Expert

International Year of Millets 2023: मोटे अनाजों को कैसे करें डाइट में शामिल? जानें आसान तरीके

संयुक्त राष्ट्र (UN) ने साल 2023 को International Year of Millets घोषित किया है। जान‍िए डाइट में मोटे अनाज शाम‍िल करने का तरीका और फायदे।

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Jan 22, 2023 09:00 IST
International Year of Millets 2023: मोटे अनाजों को कैसे करें डाइट में शामिल? जानें आसान तरीके

संयुक्त राष्ट्र (United Nations) ने साल 2023 को International Year of Millets घोषित किया है। इसके पीछे संयुक्त राष्ट्र और सरकार का उद्देश्‍य है क‍ि लोग देसी अनाजों का सेवन ज्‍यादा से ज्‍यादा करें। इस घोषणा के बाद दुनियाभर में मोटे अनाजों की खेती और इसके सेवन पर जोर द‍िया जाएगा। आपको बताते चलें क‍ि मोटे नाजों में ग्‍लाइसेमि‍क इंडेक्‍स कम होता है। पेट के ल‍िए इसका सेवन फायदेमंद होता है। मोटे अनाज का सेवन करने से शरीर की इम्‍यून‍िटी भी बढ़ती है। अंतर्राष्ट्रीय पोषक अनाज वर्ष 2023 के तहत ज‍िन म‍िलेट्स को च‍िन्‍ह‍ित क‍िया गया है उसमें मोटे और छोटे अनाज दोनों शाम‍िल हैं। छोटे अनाज में कंगनी, कोदो, चीना, सांवा और कुटकी हैं और मोटे अनाज में ज्वार, बाजरा और रागी शाम‍िल हैं। इस लेख में हम जानेंगे म‍िलेट्स के फायदे और इसके सेवन का सही तरीका। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने Holi Family Hospital, Delhi की डायटीश‍ियन Sanah Gill से बात की। 

millets benefits in hindi

सर्द‍ियों में करें मोटे अनाज का सेवन    

मोटे अनाज की बात करें, तो इसमें जौ, बाजरा, मक्‍का, रागी आद‍ि शाम‍िल होता है। इन अनाजों को सर्द‍ियों में खाया जाता है क्‍योंक‍ि इनकी तासीर गरम होती है। इनका सेवन करने से शरीर में गरमाहट बनी रहती है। सरकार का मोटे अनाजों के प्रत‍ि लोगों को जागरूक करने का कारण है क‍ि म‍िलेट्स या मोटे अनाज, गेहूं और चावल के मुकाबले हमारी सेहत के ल‍िए ज्‍यादा फायदेमंद होते हैं। इनमें व‍िटााम‍न, पोषक तत्‍व, खन‍िज आद‍ि की अध‍िक मात्रा पाई जाती है। इसके साथ ही म‍िलेट्स में ग्‍लूटन मौजूद नहीं होता है। हार्ट और डायबि‍टीज मरीजों के ल‍िए भी मोटे अनाज का सेवन फायदेमंद माना जाता है।           

मोटे अनाज के फायदे- Millets Health Benefits  

  • पेट की समस्‍याएं जैसे गैस, कब्‍ज, अपच की समस्‍याएं दूर होती हैं क्‍योंक‍ि मोटे अनाज में फाइबर मौजूद होता है। 
  • मोटे अनाज का सेवन करने से वजन कंट्रोल होता है। 
  • मोटे अनाज का सेवन करने से हड्ड‍ियां मजबूत होती हैं। रागी में कैल्‍श‍ियम की अच्‍छी मात्रा होती है। इसे डाइट में शाम‍िल कर सकते हैं। 
  • मोटे अनाज का सेवन करने से खून की कमी दूर होती है। मक्‍का में व‍िटाम‍िन ए और फॉल‍िक एसिड पाया जाता है गर्भवती में मह‍िलाएं इसका सीम‍ित सेवन कर सकती हैं। 

इसे भी पढ़ें- Postpartum Weight Loss: प्रेगनेंसी के बाद गायत्री ने कैसे घटाया 8 Kg वजन, जानें वेट लॉस ट‍िप्‍स  

मोटे अनाज का सेवन कैसे करें?- How to Eat Millets  

मोटे अनाज का सेवन कई तरह से कर सकते हैं- 

  • मोटे अनाज से हेल्‍दी पास्‍ता बना सकते हैं। म‍िलेट्स वाले पास्‍ता का सेवन करने से सेहत नहीं ब‍िगड़ती।
  • मोटे अनाज की मदद से दल‍िया, रोटी या डोसा बनाया जा सकता है। 
  • बाजरे की ख‍िचड़ी या बाजरे की रोटी बनाकर खा सकते हैं।
  • चावल की जगह मोटे अनाज का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। गेहूं का आटा सेहत के ल‍िए हान‍िकारक होता है, इसकी जगह आप मोटे अनाज का इस्‍तेमाल करें।    
  • मोटे अनाज के आटे से कुकीज और केक बनाकर खा सकते हैं। ये मैदा की जगह इस्‍तेमाल कि‍ए जाने वाले हेल्‍दी व‍िकल्‍प है।
  • गुड़ के साथ मोटे अनाज को म‍िलाकर हेल्‍दी म‍िठाई बनाई जा सकती है।
  • मोटे अनाज को सूप या दूध के साथ स‍ीर‍ियल्‍स के तौर पर भी खाया जा सकता है। 
  • मोटे अनाज को पीसकर उसका उपमा बनाकर भी खा सकते हैं।   
  • म‍िलेट्स को उबालकर सलाद के साथ म‍िलाकर खा सकते हैं।
  • दूध और फलों के साथ म‍िलाकर भी मोटे अनाज का सेवन क‍िया जा सकता है।  

Millets Benefits: म‍िलेट्स या मोटे अनाज का सेवन हमारी इम्‍यून‍िटी और पाचन तंत्र दोनों के ल‍िए फायदेमंद होता है। इसे अपनी डाइट में जरूर शाम‍िल करें।  

Disclaimer