पर क्या कहता है अध्ययन

सुसान मर्च जो  बार्बर फैकल्टी ऑफ साइंस में रसायन विज्ञान के प्रोफेसर हैं, वो बताते हैं कि ब्रेडफ्रूट (Breadfruit) प्रशांत द्वीपों से दुनियाभर में खाद्य सुरक्षा में सुधार करने और मधुमेह को कम करने की क्षमता के साथ एक पारंपरिक फसल है। मर्च कहते हैं कि सदियों से हजारों लोग इस पर अपना जीवन काट रहे हैं और सिर्फ मनुष्य ही नहीं बल्कि जानवर भी इस पर आधारित हैं। इसके लिए शोधकर्ताओं ने हवाई में एक ही पेड़ से चार ब्रेडफ्रूट थे, जिसे यूबीसी ओकेगन में मर्च लैब में भेजा गया। डॉक्टरेट के छात्र यिंग लियू ने ब्रेडफ्रूट-आधारित आहार के पाचन और अन्य स्वास्थ्य प्रभावों की जांच करने वाले अध्ययन का नेतृत्व किया। डॉक्टर लियू कहते हैं कि हम पर्यावरण के अनुकूल और उच्च उत्पादन वाली फसल के रूप में ब्रेडफ्रूड के विकास में योगदान करना चाहते है। 

'पाचन में काफी आसान होते हैं ब्रेडफ्रूट'

ब्रेडफ्रूट को लेकर शोधकर्ताओं ने निर्धारित किया कि एंजाइम पाचन मॉडल में ब्रेडफ्रूट प्रोटीन को गेहूं के प्रोटीन की तुलना में पचाने में कााफी आसान होता है। लियू अध्ययन को लेकर बताते हैं कि हमारे अध्ययन में ब्रेडफ्रू़ट (Breadfruit) आहार किसी भी विषाक्त प्रभाव को लागू नहीं करता है। ब्रेडफ्रूट पाचन और आहार के स्वास्थ्य प्रभाव की समझ होना बहुत जरूरी है और भविष्य में सुपरफूड के तौर पर ब्रेडफ्रूट की स्थापना जरूरी है। 

इसे भी पढ़ें: ब्रेड खाना करते हैं पसदं तो ब्रेकफास्‍ट में शामिल करें ये 5 सुपर हेल्‍दी- ग्‍लूटन फ्री ब्रेड

'पोषण से है संतुलित आहार'

लियू कहते हैं कि इस अध्ययन को देखते हुए ब्रेडफ्रूट एक स्वस्थ, पोषण से संतुलित आहार के हिस्से के रूप में इस्तेमाल का समर्थन करता हैं। ब्रेडफ्रूट से निर्मित आटा एक लस मुक्त, कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स, पोषक तत्व-घने और आधुनिक खाद्य पदार्थों के लिए पूर्ण प्रोटीन विकल्प है। जिसे आप एक सुपरफूड के तौर पर अपना सकते है। अगर आप भी अपने भोजन में इस सुपरफूड्स को शामिल करने के बारे में सोच रहे हैं, लेकिन आपके सामने सवाल है कि इसे कैसे शुरू करें? तो आप ग्रीन्स पाउडर की ओर देख सकते हैं जो सुपरफूड का एक बड़ा स्रोत है जिसे आप आसानी से अपनी रूटीन में शामिल कर सकते हैं।

Read More Article On Healthy Diet In Hindi 

Disclaimer