World Heart Day 2020: कोविड-19 महामारी के दौरान हार्ट का ख्याल रखना क्यों है ज्यादा जरूरी? जानें खतरे और टिप्स

कोरोना वायरस महामारी के दौरान हार्ट के मामले में जरा सी लापरवाही बहुत खतरनाक हो सकती है। जानें इस समय अपने हार्ट को स्वस्थ रखने के लिए 6 जरूरी टिप्स।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Sep 28, 2020
World Heart Day 2020: कोविड-19 महामारी के दौरान हार्ट का ख्याल रखना क्यों है ज्यादा जरूरी? जानें खतरे और टिप्स

क्या आप जानते हैं कि कार्डियोवस्कुलर बीमारियों (हार्ट अटैक, स्ट्रोक आदि) के कारण हर साल लगभग 2 करोड़ लोगों की जान जाती है? इनमें सबसे ज्यादा संख्या हार्ट अटैक के मरीजों की होती है। हार्ट अटैक के मामले समय के साथ बढ़ते जा रहे हैं और आजकल 25-30 साल की युवा उम्र में भी लोग हार्ट अटैक के कारण मरने लगे हैं। ऐसी स्थिति को देखते हुए ही वर्ल्ड हार्ट फाउंडेशन (World Heart Foundation) हर साल 29 सितंबर को वर्ल्ड हार्ट डे (World Heart Day) यानी विश्व हृदय दिवस के रूप में मनाता है। दुनियाभर के 100 से ज्यादा देश इस दिन लोगों को हार्ट की बीमारियों के बारे में जागरूक करने के लिए कार्यक्रम और कैंपेन आदि आयोजित करते हैं।

world heart day 2020

हार्ट की बीमारियां पहले ही खतरनाक मानी जाती थीं, और इस बार तो कोरोना वायरस महामारी ने जिंदगी को और अधिक मुश्किल बना दिया है। दुनियाभर में हुए तमाम अध्ययन बताते हैं कि कोरोना वायरस के कारण मौत का खतरा सबसे ज्यादा डायबिटीज, हार्ट और हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को है। इसलिए जब तक कोरोना वायरस महामारी मौजूद है, तब तक हम सभी को अपने हार्ट की सुरक्षा के लिए अतिरिक्त देखभाल की जरूरत है। आइए आपको बताते हैं इस समय हार्ट से जुड़े कौन से खतरे मौजूद हैं और दिल की सेहत का ख्याल कैसे रखना है।

इसे भी पढ़ें: 30 की उम्र के बाद अपने हार्ट की सेहत पर नजर रखनी है बेहद जरूरी, इन 5 लक्षणों पर देते रहें ध्यान

कोरोना वायरस के समय दिल की देखभाल क्यों जरूरी?

कोरोना वायरस मुख्य रूप से फेफड़ों में फैलने वाला इंफेक्शन है। लेकिन फेफड़ों के आसपास मौजूद अंगों को भी इससे खतरा होता है। तमाम अध्ययनों में इस बात की पुष्टि हो चुकी है कि कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति को अगर पहले से दिल की कोई बीमारी है, तो उसे कार्डियक अरेस्ट हो सकता है और उसकी जान जा सकती है। इसके अलावा तमाम रिपोर्ट्स में यह भी कहा गया है कि जो लोग कोरोना के गंभीर संक्रमण को झेल चुके हैं यानी हॉस्पिलट में भर्ती रहे हैं, उन्हें कोरोना से ठीक होने के बाद भी हार्ट की समस्याएं हो रही हैं।। चूंकि हार्ट बहुत संवेदनशील अंग है और थोड़ी सी परेशानी से ही मरीज की स्थिति गंभीर हो सकती है, जिसके कारण उसकी जान जा सकती है या वो कोमा में जा सकता है। इसलिए महामारी के दौरान हार्ट का ख्याल रखना बहुत जरूरी है।

कोरोना के कारण हार्ट में ब्लॉकेज के कई मामले आए सामने

दुनियाभर में ऐसे कई मामले सामने आए हैं, जिनमें कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद व्यक्ति की धमनियों में सूजन आई और उसकी धमनियां पूरी तरह ब्लॉक हो गईं। ऐसी स्थिति में अगर ब्लॉकेज बड़ा हो, तो मरीज को तुरंत हार्ट अटैक आ सकता है। और ऐसा नहीं है कि इसका खतरा सिर्फ बूढ़े हो चुके लोगों को है। दिल्ली के शालीमार बाग स्थित फोर्टिस हॉस्पिटल में पिछले दिनों एक मामला सामने आया था, जिसमें 31 साल के नौजवान युवक में आर्टरीज 100% ब्लॉक हो चुकी थीं। उस मरीज को सही समय पर इलाज मिलने से उसकी जान बच गई। मगर सभी लोगों को हार्ट की परेशानी होने पर तत्काल इलाज मिल जाए, ऐसा संभव नहीं है। इसलिए हार्ट का ख्याल रखना बहुत जरूरी है।

इसे भी पढ़ें: युवा उम्र में क्यों बढ़ रहे हैं हार्ट अटैक के मामले? एक्सपर्ट से जानें इसका कारण और बचाव के लिए जरूरी उपाय

heart problems during covid pandemic

महामारी के दौरान हार्ट को स्वस्थ रखने के लिए जरूरी उपाय

  • धूम्रपान करते हैं तो इसे तुरंत छोड़ दें। धू्म्रपान आपके फेफड़े, दिल, श्वांसनली सभी को कमजोर बनाता है।
  • खाने में तेल, घी, बटर का प्रयोग कम करें क्योंकि इनसे कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है और कोलेस्ट्रॉल से धमनियां ब्लॉक होती हैं।
  • अपना वजन कंट्रोल में रखें। अगर मोटे हैं तो वजन घटाना शुरू कर दें क्योंकि मोटापे के कारण भी कोरोना और दिल की बीमारियों का खतरा बहुत बढ़ जाता है।
  • रोजाना कम से कम 30 मिनट एक्सरसाइज जरूर करें, ताकि आपका स्टैमिना अच्छा रहे और शरीर में ब्लड सर्कुलेशन ठीक रहे।
  • खाने में हरी सब्जियां, रंगीन सब्जियां, फल, दाल, अनाज, नट्स, बीज, दूध और दूध से बने प्रोडक्ट्स, अंडे, मछली आदि का सेवन बढ़ा दें और जंक फूड्स तथा प्रॉसेस्ड फूड्स का सेवन कम कर दें।
  • हर दिन सुबह हल्की गुनगुनी धूप में कम से कम 15 मिनट जरूर बैठें, ताकि आपके शरीर को विटामिन डी मिल सके। विटामिन डी की कमी कोरोना वायरस संक्रमण में बहुत घातक हो सकती है।

Read More Articles on Heart Health in Hindi

 

Disclaimer