Doctor Verified

हार्ट के मरीजों को सर्द‍ियों में रखना चाह‍िए खास ख्‍याल, जानें 5 ट‍िप्‍स

सर्द‍ियों में शरीर का तापमान गड़बड़ा जाता है ज‍िसका असर रक्‍त संचार और हार्ट पर पड़ता है। जानते हैं सर्द‍ियों में हार्ट को हेल्‍दी रखने के ट‍िप्‍स।

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Dec 01, 2022 14:08 IST
हार्ट के मरीजों को सर्द‍ियों में रखना चाह‍िए खास ख्‍याल, जानें 5 ट‍िप्‍स

ठंड के द‍िनों में शरीर की गर्मी आसानी से कम हो जाती है। इस वजह से शरीर के ल‍िए सही तापमान को बनाए रखना मुश्‍क‍िल हो जाता है। सर्द‍ियों के द‍िनों में कम सोना, पानी न पीना, ज्‍यादा खाना आद‍ि गलत आदतों के कारण हार्ट पर स्‍ट्रेस बढ़ता है और वो बीमार पड़ सकता है। हार्ट के मरीजों को सर्द‍ियों के द‍िनों में खास सावधानी बरतनी चाह‍िए। जो लोग हार्ट अटैक या हार्ट की कोई अन्‍य बीमारी के श‍िकार रह चुके हैं, हार्ट को ब्‍लड पंप करने में ज्‍यादा मेहनत करनी पड़ती है। ऐसे में सर्दी का मौसम आपके ल‍िए थोड़ा मुश्‍क‍िल हो सकता है। इस दौरान हवा में नमी कम होती है और ठंडी हवा शरीर पर बुरा प्रभाव छोड़ती हैं। इस लेख में हम हार्ट को सर्द‍ियों में हेल्‍दी रखने के कुछ ट‍िप्‍स जानेंगे। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की।   

execise in hindi

1. शरीर को रखें एक्‍टि‍व  

सर्दियों में ज्‍यादातर लोग अपना फ‍िज‍िकल वर्कआउट कम कर देते हैं। इसके कारण शरीर में रक्‍त का संचार कम हो जाता है और हार्ट को ज्‍यादा मेहनत करनी पड़ती है। इससे चेस्‍ट पर दबाव बनता है और हार्ट अटैक की समस्‍या हो सकती है। हर द‍िन वॉक करें। 40 से 50 म‍िनट शरीर को देने से हार्ट को हेल्‍दी रख सकते हैं। इंटेंस वर्कआउट की जगह ब्र‍िस्‍क वॉक करें। घर पर रहकर योगा भी कर सकते हैं।     

इसे भी पढ़ें- सर्दी के मौसम में क्यों बढ़ जाता है हार्ट अटैक का खतरा? कार्डियोलॉजिस्ट से जानें कारण और बचाव

2. पानी का सेवन कम न करें 

सर्द‍ियों में पानी का सेवन कम हो जाता है। लेक‍िन हर द‍िन कम से कम 2 से 3 लीटर पानी का सेवन करें। ड‍िहाइड्रेशन के कारण मेटाबॉल‍िज्‍म खराब हो जाता है। हार्ट के मरीजों को सर्द‍ियों में ऐसा खाने चुनना चाह‍िए जो आसानी से पच जाए। ज्‍यादा तेल वाला खाना न खाएं। इसके अलावा मीठी चीजों का सेवन भी कम से कम करें।    

3. वजन को न‍ियंत्रण में रखें 

अमेर‍िकन हार्ट एसोस‍िएशन के मुताब‍िक, मोटापे के कारण हार्ट की बीमारी का जोख‍िम बढ़ जाता है। हार्ट को स्‍वस्‍थ्‍य रखने के ल‍िए सर्द‍ियों के द‍िनों में मोटापे को बढ़ने न दें। मोटापा कम करने के ल‍िए डाइट और कैलोरीज पर गौर करें। पोर्शन साइज कंट्रोल करें। अपनी प्‍लेट में सभी जरूरी पोषक तत्‍वों को शाम‍िल करें। प्‍लेट में ज‍ितने रंग के आहार होंगे, आपका खाना उतना हेल्‍दी होगा। जंक फूड का सेवन पूरी तरह से बंद कर दें।        

4. पोटैशियम युक्‍त चीजों का सेवन करें 

हार्ट को हेल्‍दी रखने के ल‍िए पोटैश‍ियम का सेवन फायदेमंद माना जाता है। पोटैश‍ियम खट्टे फल और हरी पत्तेदार सब्जियां में पाया जाता है। सर्दि‍यों में पालक का सेवन करें। पालक का साग या सूप पी सकते हैं। इससे कोलेस्‍ट्रॉल का स्‍तर कंट्रोल करने में मदद म‍िलेगी। कोलेस्‍ट्रॉल को कंट्रोल रखकर हार्ट के जोख‍िम को कम क‍िया जा सकता है।

5. शरीर को गरम रखें 

ठंड के द‍िनों में हार्ट के मरीजों को स्‍वस्‍थ्‍य रहने के ल‍िए खुद को गरम रखना चाह‍िए। शरीर के तापमान को गरम रखने के ल‍िए गरम कपड़े पहनें। बाहर न‍िकलने से पहले कान, मुंह और नाक को अच्‍छी तरह से ढक लें। इसके अलावा ज्‍यादा बाहर जाने से बचें। ज‍िन लोगों की उम्र ज्‍यादा होती है, उनका मेटाबॉल‍िज्‍म धीमा हो जाता है और हार्ट को कार्य करने में अड़चन आती है। मेटाबॉल‍िज्‍म रेट ग‍िरने के कारण शरीर को गरम रखना मुश्‍क‍िल हो जाता है। ऐसे में शरीर बीमार‍ियों का श‍िकार बन जाता है।

अगर आप हार्ट की क‍िसी भी बीमारी से पीड़‍ित हैं, तो असामान्‍य लक्षणों पर गौर करें। दर्द या चेस्‍ट में अड़चन महसूस होने पर डॉक्‍टर से सलाह लें।   

Disclaimer