जूस डाइट या सूप डाइट? डायटीशियन से जानें सेहत के लिए कौन-सी डाइट है ज्यादा फायदेमंद

जूस और सूप दोनों सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। लेकिन सेहत के लिए इन दोनों में से किसका सेवन करना ज्यादा लाभकारी हो सकता है, जानें

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Apr 13, 2021Updated at: Apr 13, 2021
जूस डाइट या सूप डाइट? डायटीशियन से जानें सेहत के लिए कौन-सी डाइट है ज्यादा फायदेमंद

क्या आप भी जूस और सूप डाइट को लेकर कंफ्यूज हैं? आप सोच रहे हैं कि इन दोनों में से ज्यादा फायदेमंद क्या होता है? वैसे तो डॉक्टर जूस और सूप दोनों को पीने की सलाह देते हैं लेकिन इनमें से ज्यादा लाभकारी डाइट कौन-सी हो सकती है? जूस फलों और सब्जियों से बनाई जाती है और सूप को सब्जियों से बनाया जाता है। फलों और सब्जियों में कई तरह से पोषक तत्व पाए जाते हैं, जिनका सेवन करना सेहत के लिए फायदेमंद माना जाता है। इसलिए दोनों को पीने से सेहत को कई लाभ मिलते हैं। लेकिन अगर इनमें से किसी एक का चुनाव करना हो तो क्या फायदेमंद हो सकता है? इसका जवाब जानने के लिए हमने एचसीएमसीटी मणिपाल हॉस्पिटल के क्लीनिकल डायटीशियन डॉक्टर अशीष रानी से बात की और पता लगाया की कौन-सी डाइट ज्यादा फायदेमंद हो सकती है। 

juice

जूस (Juice)

सुबह वॉक या एक्सरसाइज (Walk or Exercise) करने से पहले फलों या सब्जियों का एक गिलास फ्रेश जूस (One Glass Fresh Juice) पीने से बॉडी को पूरे दिन के लिए हाइड्रेट (Hydrate) रखा जा सकता है। गर्मी के दिनों में जब आपको शुगर क्रेविंग होती है तो आप चीनी और कार्बनडाइऑक्साइड (Carbondioxide) का सेवन करने की बजाय फलों के रस का जूस पी सकते हैं। रोजाना जूस पीने से शरीर को कई स्वास्थ्य लाभ (Health Benefits) मिल सकते हैं।

  • - रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए (Boost your Immunity)
  • - बॉडी को हाइड्रेट रखे (Keep Body Hydrated)
  • - पाचन तंत्र का मजबूत बनाता है और पाचन क्रिया अच्छे से काम करती है। (Strong Digestive System)
  • - शरीर से टॉक्सिन निकालने में सहायक (Remove Toxin)
  • - डिटॉक्सिफेशन में लाभकारी (Detoxification)

डाइट में जूस इनटेक (uice Intake) बढ़ाने से शरीर को कई स्वास्थ्य लाभ मिल सकते हैं। लेकिन अगर आप फलों और सब्जियों का सेवन जूस की बजाय ऐसे ही करेंगे तो इससे आपको ज्यादा फायदा मिल सकता है। फलों और सब्जियों का जूस पीने से इसमें फाइबर (Fiber) कम हो जाता है और यह पाचन तंत्र के लिए भी काम नहीं करता है। जूस में फाइबर की मात्रा कम होती है, जो वजन बढ़ने का कारण बन सकता है। इसके साथ ही जूस फलों में मौजूद प्रोटीन (Protein) और हेल्दी फैट (Healthy Fat) में भी कमी कर देता है।

सूप (Soup)

soup

घर पर बने सब्जियों के सूप में भरपूर मात्रा में प्रोटीन और हेल्दी फैट होता है। वजन कम करने के लिए रोजाना सूप का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है। सूप वेट लॉस (Weight Loss) में मददगार होता है। इसमें कम मात्रा में कैलोरीज (Calories) पाई जाती है। यह एक काफी अच्छी लिक्विड डाइट (Liquid Diet) है। इसे पीने से

  • - बॉडी हाइड्रेट रहती है (Keep Body Hydrated)
  • - भूख को कम करने में मददगार (Reduce Hunger Pangs)
  • - कैरोजी इनटेक कम करे (Reduces Calorie Intake)
  • - वजन कम करने में फायदेमंद (Good for Weight Loss)
  • - प्रोटीन और हेल्दी फैट का अच्छा सोर्स (Good Source o Protein and Healthy Fat)

डाइट में सूप इनटेक बढ़ाने से शरीर को कई स्वास्थ्य लाभ मिल सकते हैं। इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है, जिससे भूख कम लगती है और वजन कंट्रोल में रहता है। लेकिन ज्यादा मात्रा में सूप पीने से शरीर में कैलोरीज की कमी हो जाती है, इसमें हाई सोडियम (High Sodium) होता है। इसके सेवन के साथ ही आपको अपनी दूसरे खाद्य पदार्थों पर भी ध्यान देना होगा। सिर्फ सूप पीने से ही आप स्वस्थ नहीं रह सकते हैं। 

जूस या सूप (Juice or Soup)

जूस और सूप दोनों एक लिक्विड डाइट (Both are Liquid Diet) है। इन दोनों में स्वाद, शुगर, हेल्दी फैट, प्रोटीन और कई तरह के मिनरल्स पाए जाते हैं। ये दोनों शरीर को हाइड्रेट, साफ और भूख को कम करने में मदद करते हैं। इनके सेवन से भूख कम लगती है, जिससे ज्यादा मात्रा में कैलोरी लेने से बचा जा सकता है। अगर बात की जाए जूस डाइट और सूप डाइट में से कौन-सी डाइट बेहतर है तो आप सूप डाइट को चुन सकते हैं। जूस की तुलना में सूप ज्यादा फायदेमंद हो सकता है। क्योंकि सूप एंटीऑक्सीडेंट्स, प्रोटीन का अच्छा सोर्स होता है। इसमें फाइबर भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जो वजन कम करने में मददगार होता है। इसमें हेल्दी फैट भी होता है, जिससे वजन नहीं बढ़ता है।

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer