चटपटी और स्वादिष्ट इमली का चूर्ण खाने से मिलेगा इन 5 समस्याओं से छुटकारा, जानें घर पर बनाने का तरीका

इमली का चूर्ण खाने में तो स्‍वाद‍िष्‍ट होता ही है साथ ही ये शरीर की कई समस्‍याओं को दूर करता है, जानें चूर्ण बनाने का तरीका 

 
Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Sep 16, 2021
चटपटी और स्वादिष्ट इमली का चूर्ण खाने से मिलेगा इन 5 समस्याओं से छुटकारा, जानें घर पर बनाने का तरीका

इमली का खट्टा-मीठा स्‍वाद हम सभी को पसंद आता है, इमली खाने में ज‍ितनी स्‍वाद‍िष्‍ट होती है उतनी ही फायदेमंद भी होती है। इमली में एंटी बैक्‍टीर‍ियल, एंटी-ऑक्‍सीडेंट गुण होते हैं। आप इमली का चूर्ण बनाकर खाएं तो शरीर को कई फायदे होंगे। इमली चूर्ण के क्‍या फायदे हैं? इमली का चूर्ण खाने से मुंह की बदबू दूर होती है, अगर आपको कब्‍ज या पेट में गैस की समस्‍या है तो भी आप इमली के चूर्ण का सेवन कर सकते हैं, गले में खराश या सूजन की समस्‍या को दूर करने के ल‍िए भी इमली फायदेमंद मानी जाती है। पेट खराब होने या पेट में दर्द होने पर भी आप इमली का चूर्ण खा सकते हैं। इस लेख में हम इमली के चूर्ण के फायदे और उसे बनाने के तरीकों पर चर्चा करेंगे। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के व‍िकास नगर में स्‍थित प्रांजल आयुर्वेद‍िक क्‍लीन‍िक के डॉ मनीष स‍िंह से बात की।

IMLI CHURAN

(image source:pixabay)

इमली चूर्ण कैसे बनाएं? (How to make imli churan)

चूर्ण बनाने की सामग्री: चूर्ण बनाने के लि‍ए आपको इमली, काला नमक, भुना जीरा, अजवाइन, काली म‍िर्च पाउडर, लौंग पाउडर, हींग पाउडर, पुदीना, सौंफ, सोंठ, म‍िश्री की जरूरत होगी। 

चूर्ण बनाने का तरीका: 

  • इमली को साफ करके धूल साफ कर लें। इमली के रेशे और बीज अलग कर दें। 
  • इमली को सुखाने के ल‍िए धूप में रख दें। जब इमली सूख जाए तो उसे म‍िक्‍सी में पीस लें। 
  • इमली का पाउडर जो तैयार होगा उसे बाउल में न‍िकाल लें। 
  • इसमें काला नमक, भुना पि‍सा जीरा म‍िला लें। म‍िश्रण में अजवाइन पीसकर डाल दें।
  • इमली का चूर्ण बनाते समय उसमें पिसा हुआ काली म‍िर्च का पाउडर और लौंग पाउडर जरूर डालें। 
  • इमली के चूर्ण में पीसी हींग का पाउडर भी चुटकी भर म‍िलाएं।
  • अब म‍िश्रण में ड्राय पुदीना पाउडर और सौंफ का पाउडर डाल दें। म‍िश्रण में सोंठ पाउडर म‍िला लें।  
  • अब म‍िश्रण में म‍िश्री को पीसकर डाल दें, म‍िश्रण को अच्‍छी तरह से म‍िला लें। 
  • इमली का चूर्ण तैयार है, आप इसे एयरटाइट कंटेनर में रखकर स्‍टोर करें। 

इसे भी पढ़ें- रोटी बनाते हुए कलाई में होता है दर्द तो अपनाएं ये 5 आसान घरेलू उपाय

इमली का चूर्ण कब तक रख सकते हैं? (How long you can store imli churan)

इमली का चूर्ण आप महीने भर के ल‍िए स्‍टोर कर सकते हैं, पर इसे स्‍टोर करने के ल‍िए आप केवल एयरटाइट कंटेनर का इस्‍तेमाल करें। अगर आपके घर में ज्‍यादा नमी रहती है तो आप फ्र‍िज में इमली का चूर्ण स्‍टोर सकते हैं। चूर्ण को ब‍िल्‍कुल भी गीला न होने दें नहीं तो वो खाने लायक नहीं रहेगा।

इमली का चूर्ण क‍िन समस्‍याओं को दूर करता है? (Benefits of imli churan)

1. मुंह और स्‍वाद से जुड़ी समस्‍या 

मुंह की बदबू दूर करने के ल‍िए आप इमली का चूर्ण खा सकते हैं, इससे मुंह की बदबू भी दूर होती है और स्‍वाद भी बढ़ता है। बुखार के बाद अक्‍सर लोगों के मुंह का स्‍वाद खराब हो जाता है ज‍िसे ठीक करने के लि‍ए आप इमली के चूर्ण का सेवन कर सकते हैं।

2. पेट से जुड़ी समस्‍या 

पाचन तंत्र को बेहतर करने के ल‍िए इमली फायदेमंद होती है। पेट में गैस की समस्‍या हो, कब्‍ज हो, पेट में दर्द या अपच की समस्‍या हो आपको इमली के चूर्ण का सेवन करना चाह‍िए। इमली में मौजूद पोषक तत्‍व डाइजेस्‍ट‍िव जूस या बाइल एस‍िड को बढ़ावा देते हैं जि‍ससे पेट से जुड़ी समस्‍या दूर होती है।

इसे भी पढ़ें- शरीर की इन 5 समस्याओं का समाधान है बेर का पत्ता, जानें इस्तेमाल का तरीका

3. डायब‍िटीज की समस्‍या 

ब्‍लड शुगर लेवल कंट्रोल करने के तरीके ढूंढ रहे हैं तो इमली के चूर्ण का सेवन कर सकते हैं। इमली का चूर्ण गुनगुने पानी के साथ लें तो ब्‍लड शुगर लेवल कंट्रोल होगा। आप चूर्ण में इमली के बीज का पाउडर भी डालें, उसमें एंटी-डायब‍िटीज गुण होते हैं। 

4. लो इम्‍यून‍िटी की समस्‍या 

अगर आप बार-बार बीमार पड़ जाते हैं तो आपको इमली के चूर्ण का सेवन करना चाह‍िए। इमली में व‍िटाम‍िन सी या एस्‍कार्बिक एस‍िड मौजूद होता है ज‍िससे रोग प्रत‍िरोधक क्षमता बढ़ती है।

5. गले में सूजन की समस्‍या 

गले में सूजन है तो भी आप इमली के चूर्ण का सेवन करे, गले की खराश को दूर करने में इमली का चूर्ण फायदेमंद होता, इस चूर्ण में मौजूद काली मिर्च, सौंफ आद‍ि सामग्री से गले की खराश दूर होगी।

इमली का चूर्ण आप ताजा ही इस्‍तेमाल करें, अगर चूर्ण में मॉइश्‍चर आ जाए तो उसका सेवन न करें।

(main image source:amazon)

Read more on Home Remedies in Hindi 

Disclaimer