1 कप ग्रीन या फिर जैसमीन टी शरीर की चर्बी समेत कई रोगों को दूर करने में है फायदेमंद, जानें पीने का सही वक्त

अक्सर हम सुबह उठते हैं ग्रीन टी या फिर कॉफी पीने लगते हैं जबकि ऐसा नहीं करना चाहिए। इस लेख में जानें ग्रीन, जैसमीन टी पीने का सही वक्त। 

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaPublished at: Dec 23, 2019
1 कप ग्रीन या फिर जैसमीन टी शरीर की चर्बी समेत कई रोगों को दूर करने में है फायदेमंद, जानें पीने का सही वक्त

भारत में चाय सबसे ज्यादा पी जाने वाली एक पेय पदार्थ है और हो भी क्यों न गांव हो या शहर, अमीर हो या गरीब सुबह उठकर अपने दिन की शुरुआत चाय के साथ करना लोगों को बहुत पसंद है। हालांकि ऐसा नहीं है कि कॉफी किसी मामले में पीछे हो लेकिन चाय अभी भी लोगों की पहली पसंद है। कई अध्ययनों में हालांकि इस बात को दर्शाया गया है कि अगर आप सुबह चाय पीने के बाद बिस्तर छोड़ते हैं तो आपको इसके संपूर्ण स्वास्थ्य पर होने वाले हानिकारक प्रभावों के बारे में पता होना चाहिए।

tea

अपनी चाय या कॉफी को बदलें

कुछ लोग खाना खाने से पहले ब्लैक कॉफी पीते हैं हालांकि ये उन लोगों के लिए बिल्कुल फिट है, जो वजन घटाने के लक्ष्य का पीछा कर रहे हैं या वजन कम करने की कोशिश में लगे हुए हैं। लेकिन बदलते वक्त में हमें कॉफी और चाय पर अपनी निर्भरता में कमी लाने का संकल्प लेना चाहिए और इन्हें कम से कम एक कप ग्रीन टी या जैसमीन टी या फिर अपनी पसंद कि अन्य किसी प्रकार की नेचुरल हर्बल टी का प्रयोग करना चाहिए।

Buy Online: Lipton Loose Green Tea, 250g  & MRP.225.00/- only. 

टीबैग के बजाए पत्तियां चुनें

अगर आप अपनी पसंदीदा ग्रीन टी को लेकर असमंजस में की स्थिति में हैं तो सबसे पहला काम आपके लिए हैं ग्रीन टी के शैसे के बजाए ग्रीन टी की पत्तियों का चुनाव करें। बाजार में ग्रीन टी के कई रूप मौजूद हैं और वास्तव में इसकी पत्तियां आपको टी बैग से ज्यादा स्वाद देने में मदद करती हैं।

इसे भी पढ़ेंः क्‍या ग्रीन टी मेटाबॉलिज्‍म को बढ़ा सकती है? जानें मेटाबॉलिज्‍म से जुड़े 4 मिथ

इन चाय के फायदे

ये कहना गलत नहीं होगा कि इन चाय में पाए जाने वाले तत्व हमारे इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाने, संक्रमण से लड़ने और कई बीमारियों के जोखिम को कम करने में मदद करते हैं। इतना ही नहीं ये एंटी-ऑक्सीडेंट के भी अच्छे स्त्रोत होते हैं।                                                                                                           

tea  

कई रोगों के खतरे को करती है कम

ग्रीन टी में पाया जाने वाले एक अहम एंटी-ऑक्सीडेंट कैटेचिन ह्रदय रोगों, डिजेनेरेटिव रोगों के जोखिम को कम करने में काफी फायदेमंद साबित हो चुका है। इतनी ही नहीं ये किडनी या फिर लिवर फंक्शन में भी सहायता करता है।

इसे भी पढ़ेंः ग्रीन टी बैग के दोबारा इस्‍तेमाल से ठीक हो जाते हैं चेहरे के मुंहासे और दाग-धब्‍बे, जानें प्रयोग का तरीका

कई गुणों से संपन्न ये टी

जैसमीन टी और ग्रीन टी दोनों में ही एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो आपके बॉउल सिस्टम को नियंत्रित करने में मदद करते हैं। जैसमीन टी के बारे में कहा जाता है कि ये डायबिटीज के जोखिम को कम करने में मदद करता है।

जानें पीने का सही वक्त

ग्रीन टी पीने का सही वक्त दोपहर या फिर शाम है। इसलिए खाना खाने के वक्त अगर आपको कॉफी पीने की तलब लगे तो आप कॉफी के बजाए ग्रीन टी या जैसमीन टी तैयार करें और पीएं। बाजार में ऐसे बहुत से शानदार कप हैं, जिनकी मदद से आप अपनी चाय बना सकते हैं फिर चाहे आप अपने घर से बाहर ही क्यों न हों।

मनमाफिक स्वाद के हिसाब से लाएं टी

अगर आपने ग्रीन टी या जैसमीन टी की अच्छाईयों से दूरी बनाई हुई है क्योंकि आपको इसका स्वाद पसंद नहीं तो आप अपने स्वाद के मुताबिक पत्तियों का चुनाव कर सकते हैं। करीब तीन से चार दिन तक इस टी का सेवन करें और आपको अपने शरीर पर खुद-ब खुद असर दिखाई देने लगेगा।

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer