इन 6 पोषक तत्वों की कमी के कारण जल्दी झड़ सकते हैं आपके बाल, एक्सपर्ट से जानें कारण

बालों के झड़ने की समस्या से आज के समय में हर कोई परेशान हैं। ये समस्या शरीर में पोषक तत्वों की कमी के कारण भी हो सकती है। 

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Oct 06, 2021
इन 6 पोषक तत्वों की कमी के कारण जल्दी झड़ सकते हैं आपके बाल, एक्सपर्ट से जानें कारण

आज के समय में हर कोई बालों की कई समस्याओं से परेशान है। खराब वातावरण हो या बालों की ठीक से ना सफाई करना, एंड्रोजेनेटिक एलोपेसिया (androgenic alopecia) हो या दोमुंहे बालों की समस्या, बाल झड़ने के पीछे कोई भी कारण हो सकता है। लेकिन इसके पीछे एक कारण है शरीर में पोषण तत्वों की कमी। जी हां, जब शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है तो व्यक्ति के बाल गिरने शुरू हो जाते हैं। ऐसे में व्यक्ति को पता होना चाहिए कि बालों के गिरने के पीछे कौन से पोषक तत्व जिम्मेदार होते हैं। आज का हमारा लेख इसी विषय पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि बाल किन पोषक तत्वों की कमी के कारण झड़ सकते हैं। साथ ही कारण और इन पोषक तत्वों की कमी को कैसे पूरा करें इसके बारे में भी जानेंगे। इसके लिए हमने न्यूट्रिशनिस्ट और वैलनेस एक्सपर्ट वरुण कत्याल ( Nutritionist and wellness expert varun katyal) और श्री राम सिंह हॉस्पिटल एंड हार्ट इंस्टीट्यूट नई दिल्ली के कंसल्टेंट डर्मेटोलॉजिस्ट और डायरेक्टर ऑफ स्किन लेजर सेंटर नोएडा डॉक्टर टी.ए राणा (Consultant Dermatologist Dr. T.A.Rana) से इनपुट्स मांगे हैं। पढ़ते हैं आगे...

1 - प्रोटीन की कमी

बालों के लिए प्रोटीन भी बेहद जरूरी है। ऐसे में यदि शरीर में प्रोटीन की कमी हो जाए तो ना केवल बाल टूटना शुरू हो जाते हैं बल्कि बाल झड़ने  भी शुरू हो जाते हैं। ऐसे में बालों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए प्रोटीन जरूरी पोषक तत्वों में से एक है। काजू, बादाम, सोयाबीन, दूध, पनीर, मूंगफली, अंडा, मछली, चिकन, मीट, दाल आदि के अंदर भरपूर मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है। ऐसे में इन चीजों को अपनी डाइट में जोड़ा जा सकता है। लेकिन बता दें कि शरीर के लिए अधिक मात्रा में प्रोटीन का सेवन नुकसानदेह हो सकता है। ऐसे में इसका सेवन सीमित मात्रा में करें। 

इसे भी पढ़ें- सिस्टीन हेयर ट्रीटमेंट क्या है? जानें इससे बालों को होने वाले फायदे और नुकसान

2 - आयरन की कमी

महिलाओं में मेनोपॉज से पहले तक बाल झड़ने का मुख्य कारण आयरन की कमी को ना जाता है। आयरन हीमोग्लोबिन के उत्पादन में मददगार है, जो बालों के रोम तक ऑक्सीजन और जरूरी पोषक तत्व पहुंचाने में मदद करता है। जब शरीर में आयरन की कमी हो जाती है तो इससे न केवल बालों की ग्रोथ रुक सकती है बल्कि बाल पतले भी नजर आ सकते हैं। अब सवाल ये है कि शरीर में आयरन की कमी कब होती हैं? तो बता दें कि शरीर में आयरन की कमी तब होती है जब व्यक्ति आयरन युक्त खाद्य पदार्थ, सीफूड आदि का सेवन सही मात्रा में नहीं कर पाता हैं। इसके अलावा कुछ मेडिकल कंडीशन भी है जैसे अल्सर के दौरान ब्लड लॉस होना, कोलन कैंसर आदि, इन समस्याओं के कराण भी आयरन की कमी हो सकती है। चिकन, अंडा, दाल, राजमा, छोले, बादाम, कद्दू के बीज आदि के सेवन से आयरन की कमी को पूरा किया जा सकता है।

