शरीर के पुराने से पुराने रोग का खुलासा करेगी 'लैब ऑन ए चिप' तकनीक

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 29, 2018
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • अन्वेषकों ने एक नई तकनीक 'लैब ऑन ए चिप' विकसित की है।
  • बीयर का सेवन करने से दिमाग की मांसपेशियों क्षति पहुंचना से रक्षा होती है।
  • यह तकनीक कैंसर और स्वप्रतिरोधी तंत्र में गड़बड़ी के इलाज की नई राह खोल देती हैं।

अन्वेषकों ने एक नई तकनीक 'लैब ऑन ए चिप' विकसित की है, जो खुलासा करती है कि मानव कोशिकाएं कैसे आपस में संपर्क करती हैं। यह तकनीक कैंसर और स्वप्रतिरोधी तंत्र में गड़बड़ी के इलाज की नई राह खोल देती हैं। शोधकर्ताओं ने एक सूक्ष्म संवेदनशील ओप्टोफ्लूडिक बायोसेंसर बनाया है जो वैज्ञानिकों को एकल कोशिकाओं को अलग करने, कम से कम 12 घंटों तक वास्तविक समय में उनका विश्लेषण करने और उनके व्यवहार का निरीक्षण करने की सुविधा देता है।

ऑस्ट्रेलिया में मेलबर्न स्थित आरएमआईटी विश्वविद्यालय के प्रोफेसर अर्नान मिशेल ने कहा कि एकल कोशिका का विश्लेषण करने से बीमारियों के नए इलाज की प्रबल संभावना है, लेकिन प्रभावशाली विश्लेषण तकनीकों की कमी के कारण अनुसंधान प्रगति नहीं कर पा रहा था। उन्होंने कहा कि नया बायोसेंसर एक ऐसा शक्तिशाली उपकरण है जो हमें कोशिका के संचार और व्यवहार की व्यापक जानकारी देता है। इससे बीमारियों के उपचार के नए तरीके विकसित किए जा सकेंगे। उन्होंने कहा, अगर हम कोशिकाओं के व्यवहार की स्पष्ट रूपरेखा देखते हैं तो इससे हमें अच्छी कोशिकाओं को खराब कोशिकाओं से अलग करने में मदद मिलेगी।

इसे भी पढ़ें : स्‍मोकिंग करने से सिर्फ फेफड़े ही नहीं, मांसपेशियों भी होती हैं प्रभावित

कोशिकाओं के लिए ये है फायदेमंद

सीमित मात्रा में बीयर का सेवन करने से दिमाग की मांसपेशियों क्षति पहुंचना से रक्षा होती है। बिहेवियर ब्रेन रिसर्च जर्नल में प्रकाशित शोध की मानें को बीयर में मौजूद फ्लेवनॉयड्स दिमाग की सेहत के लिए फायदेमंद हो सकता है। इसके अलावा भी कुछ शोध सीमित मात्रा में बीयर पीने के कुछ अन्य फायदे बता चुकी हैं। तो चलिये विस्तार से जानें कि दरअसल सिमित मात्रा में बीयर पीने से क्या लाभ होते हैं। शोधकर्ताओं के मुताबिक बीयर में पाया जाने वाला जैंथोह्यूमोल नामक तत्व याददाश्त को बेहतर और दिमाग को सजग रखने में सहायक होता है।

इसे भी पढ़ें : थायरॉइड से ब्रेन डैमेज का खतरा, इन 7 तरीकों से बरतें सावधानी

बीयर का संतुलित मात्रा में सेवन करने से एल्जाइमर और डिमेंशिया जैसे मानसिक रोगों का खतरा भी कम हो जाता है। 2005 में हुए एक शोध में 11,000 बूढ़ी महिलाओं का अध्ययन किया गया, जिसके परिणामों से आधार पर उन्होंने इस तथ्य का खुलासा किया।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles on Health News in Hindi

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES254 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर