घुटने के दर्द को कम करने के लिए एक्सरसाइज करना है जरूरी, जानें एक्सरसाइज का तरीका और फायदे

मांसपेशियों के मजबूत होने से आपके घुटने पर प्रभाव और तनाव कम हो सकता है, इसलिए जरूरी है कि आप घुटने के दर्द में भी एक्सरसाइज जरूर करें।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Apr 12, 2020Updated at: Apr 12, 2020
घुटने के दर्द को कम करने के लिए एक्सरसाइज करना है जरूरी, जानें एक्सरसाइज का तरीका और फायदे

घुटने का दर्द सभी उम्र के लोगों को प्रभावित करने वाली एक आम शिकायत है। घुटने का दर्द विभिन्न कारणों से हो सकता है। वहीं जल्द से जल्द घुटने के दर्द के कारण की पहचान करने से व्यक्ति को उपचार की तलाश और लक्षणों से राहत मिल सकती है। एक पुराना घुटने का दर्द एक चोट, ज्वाइंट्स में गैप आजाने के कारण या पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस के परिणामस्वरूप भी हो सकती है। वहीं घुटने के इस दर्द और परेशानी के कारण लोगों व्यायाम या सक्रिय शारीरिक गतिविधियों से दूर हो जाते हैं। वहीं इस तरह ये स्थिति वक्त बढ़ने के साथ-साथ खराब होती जाती है। लंबे समय तक इस दर्द का होना व्यक्ति की गतिशीलता पर विरार्म लगा सकता है। वहीं विशेषज्ञों की मानें, तो ज्वाइंट्स क सक्रिय रखने से घुटने के दर्द को कम किया जा सकता है और यहां तक कि इसमें कुछ राहत भी मिल सकती है। यह सलाह तब भी लागू होती है, जब आपको गठिया से घुटने में दर्द हो।

insideghutenkadrd

आप घुटने के दर्द के साथ कैसे व्यायाम कर सकते हैं?

जब आप दर्द के डर के कारण शारीरिक गतिविधियां बंद कर देते हैं, तो आपे ज्वाइंट्स और कमजोर हो सकते हैं। वहीं वक्त के साथ ज्वाइंट्स के बीच का गैप बढ़ता जाएगा और आपका दर्द बढ़ सकता है। उचित तरीके से व्यायाम करने से घुटने की सुरक्षा हो सकती है और इसे बेहतर स्वास्थ्य स्थिति में रखा जा सकता है। आइए जानते हैं घुटने के दर्द के साथ सक्रिय रहने के तरीकों के बारे में।

बढ़ाएं अपना हेल्थ ज्ञान, खेलें ये क्विज :Loading...

इसे भी पढ़ें : जानें अर्थराइटिस और जोड़ों के दर्द के लिए कैसे बनायें हॉट पेपर क्रीम

व्यायाम और घुटने का दर्द

अगर आपके घुटने में दर्द किसी चोट, सर्जरी, या गठिया के कारण होता है, तो सौम्य स्ट्रेचिंग और मजबूत बनाने वाले व्यायाम आपके लचीलेपन और गति की सीमा में सुधार करते हुए दर्द को कम करने में मदद कर सकते हैं। एक घुटने का व्यायाम करना भले ही आपको मुश्किल लगे, लेकिन वास्तव में ये व्यायाम आपके घुटने के लिए बेहतर हैं। वहीं दर्द के कारण अपने घुटने को नहीं हिलाने से यह कठोर हो सकता है, और इससे दर्द और बिगड़ सकता है और आपकी दैनिक गतिविधियों के बारे में जाना कठिन हो जाता है।स्ट्रेचिंग और व्यायाम से मांसपेशियों को मजबूत किया जा सकता है जो आपके घुटने के जोड़ का समर्थन करता है। मांसपेशियों के मजबूत होने से आपके घुटने पर प्रभाव और तनाव कम हो सकता है, और आपके घुटने के जोड़ को अधिक आसानी से स्थानांतरित करने में मदद मिल सकती है।

insidechairexercises

इसे भी पढ़ें : कमर दर्द के लिए वरदान हैं ये 5 सीक्रेट्स, हाथों-हाथ करते हैं असर

  • -कोई भी व्यायाम शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर से बात करें। आपका स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता आपको बता सकता है कि आपकी स्थिति के लिए क्या उपयुक्त है।
  • -आप कम घुटने के प्रभाव वाले व्यायाम जैसे पैदल चलना, तैराकी, साइकिल चलाना या अण्डाकार रूप से पैरों को चलाने की कोशिश कर सकते हैं।
  • -योग और ताई ची जैसी गतिविधियां आपके लचीलेपन और संतुलन को बेहतर बनाने में मदद कर सकती हैं।
  • - आप कार्डियो और स्ट्रेंथ ट्रेनिंग की भी कोशिश कर सकते हैं। 
  • -अगर आप व्यायाम के बाद सूजन या दर्द का अनुभव करते हैं। इसे करना बंद करें और अपने डॉक्टर से संपर्क करें।
  • -अपने आहार को समायोजित करने के लिए एक चिकित्सक या ट्रेनर की मदद लें।
  • - उन गतिविधियों को चुनें, जो आपके ज्वाइंट्स के लिए फायदेमंद हो। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आपको दर्द को पूरी तरह से नजरअंदाज कर देना चाहिए।  
  • -एक कसरत के बाद एक हल्के मांसपेशियों हल्के हाथों से मालिश दें और कुछ देर आराम करें।

Read more articles on Other-Diseases in Hindi

Disclaimer