3 - फैटी एसिड की कमी

फैटी एसिड स्वस्थ बालों को स्वस्थ बनान में मदद कर सकता है। फैटी एसिड में ओमेगा -3 एस शामिल होते हैं, जो पॉलीअनसेचुरेटेड (polyunsaturated) होते हैं। फैटी एसिड का सेवन बालों के विकास को बढ़ावा देने, उन्हें चमकदार बनाने और जड़ों के रूखेपन को दूर करने में मदद कर सकता है। ऐसे में यदि शरीर में फैटी एसिड की कमी हो जाए तो इससे बाल झड़ने की समस्या हो सकती है। बता दें कि सोयाबीन, अखरोट, चिया सिड्स, फलैक्स सीड्स आदि के अंदर फैटी एसिड मौजूद होता है। ऐसे में

इसे भी पढ़ें- सफेद बालों को काला करने के लिए इन 2 तरीकों से एलोवेरा का करें इस्तेमाल, मिलेंगे कई अन्य फायदे

4 - विटामिन डी की कमी

वयक्ति के बॉडी में विटामिन डी की कमी बाल झड़ने की समस्या का सामना करा सकती है। ध्यान दें कि बालों के रोम के विकास में विटामिन डी (Vitamin d) महत्वपूर्ण पोषक तत्वों में से एक। जैसा कि हम सब जानते हैं कि बालों के रोम बेहद छोटे छिद्र के सामान दिखाई देते हैं। इन छोटे छिद्रों से नए बाल निकलना शुरू होते हैं। ऐसे में इन नए रोमों की मदद से बाल मोटा होते हैं और इनका पतला होना बच जाता है। यही कारण होता है विटामिन डी बालों को झड़ने से रोकता है। लेकिन जब शरीर में विटामिन डी का स्तर कम होने लगता है तो नए रोम का विकास नहीं हो पाता और बाल गिरने शुरू हो जाते हैं। बता दें कि एलोपेसिया एरेटा (ऑटोइम्यून स्थिति, जिसमें बाल अचानक से झड़ते हैं Alopecia areata) से ग्रस्त लोगों के शरीर में विटामिन डी की देखी जाती है। 

5 - जिंक की कमी 

जब शरीर में जिंक की कमी हो जाती है तो इसके कारण बाल झड़ना शुरू हो सकते हैं। बता दें कि हेयर टिश्यूज का विकास और उनकी मरम्मत के लिए जिंक महत्वपूर्ण पोषक तत्वों में से एक है। यह रोम के आसपास मौजूद तेल ग्रंथियों को ठीक से काम करने के लिए प्रेरित करता है। वहीं अगर जिंक की शरीर में कमी हो जाए तो इसके कारण हेयर टिश्यूज के काम में कमी भी आ सकती है। जिंक को अपनी डाइट का हिस्सा बनाने के लिए गेहूं के बीज, रेड मीट, वाइल्ड राइस, कद्दू के बीज, पालक, दालें आदि को जोड़ सकते हैं। शाकाहारी लोग बादाम, काजू, मटर आदि को अपनी डाइट का हिस्सा बनाए।

6 - सेलेनियम की कमी

वैसे तो शरीर में सेलेनियम की कमी की समस्या कम देखने को मिलती है। लेकिन जब भी ये समस्या होती है तो थायराइड के कार्य को प्रभावित कर सकती है, जिससे शरीर में हाइपोथायरायडिज्म की समस्या और बालों के झड़ने की समस्या पैदा हो सकती है।

नोट - ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि बालों के झडने के पीछे कुछ महत्वपूर्ण पोषण तत्वों की कमी जिम्मेदार होती है। ऐसे में ऊपर बताए गए पोषण तत्वों को अपनी डाइट में जरूर जोड़ें। लेकिन इनका सेवन ज्यादा मात्रा में करने से भी और समस्याएं हो सकती हैं ऐसे में इनकी सीमित मात्रा का ज्ञान एक्पर्ट से जरूर लें। यदि गर्भावस्था के दौरान बाल झड़ रहे हैं तो अपनी डाइट में बदलाव करने से पहले एक बार एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें। इससे अलग यदि बाल इन विटामिंस की पूर्ति के कारण भी झड़ रहे हैं तो एक्सपर्ट से संपर्क जरूर करें।

इस लेख में फोटोज़ Freepik से ली गई हैं।

Disclaimer