कई कारणों से होता है बालों के स्कैल्प पर पिंपल्स, जानें 'स्कैल्प एक्ने' के कारण और बचाव के उपाय

एडवांस इन डर्मेटोलॉजी एंड एलर्जोलॉजी में प्रकाशित एक अध्ययन बताता है कि अधिक शुगर और कार्बोहाइड्रेट वाले आहार सिर के मुंहासों का खतरा बढ़ा सकते हैं।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Jan 20, 2020
कई कारणों से होता है बालों के स्कैल्प पर पिंपल्स, जानें 'स्कैल्प एक्ने' के कारण और बचाव के उपाय

बालों में खुजली और खुश्की अक्सर डेंड्रफ के कारण होता है। वहीं बहुत से लोग अपने स्केल्प पर छोटे-छोटे दाने महसूस करते हैं, जो कई बार बहुत गंभीर रूप ले सकते हैं। सिर के स्केल्प पर पिंपल्स कई कारणों से होते हैं। यह आमतौर पर बालों के छिद्रों की सूजन, प्रदूषण, बैक्टीरिया या फंगल संक्रमण के कारण होता है। कई लोग इसे स्कैल्प डर्माटाइटिस समझते हैं, जो स्कैल्प पर अति सक्रिय सीबम के कारण होता है या अल्सर, जो केराटिन (बालों के प्रोटीन) से भरे होते हैं और अपेक्षाकृत हानिरहित होते हैं। जबकि मेडिकल टर्म को समझें, तो इसे स्केल्प एक्ने (Scalp Acne) कहा जाता है, जो कई कारणों से होता है। आइए जानते हैं इसके बारे में।

Inside_hairfall

स्कैल्प एक्ने (Scalp Acne)

स्कैल्प एक्ने सिर के छोटे पिंपल्स या ज़िट्स की तरह दिखते हैं, जिनमें सिर का पिछला भाग भी शामिल होता है। इन फुंसियों में खुजली और खराश हो सकती है। जैसे पिंपल्स कहीं और होते हैं, स्कैल्प पर मुंहासे तब होते हैं, जब कोई रोम छिद्र या हेयर फॉलिकल डेड स्किन सेल्स या सीबम से चिपक जाता है, जो कि त्वचा को मॉइश्चराइज रखने के लिए स्किन का नेचुरल ऑयल है। बैक्टीरिया और खमीर भी छिद्रों में जा सकते हैं और एक प्रतिक्रिया का कारण बन सकते हैं।

स्कैल्प एक्ने के कारण

  • मृत त्वचा कोशिकाएं या तेल रोम छिद्रों को बंद कर देते हैं
  • उत्पादों का निर्माण, जैसे हेयर जैल, लीव-इन ट्रीटमेंट या हेयरस्प्रे
  • बालों को अच्छी तरह से न धोना
  • बालों को धोने के लिए वर्कआउट के बाद बहुत देर तक पसीने को रहने देना
  • सिर ढंकते समय पसीना आना, खासकर अगर यह घर्षण का कारण बनता है

इसे भी पढ़ें: रूसी, झड़ते और सफेद बालों जैसी इन 5 समस्याओं का बेहतरीन इलाज है जिनसेंग टी, जानें फायदे

वहीं विशिष्ट रोगाणु, जो गंभीर स्केल्प एक्ने पैदा कर सकते हैं उनमें शामिल हैं:

  • फंगल इंफेक्शन
  • स्टैफिलोकोकस एपिडर्मिडिड
  • स्टेफिलोकोकस ऑरियस
  • डेमोडेक्स फॉलिकुलोरम

स्कैल्प एक्ने के आम कारण

डैंड्रफ का होना

ज्यादातर लोग स्कैल्प के मुंहासों को डैंड्रफ से भी जोड़ते हैं। इसके कारण यह है कि डैंड्रफ वाले लोगों में ओवरएक्टिव ऑयल ग्लैंड्स होते हैं, जो अधिक सीबम प्रोडक्ट करते हैं, जिससे मुंहासे होने की संभावना बढ़ जाती है।

आपकी जीवनशैली को ठीक करने की जरूरत है

चेहरे के मुंहासों की तरह ही, तनाव, हार्मोनल असंतुलन और अस्वास्थ्यकर आहार के कारण भी खोपड़ी के मुंहासे बढ़ा सकते हैं। इसे रोकने और इसका इलाज करने के लिए, सुनिश्चित करें कि आप इन सभी मापदंडों को नियंत्रण में रखते हैं। 

आप गलत बाल उत्पादों का उपयोग कर रहे हैं

भारी पोमेड जैसे तेल-आधारित उत्पाद छिद्रों और तेल ग्रंथियों को रोक सकते हैं, जिससे सिर में एक्ने का का मामला बढ़ सकता है। अगर आप अपनी खोपड़ी पर पिंपल्स को नोटिस करते हैं, तो आप हल्के शैंपू और स्टाइलिंग उत्पादों का उपयोग कर सकते हैं।

आपके बाल ऑयली हैं

तेल ग्रंथियों से सीबम के अतिप्रवाह के कारण तेलीय बालों वाले लोगों को खोपड़ी के मुँहासे होने का खतरा अधिक होता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि सीबम बैक्टीरिया के लिए विकास की सुविधा भी देता है, जो खोपड़ी के दाने का कारण बनता है। जबकि खोपड़ी मुंहासे आमतौर पर अपने आप ही चली जाती है अगर आप अपनी जीवन शैली को ठीक करते हैं तो इस पर काबू पाया जा सकता है।यह संक्रमण या बैक्टीरिया बालों के रोम में गहराई से फैलने का कारण बन सकता है, जिससे त्वचा पर निशान पड़ सकते हैं और बाल भी झड़ सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें : बालों का झड़ना तेजी से बढ़ा रही हैं ये 4 चीजें, रोकें नहीं तो लोग बुलाने लगेंगे 'बाला' और 'उजड़ा चमन'

स्केल्प एक्ने से बचने के उपाय

पपड़ीदार छिद्रों से बचने में स्कैल्प की स्वच्छता एक आवश्यक भूमिका निभाती है। वहीं जब भी आुके बाल ज्यादा ऑयली हो जाए उनमें पसीने हो तो उन्हें तुरंत साफ करें। वहीं इसके साथ ही आप कुछ चीजों का और भी ख्याल रख सकते हैं। जैसे-

  • खोपड़ी को सांस लेने देने के लिए ढीले-ढाले हेडगियर पहने
  • व्यायाम के तुरंत बाद बाल धोना
  • प्राकृतिक, हाइपोएलर्जेनिक हेयर केयर उत्पादों पर स्विच करना। 
  • कई हेयर प्रोडक्ट्स, जैसे हेयरस्प्रे और जैल का इस्तेमाल करने से बचें।
  • त्वचा को स्वस्थ रखने के लिए पर्याप्त विटामिन ए, डी, और ई प्राप्त करना। 
  • मल्टीविटामिन की सही खुराक लें।
  • अपनी डाइट को सही करें।

कुछ लोगों के लिए, बालों को ज्यादा धोने से खोपड़ी पर मुंहासे हो सकते हैं। अन्य लोगों के लिए, बालों को धोना भी अक्सर सुरक्षात्मक सीबम की त्वचा को छीन सकता है, जिससे अन्य दूषित पदार्थों के होने का खतरा बढ़ सकता है। ऐसे में किसी त्वचा विशेषज्ञ से बात करें, ताकि बालों की बेहतर देखभाल के बारे में पता लगाया जा सके।

Read more articles on Hair-Care in Hindi

Disclaimer