शरीर में इम्यूनिटी को मजबूत करने के लिए पानी, अंकुरित अनाज, तुलसी है फायदेमंद, न्यूट्रिशनिस्ट से जानें

आप किसी प्रकार के संक्रमण या मौसमी एलर्जी से बार-बार बीमार पड़ते हैं या बार-बार सर्दी-जुकाम और बुखार की चपेट में आजाते हैं तो आपकी इम्यूनिटी कमज़ोर है

Garima Garg
Written by: Garima GargUpdated at: Oct 21, 2020 18:36 IST
शरीर में इम्यूनिटी को मजबूत करने के लिए पानी, अंकुरित अनाज, तुलसी है फायदेमंद, न्यूट्रिशनिस्ट से जानें

हमारा शरीर दिनभर विभिन्न प्रकार के बैक्टीरिया, वायरस, दूषित तत्वों आदि के संपर्क में आता है। ये तत्व हमें बीमार करने के लिए काफी होते हैं। यह हमारे शरीर की इम्यूनिटी यानी कि रोग प्रतिरोधक क्षमता ही है, जो इन तत्वों से लड़कर हमें बीमार होने से बचाती है। यदि आप किसी प्रकार के संक्रमण या मौसमी एलर्जी से बार-बार बीमार पड़ते हैं या बार-बार सर्दी-जुकाम और बुखार की चपेट में आजाते हैं, तो इसका मतलब है कि आपकी इम्यूनिटी कमज़ोर है।

जिन लोगों के शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है, उनमें गंभीर संक्रमण और घातक बीमारियों का खतरा ज्यादा होता है। जबकी जिन लोगों की इम्यूनिटी मजबूत होती है, वे कम बीमार पड़ते हैं और यदि वे गंभीर रूप से बीमार पड़ भी जाएं तो आसानी से ठीक हो सकते हैं। इसलिए अच्छे स्वास्थ्य के लिए हमारे शरीर की इम्यूनिटी का मजबूत रहना जरूरी है।

immune system

क्या हैं लक्षण?

  • हर समय सुस्ती महसूस करना
  • बेवजह थकान होना
  • जल्दी-जल्दी बीमार पड़ना
  • बीमार होने पर ठीक होने में ज्यादा समय लगना

अपने खान-पान और जीवनशैली में कुछ बदलाव कर शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाया जा सकता है। निम्नलिखित टिप्स की मदद से आप अपनी इम्यूनिटी को मजबूत बना सकते हैं:

पानी

पानी सिर्फ आपकी प्यास नहीं बुझाता है बल्कि यह अपने आप में एक औषधि के समान है। दरअसल, पानी शरीर के विषाक्त तत्वों को बाहर करने में मदद करता है, जिससे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। पेट की समस्याओं से लेकर सिरदर्द तक, पानी हमें कई रोगों से बचाता है। यही कारण है कि बड़े-बुजुर्ग और डॉक्टर हमेंशा ज्यादा से ज्यादा पानी पीने की सलाह देते हैं। अपनी इम्यूनिटी को मजबूत बनाना चाहते हैं तो दिनभर में कम से कम 3 लीटर पानी पीने की आदत डालें।

अंकुरित अनाज

मूंग की दाल और चना आदि जैसे अंकुरित अनाज के सेवन से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। अंकुरित अनाज पौष्टिक और स्वादिष्ट होने के साथ पचाने में भी आसाना होते हैं। इन्हें सुबह के नाश्ते में या शाम को स्नैक्स की तरह खाएं।

इसे भी पढ़ें- मौसम बदल रहा है, इम्यूनिटी बढ़ाए रखने के लिए पिएं इन 8 हर्ब्स और मसालों के कॉम्बिनेशन से बना खास टॉनिक

तुलसी

तुलसी प्राकृतिक रूप से एक एंटीबायोटिक का काम करती है। तुलसी शरीर को कई बीमारियों से बचाने के साथ शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने में सहायक होती है। रोज़ सुबह खाली पेट तुलसी की 4-5 पत्तियों का सेवन करें। इसके अलावा इसका काढ़ा सर्दी-जुकाम और खांसी जैसी समस्याओं से राहत देता है।

एलोवेरा

एलोवेरा की पत्तियों में मौजूद जेल शरीर से विषाक्त तत्वों को बाहर कर शरीर की समस्याओं की रोकथाम करता है। एलोवेरा के यही गुण शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाते हैं।

इसे भी पढ़ें- इस तरह खाएं भीगे हुए मेथी के दाने, हफ्तेभर में दूर हो जाएगी बवासीर की समस्या

फल

संतरा और मैसमी जैसे फलों में विटामिन सी भरपूर मात्रा में मौजूद होता है, जो शरीर की इम्यूनिटी को मजबूत बनता है।

सुबह का नाश्ता

आपने बार-बार सुना होगा कि सुबह का नाश्ता अच्छे से खाना चाहिए। दरअसल सुबह का नाश्ता हमारे शरीर को ऊर्जा देने के साथ शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी मजबूत बनाता है। इसलिए नाश्ता न करने की भूल कभी न करें। सुबह के नाश्ते में प्रोटीन को अच्छी मात्रा में शामिल करें।

(ये लेख मैक्स सुपर स्पेशिलयलिटी हॉस्पिटल की डाइटिशियल और न्यूट्रिशियन डॉक्टर प्रियंका अग्रवाल से बातचीत पर आधारित है।)

Read More Articles on Home Remedies in hindi
Disclaimer