Expert

हैप्पी हार्मोन बढ़ाने के लिए डाइट में शामिल करें ये 5 न्यूट्रिएंट्स, हमेशा रहेंगे खुश और शांत

शरीर में हैप्पी हार्मोन के उत्पादन को बढ़ावा देने से खुश रहने और अच्छा महसूस करने में मदद मिल सकती है, जानें इसके लिए जरूरी न्यूट्रिएंट्स और फूड्स।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: Apr 22, 2022Updated at: Apr 22, 2022
हैप्पी हार्मोन बढ़ाने के लिए डाइट में शामिल करें ये 5 न्यूट्रिएंट्स, हमेशा रहेंगे खुश और शांत

अपने संपूर्ण स्वास्थ्य की भलाई के लिए खुश रहना बहुत जरूरी है। आपने डॉक्टर्स से सुना होगा कि खुश रहना सबसे बेस्ट मेडिसिन है। आजकल हम में से ज्यादातर लोग तनाव, चिंता और अवसाद जैसी समस्याओं से घिरे रहते हैं, जो आपके आपकी सेहत को कई तरह से प्रभावित करता है। वहीं खुश रहना आपको कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है। अब सवाल यह है कि आप खुश रहने और अच्छा महसूस करने के लिए क्या कर सकते हैं?

हम में से ज्यादातर लोग यह नहीं जानते हैं कि हम कैसा महसूस करते हैं इसमें हार्मोन्स अहम भूमिका निभाते हैं। उदाहरण के लिए जब शरीर में कोर्टिसोल का स्तर बढ़ता है तो आप अधिक तनाव और चिंता जैसी समस्याओं का अनुभव करते हैं, क्योंकि कोर्टिसोल के तनाव हार्मोन है। इसी तरह खुश और अच्छा महसूस करने के लिए भी हमारा शरीर हैप्पी हार्मोन रिलीज करता है, जिनमें से एक सेरोटोनिन। हार्मोन कोच डायटीशियन मनप्रीत की मानें तो कुछ जरूरी न्यूट्रिंएट्स शरीर में सेरोटोनिन के स्तर को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं, इस लेख में हम ऐसे 5 जरूरी न्यूट्रिएंट्स और उनके खाद्य स्रोत (Important Nutrients For Happy Hormones food sources In hindi)के बारे में जानेंगे।

हैप्पी हार्मोन बढ़ाने वाले 5 जरूरी न्यूट्रिएंट्स और इनके फूड सोर्स (Important Nutrients For Happy Hormones food sources In hindi)

1. बी विटामिन (B Vitamin)

विटामिन बी शरीर में सेरोटोनिन का उत्पादन करने में मदद करता है, हमारे मूड बेहदतर बनाता है। साथ ही शरीर में सूजन को कम करता है और हमारे मस्तिष्क में तंत्रिकाओं की रक्षा करता है। सैल्मन, मूंगफली, पालक, एवोकैडो, फर्मेंटेड फूड्स विटीमिन बी से भरपूर होते हैं।

इसे भी पढें: क्या बादाम खाने से यूरिक एसिड बढ़ता है? जानें बादाम को कैसे खाना है ज्यादा सुरक्षित

2. आयरन (Iron) 

आयरन सेरोटोनिन उत्पादन के लिए एक जरूरी मिनरल है यह शरीर में सेरोटोनिन के लिए सह कारक के रूप में काम करता है। क्योंकि यह ट्रिप्टोफैन को 5HTP और 5HTP को सेरोटोनिन में बदलने में में मदद करता है। हरी पत्तेदार सब्जियां, दाल, चना, कद्दू के बीज, काजू इत्यादी में आयरन भरपूर मात्रा में होता है।

3. मैग्नीशियम (Magnesium)

शोध बताते हैं मैग्नीशियम शरीर में सेरोटोनिन के स्तर को बढ़ाने में मदद कर सकता है। जिन लोगों में मैग्नीशियम की कमी होती है उनमें सेरोटोनिन का स्तर भी कम होता है। बादाम, केला, चिया के बीज आदि मैग्नीशियम के अच्छे स्रोत हैं।

4. जिंक (Zinc)

जिंक तनाव, चिंता और अवसाद से लड़ने में मदद करता है। यह शरीर में तनाव हार्मोन को कम करता है और सेरोटोनिन के उत्पादन में मदद करता है। बीन्स, कद्दू के बीज, हरी मटर जैसे फूड्स में जिंक अच्छी मात्रा में मौजूद होता है।

5. विटामिन सी (Vitamin C)

विटामिन सी प्रोटीन में मौजूद ट्रिप्टोफैन नामक अमीनो एसिड को मस्तिष्क के प्रमुख न्यूरोट्रांसमीटर सेरोटोनिन में बदलने में मदद करता है और शरीर में सेरोटोनिन के उत्पादन को बढ़ावा देता है। नींबू, संतरा, कीवी, आंवला विटामिन सी के अच्छे स्रोत हैं।

इसे भी पढें: दूध में गुलकंद डालकर पीने से गर्मी में शरीर को मिलेगी ठंडक, जानें इसके फायदे और पीने का तरीका

एक्सपर्ट क्या सलाह देते हैं

इसमें कोई संदेह नहीं है कि अपने आहार में इन न्यूट्रिएंट्स और फूड्स को शामिल करने से खुश रहने और अच्छा महसूस करने में मदद मिल सकती है। लेकिन अगर संतुलित आहार लेने के बावजूत आप लगातार उदास महसूस कर रहे हैं या चिंता, तनाव और अवसाद जैसी समस्याओं का सामना कर रहे हैं तो यह किसी अंतर्निहित मेडिकल कंडीशन का संकेत भी हो सकता है। ऐसे में जरूरी है कि आप अपने डॉक्टर से संपर्क करें, जिससे कि आपको सही उपचार लेने में मदद मिल सके।

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer