Expert

प्रेगनेंसी के साथ हाई बीपी होने पर कैसी डाइट लेनी चाह‍िए? जानें एक्‍सपर्ट से

Gestational Hypertension: प्रेगनेंसी में हाइपरटेंशन होने पर प्रसव के दौरान कठ‍िनाई आती है। जानते हैं हाइपरटेंशन में क्‍या खाएं और क्‍या नहीं।

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Nov 28, 2022 11:57 IST
प्रेगनेंसी के साथ हाई बीपी होने पर कैसी डाइट लेनी चाह‍िए? जानें एक्‍सपर्ट से

Hypertension Diet in Pregnancy: प्रेगनेंसी एक नाजुक दौर होता है। इस समय बीमार‍ियां, मां और बच्‍चे की सेहत पर बुरा असर डाल सकती हैं। खानपान और जीवनशैली से जुड़ी गलत‍ियों के कारण कई बार गर्भवती मह‍िलाएं प्रेगनेंसी में हाइपरटेंशन का श‍िकार हो जाती हैं। इसे मेड‍िकल भाषा में जेस्‍टेशनल हाइपरटेंशन (Gestational Hypertension) कहा जाता है। ये समस्‍या मह‍िलाओं में 20वे हफ्ते में होती है। प्रेगनेंसी में हाई बीपी की समस्‍या (High Blood Pressure In Pregnancy) को हल्‍के में लेना सेहत के ल‍िए हान‍िकारक हो सकता है। कुछ मामलों में हाई बीपी के कारण श‍िशु को जरूरी पोषक तत्‍व और ऑक्‍सीजन की कमी हो सकती है। इस दौरान डाइट में व‍िटाम‍िन्‍स, खन‍िज और फाइबर के स्राेत शाम‍िल करने चाह‍िए। इस लेख में हम जानेंगे प्रेगनेंसी में हाइपरटेंशन होने पर कैसी डाइट लेनी चाह‍िए। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने Holi Family Hospital, Delhi की डायटीश‍ियन Sanah Gill से बात की।   

pregnancy diet

जेस्‍टेशनल हाइपरटेंशन होने पर क्‍या खाएं?

प्रेगनेंसी में खानपान का ख्‍याल रखने की सलाह दी जाती है। लेक‍िन आप प्रेगनेंसी में हाइपरटेंशन या डायब‍िटीज का श‍िकार हैं, तो डाइट में जरूरी बदलाव भी करने होंगे। हाई बीपी की समस्‍या है, तो नमक का सेवन कम करें। लो सोड‍ियम सॉल्‍ट जैसे सेंधा नमक का सीम‍ित सेवन कर सकती हैं। ल‍िक्‍व‍िड डाइट का भी ख्‍याल रखें। ज‍ितना हो सके पानी का सेवन करें। पाचन तंत्र बेहतर रखने के ल‍िए घर के बने जूस, सूप का सेवन करें।

इसे भी पढ़ें- प्रेगनेंसी में ब्लड प्रेशर बढ़ने पर दिखते हैं ये 4 लक्षण, जानें कैसे करें बचाव

प्रेगनेंसी और हाइपरटेंशन में ये न खाएं 

  • अचार का सेवन करने से बचें इसमें नमक की मात्रा ज्‍यादा होती है।
  • म‍िर्च मसाले वाले भोजन से बचें। 
  • मलाईवाला दूध, मक्‍खन, घी का सेवन न करें। 
  • तेल और मांसाहारी भोजन से बचें। 

ताजी फल और सब्‍ज‍ियां खाएं 

प्रेगनेंसी में फल और सब्‍जि‍यों का सेवन फायदेमंद होता है लेक‍िन हाई बीपी की समस्‍या है, तो डाइट में सब्‍ज‍ियां और फल की मात्रा बढ़ाएं। सब्‍ज‍ियों में पालक, गोभी, लौकी, तोरई, परवल, कद्दू, ट‍िंडा आद‍ि का सेवन कर सकती हैं। फलों की बात करें, तो संतरा, सेब, अमरूद, अनानास, अनार का सेवन करें।   

सर्द‍ियों में चुकंदर का सेवन करें 

आपको बता दें प्रेगनेंसी में चुकंदर का सीम‍ित सेवन फायदेमंद होता है। इससे हाई बीपी की समस्‍या तो दूर होती ही है, साथ ही प्रेगनेंसी में एनीम‍िया जैसी बीमारी से भी बचाव होता है। चुकंदर में नाइट्र‍िक ऑक्‍साइड पाया जाता है, जो रक्‍त नल‍िकाओं को फैलने में मदद करता है। इससे बीपी कंट्रोल रहता है। सुबह सलाद के रूप में चुकंदर का सेवन कर सकती हैं। जूस और सूप के फॉर्म में भी चुकंदर का सेवन कर सकती हैं।

अनुलोम-विलोम करें

प्रेगनेंसी में हाइपरटेंशन से बचने और सेहतमंद रहने के ल‍िए अनुलोम-व‍िलोम कर सकती हैं। अनुलोम-व‍िलोम करने का सबसे अच्‍छा समय सुबह का है। इस आसन को करने के ल‍िए पहले आरामदायक मुद्रा में बैठ जाएं और आंखों को बंद कर लें। फ‍िर दाएं हाथ के अंगूठे से दाईं नास‍िका बंद करें और बाईं नास‍िका से सांस लें। फ‍िर दूसरी तरफ भी इसे दोहराएं। कसरत और व्‍यायाम के जर‍िए आप प्रेगनेंसी में खुद को फ‍िट रख सकती हैं। 

Hypertension Diet in Pregnancy: प्रेगनेंसी में हाइपरटेंशन का श‍िकार हैं, तो घर का बना ताजा भोजन खाएं। नमक और चीनी की मात्रा कम करें। हरी सब्‍ज‍ियां और फल का सेवन बढ़ाएं। म‍िर्च-मसाले और तेल वाले आहार न खाएं।  

Disclaimer