प्रेगनेंसी में क्यों दी जाती है लोहे के गहने पहनने की सलाह? जानें एक्सपर्ट की राय

iron jewellery during pregnancy: प्रेगनेंसी में आज भी महिलाओं को सोने और चांदी से ज्यादा लोहे के गहने पहनने की सलाह दी जाती है।

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasUpdated at: Oct 02, 2022 14:00 IST
प्रेगनेंसी में क्यों दी जाती है लोहे के गहने पहनने की सलाह? जानें एक्सपर्ट की राय

Iron Deficiency During Pregnancy: प्रेगनेंसी हर महिला के लिए सबसे खूबसूरत दौर माना जाता है। प्रेगनेंसी में महिला हर सांस, एहसास, गर्भ में पलने वाले बच्चे की आहट का पल-पल इंतजार करती है। प्रेगनेंसी महिलाओं के लिए जितनी सारी खुशियां लेकर आता है उससे कहीं ज्यादा जिम्मेदारियां उनके कंधों पर आ जाती है। इस दौरान महिलाओं का सही तरीके से ध्यान न रखा जाए, तो मां और बच्चा दोनों की सेहत को नुकसान पहुंच सकता है। प्रेगनेंसी के दौरान वैसे तो महिलाओं के शरीर में कई तरह के पोषक तत्वों की कमी होती हैं। इन्हीं कमियों में से एक है आयरन की कमी। वैसे देखा जाए तो महिलाओं में खून यानि आयरन की कमी आज के समय में आम बात हो गई है। शरीर में आयरन की कमी को एनीमिया कहा जाता है।

नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे-5 की रिपोर्ट देश में रिप्रोडक्टिव उम्र की 57 प्रतिशत महिलाएं, 52 प्रतिशत प्रेगनेन्ट महिलाएं और 6 से 59 महीने की उम्र के बीच के 67 प्रतिशत बच्चे एनीमिया से पीड़ित हैं। इस रिपोर्ट को मिनिस्ट्री ऑफ हेल्थ, भारत सरकार और यूनिसेफ द्वारा तैयार किया गया है। प्रेगनेंसी में महिलाओं को आयरन की कमी न हो इसके लिए लोहे के गहने पहनने की सलाह दी जाती है। ऐसा कहा जाता है कि जब कोई व्यक्ति लोहे के गहने पहनता है तो उसके शरीर में इसका कुछ न कुछ अंश जाता रहता था। जिसकी वजह से उनमें आयरन की कमी नहीं होती है।

इसे भी पढ़ेंः नारियल का फूल है हड्डियों के लिए वरदान, एक्सपर्ट से जानें इसके फायदे

एनीमिया के लक्षण

अचानक कुछ मीठा या मसालेदार खाने की क्रेविंग

ब्लड प्रेशर कम होना

थकान

सिर दर्द

स्किन पीली पड़ना

सांस लेने में दिक्कत

ध्यान लगाने में दिक्कत

प्रेगनेंसी में लोहे के गहने पहनने के फायदे - 

प्रेगनेंसी में लोहे के गहनने पहनने से उसमें मौजूद लौह अंश भोजन या कोई भी अन्य चीज जो गर्भवती महिला खा रही है उसके शरीर में चले जाते हैं। जिससे शरीर को पर्याप्त मात्रा में आयरन मिलता है। आयरन ना केवल शरीर की कोशिकाओं के लिए महत्वपूर्ण पोषक तत्व है बल्कि हीमोग्लोबिन को भी बढ़ाता है। यह लाल रक्त कोशिकाओं (आरबीसी) के विकास में भी मदद करता है। 

वैसे तो प्रेगनेंसी में महिलाओं को हर तरह के लोहे के गहने पहनने की सलाह दी जाती है, लेकिन विशेषकर हाथ के कड़े और अंगूठी लोहे की पहनने की कहा जाता है। ताकि शरीर में आयन की मात्रा को बढ़ाया जा सके।

लोहे में मौजूद आयरन के तत्व शरीर को दर्द से छुटकारा दिलाने में मदद करते हैं। एक रिसर्च में ये बात सामने आई है कि प्रेगनेंसी में लोहे के गहने पहनने से शारीरिक कमजोरी, थकान की समस्या भी दूर हो जाती है।

प्रेगनेंसी के 5वें महीने के बाद ज्यादाकर महिलाओं को घुटनों और जोड़ों के दर्द की समस्या होने लगती है। अगर इस स्थिति में महिला लोहे के गहने पहनती है तो इस तरह के दर्द से बचा जा सकता है।

 
Disclaimer