डायबिटीज रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद है कलौंजी का तेल, इंसुलिन को बेहतर बनाकर ब्लड शुगर करे कंट्रोल

डायबिटीज रोगियों के लिए कलौंजी का तेल किसी वरदान से कम नहीं है। जानें कैसे फायदेमंद है ये तेल और कैसे कर सकते हैं डायबिटीज रोगी इसका इस्तेमाल।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavUpdated at: Jun 26, 2020 12:43 IST
डायबिटीज रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद है कलौंजी का तेल, इंसुलिन को बेहतर बनाकर ब्लड शुगर करे कंट्रोल

डायबिटीज (Diabetes) एक ऐसी बीमारी है, जिसे सही खानपान के द्वारा कंट्रोल किया जा सकता है। वैसे तो डायबिटीज रोग कई प्रकार के होते हैं, लेकिन दुनियाभर में सबसे ज्यादा संख्या टाइप 2 डायबिटीज (Type 2 Diabetes) के मरीजों की है। टाइप 2 डायबिटीज रोगी के शरीर में इंसुलिन (Insulin) का प्रोडक्शन कम हो जाता है या फिर शरीर इसका ठीक से इस्तेमाल नहीं कर पाता है। इस कारण से मरीज के खून में शुगर का लेवल बढ़ने लगता है। मगर हाल में हुई एक रिसर्च में पाया गया है कि कलौंजी का तेल (Black Seed Oil) डायबिटीज रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद है। कलौंजी के तेल को N. sativa oil या black cumin oil भी कहते हैं। कलौंजी के तेल के प्रयोग से शरीर में इंसुलिन का प्रोडक्शन ठीक होता है और ब्लड शुगर कंट्रोल में रहता है। इस रिसर्च को British Journal of Pharmaceutical Research नामक जर्नल में छापा गया है।

kalonji ka tel diabetes

ढेर सारे स्वास्थ्य लाभों से भरपूर है कलौंजी का तेल

कलौंजी को आयुर्वेद में बहुत महत्वपूर्ण औषधि माना गया है। इसे काफी पुराने समय से लोग तरह-तरह के रोगों और समस्याओं के लिए इस्तेमाल करते रहे हैं। आज भी घरों में बहुत सारे पकवानों में कलौंजी का इस्तेमाल किया जाता है। कलौंजी के अर्क से निकला तेल बहुत फायदेमंद होता है। इसमें एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल, एंटी-इंफ्लेमेट्री और एंटी-कैंसर गुण होते हैं, जिसके कारण इस तेल का प्राकृतिक चिकित्सा में विशेष स्थान है। नई रिसर्च में इसे डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद पाया गया है।

इसे भी पढ़ें: प्री-डायबिटीज का पता चलने पर लाइफस्टाइल में कौन से बदलाव जरूरी हैं ताकि न रहे टाइप 2 डायबिटीज का खतरा?

डायबिटीज रोगियों के लिए वरदान है कलौंजी का तेल

डायबिटीज के रोगियों के लिए कलौंजी का तेल किसी वरदान से कम नहीं है। इसका कारण यह है कि डायबिटीज के कारण शरीर में होने वाली लगभग सभी परेशानियों को ये अकेला तेल सही करने में सक्षम है। आइए आपको बताते हैं इसके प्रयोग से डायबिटीज रोगियों को कौन से लाभ मिलते हैं।

  • डायबिटीज रोगी के शरीर में इंसुलिन का प्रोडक्शन ठीक से होने लगता है।
  • डायबिटीज रोगी का ब्लड शुगर कंट्रोल में रहता है, जो कि डायबिटीज की मुख्य समस्या है।
  • ये तेल पैंक्रियाज में आई सूजन (pancreatic inflammation) को कम करता है।
  • यही नहीं डायबिटीज रोगी के शरीर में आने वाले दूसरी कई समस्याओं जैसे- न्यूरोपैथी (neuropathy), नेफ्रोपैथी (nephropathy), मोतियाबिंद (cataract),  धमनी से जुड़े रोग (cardiovascular disturbances), एथेरोस्क्लेरोसिस (atherosclerosis) आदि को दूर करने में भी सक्षम है।

कोलेस्ट्रॉल भी घटाता है कलौंजी का तेल

कलौंजी के तेल का सेवन करने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल भी घटता है। एक रिसर्च बताती है कि कलौंजी का तेल रोजाना 2 बार 4 सप्ताह तक इस्तेमाल करने से हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या से छुटकारा मिलता है। इससे शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल कहा जाने वाला LDL और ट्राईग्लिसराइड्स के नाम से जाना जाने वाला ब्लड फैट कम हो जाता है। इसलिए डायबिटीज रोगियों के साथ-साथ कोलेस्ट्रॉल के मरीजों के लिए भी कलौंजी का तेल बहुत फायदेमंद हो सकता है।

इसे भी पढ़ें: डायबिटीज रोगी फलों को चुनते समय बरतें ये 10 सावधानियां, जानें कौन से फल नहीं बढ़ाते ब्लड शुगर

black seed oil for diabetes

कैसे कर सकते हैं आप कलौंजी के तेल का इस्तेमाल?

Webmd के अनुसार डायबिटीज रोगी 1 ग्राम कलौंजी के बीजों का पाउडर दिन में 2 बार ले सकते हैं। जबकि अगर आप कलौंजी के तेल का इस्तेमाल करना चाहते हैं, तो इसे लगभग 450मिलीग्राम तेल दिन में 2 बार लिया जा सकता है। पैरों और न्यूरोपैथी की समस्याओं में इस तेल को त्वचा पर लगाकर मालिश कर सकते हैं।

हालांकि कलौंजी का तेल हजारों सालों से इस्तेमाल किया जा रहा है, इसलिए सुरक्षित माना जाता है। मगर डायबिटीज और ब्लड प्रेशर की कुछ दवाएं ऐसी हैं, जिनका प्रयोग अगर आप कर रहे हैं, तो कलौंजी के तेल के असर से वो बेअसर हो सकती हैं। इसलिए आपको इसका इस्तेमाल करने से पहले एक बार डॉक्टर से पूछ लेना चाहिए।

Read More Articles on Diabetes in Hindi

Disclaimer