आंखों के संक्रमित होने पर इन 6 बातों का रखें ध्यान, मिलेगा जल्दी आराम

आंखों के रोग होने को हम काफी हद तक खुद भी रोक सकते हैं। यदि हम सुबह-शाम आंखों को साफ पानी से धोएं, हेल्दी डाइट लें और नियमित योग व एक्सरसाइज करें तो हम आंखों के काफी रोगों से बच सकते हैं। इससे आंखें न सिर्फ अस्थायी बल्कि आजीवन स्वस्थ रहती हैं। अक्

Rashmi Upadhyay
आंखों के विकारWritten by: Rashmi UpadhyayPublished at: Feb 07, 2019Updated at: Mar 07, 2019
आंखों के संक्रमित होने पर इन 6 बातों का रखें ध्यान, मिलेगा जल्दी आराम

शरीर में पानी की कमी, अनियमित और दूषित खानपान, तनाव भरा जीवन और प्रदूषण भरे माहौल में ज्यादा वक्त बिताना आंखों में तरह तरह के रोग होने के कारण बनते हैं। इसके अलावा जो लोग हद से ज्यादा फोन, कम्प्यूटर, टीवी और टैबलेट के आगे वक्त बिताते हैं उन्हें आंखों से संबंधित अधिक बीमारियां होने का ज्यादा खतरा रहता है। इसके अलावा बदलता मौसम भी आंखों से संबंधित कई रोग लेकर आता है। आजकल लोगों का जिस तरह से लाइफस्टाइल हो गया है, उसमें आंखों का कमजोर होना और चश्मा लगना भी लाजमी है। इन कारणों से आपकी आंखों की रोशनी कमजोर हो जाती है और आपकी आंखों पर चश्मा चढ़ जाता है।

आंखों के रोग होने को हम काफी हद तक खुद भी रोक सकते हैं। यदि हम सुबह-शाम आंखों को साफ पानी से धोएं, हेल्दी डाइट लें और नियमित योग व एक्सरसाइज करें तो हम आंखों के काफी रोगों से बच सकते हैं। इससे आंखें न सिर्फ अस्थायी बल्कि आजीवन स्वस्थ रहती हैं। अक्सर जब मौसम में बदलाव आता है तो आंखों में जलन, आंखों का लाल होना, आंखों में ड्राईनेस और आंखों से पानी आना जैसे लक्षण देखे जाते हैं। इसके लिए कुछ लोग मनमुताबिक आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल करते हैं। जबकि ऐसा करने से पहले एक बार किसी डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए। क्योंकि आंखें हमारे शरीर का बहुत नाजुक अंग होता है, ऐसे में जरा सी लापरवाही आंखों के लिए नुकसानदायक साबित हो सकती है।

इसे भी पढ़ें : सामान्‍य रोग नहीं है कंजक्टिवाइटिस, जानें इसके कारण और उपचार

आंखों के संक्रमण से बचाता है सलाइवा

आयुर्वेदिक एक्‍सपर्ट अबरार मुल्‍तानी का कहना है कि हमारा सलाइवा यानि कि बासी थूक आंखों के संक्रमण से बचाता है। कन्जंक्टिवाइटिस आंखों से संबंधित एक ऐसा संक्रमण है जिसके होने पर आंखें लाल हो जाती हैं और आंखों से पानी निकलता है। डॉक्टर का कहना है कि संक्रमण होने पर यदि आंखों पर बासी थूक लगाया जाए तो काफी असर होता है। साथ ही डॉक्टर ने यह भी कहा है कि यह आप उसी स्थिति में कर सकते हैं जब आपने रात को सोने से पहले मुंह की अच्छी तरह सफाई की है। ऐसा न होने पर बासी थूक में मौजूद बैक्टिरिया और अन्य तत्व आंखों को फायदे की जगह नुकसान पहुंचा सकते हैं।

इन टिप्स को भी पढ़ें 

  • जब आपको आंखों से संबंधित कोई भी रोग हो तो आंखों को न छूएं।
  • अगर छूना भी पड़े तो हाथों को अच्छी तरह धोकर ही आंख को छूएं।
  • किसी अन्य व्यक्ति का तौलिया इस्तेमाल न करें न ही आना तौलिया किस को दें।
  • कंजक्टीवाइटिस ग्रस्त व्यक्ति द्वारा प्रयुक्त कोई भी वस्तु न छूएं।
  • हाथों को दिन में कई बार साबुन से धोएं।
  • अपनी मर्जी से बिल्कुल भी दवा न लें। आंखों से संबंधित कोई भी ड्राप या दवा डालने से पहले डॉक्टर से जरूर संपर्क करें।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Other Diseases In Hindi

Disclaimer