कोरोनावायरस से बचने के लिए ऐसे करें अपने घरों की सफाई, जानें किन चीजों को साफ करना है बेहद जरूरी

वायरस से दूषित सतहों को अगर कोई व्यक्ति छूता है और फिर उनकी नाक, मुंह या चेहरे को छूता है, तो संक्रमण तेजी से फैल सकता है।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Mar 19, 2020Updated at: Apr 19, 2021
कोरोनावायरस से बचने के लिए ऐसे करें अपने घरों की सफाई, जानें किन चीजों को साफ करना है बेहद जरूरी

कोरोनोवायरस महामारी जैसे-जैसे दुनिया भर में फैलती जा रही है, यह समझने का एक अच्छा समय है कि सफाई कैसे बीमारी के प्रसार को रोकने में मदद कर सकती है और आप अपने घर में संक्रमण के जोखिम को कम करने के लिए क्या कर सकते हैं। पहले कोरोनावायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में थूक लार या अन्य शारीरिक तरल पदार्थ की छोटी बूंदों के माध्यम से प्रेषित होता था, जो खांसी या छींक के बाद हवा में तैरते हैं। लेकिन दूसरी लहर में फैल रहे कोरोना वायरस के हवा में फैलने के भी संकेत वैज्ञानिकों को मिले हैं। इसलिए कोरोना के संक्रमण का डर सिर्फ आपके घर के बाहर ही नहीं है, बल्कि घर के अंदर भी है। दरअसल दूषित वस्तुएं और सतहें भी बीमारी के संक्रमण में महत्वपूर्ण हो सकती हैं। इसलिए, अगर आपके घर में किसी को वायरस होने का खतरा है, तो सतहों पर संक्रमण की मात्रा को कम करने के लिए सफाई करने से कोरोनावायरस के जोखिम को कम करने में मदद मिल सकती है।

insidecovid19 

आम सफाई (Cleaning) और कीटाणुओं की सफाई (Disinfection) में क्या अंतर है?

आम सफाई और कीटाणुओं को मारने वाली सफाई के बीच एक बड़ा अंतर होता है। आम सफाई का मतलब है शारीरिक रूप से कार्बनिक पदार्थ जैसे कीटाणुओं और गंदगी को सतहों से हटाना। जबकि कीटाणु की सफाई का मतलब है सतहों पर कीटाणुओं को मारने के लिए रसायनों यानी कि केमिकल्स का उपयोग करना। पर ऐसा नहीं है कि सफाई जरूरी नहीं है क्योंकि आम सफाई से कार्बनिक पदार्थ कीटाणु को मारने की कीटाणुनाशक क्षमता को बाधित या कम कर सकता है।

घर में कोरोनोवायरस कब तक जीवित रहेगा?

ये तो निश्चित नहीं हैं कि कोरोनावायरस सतहों पर कितने समय तक जीवित रह सकते हैं पर आम तौर कोई भी वायरस कुछ घंटों ये लेकर दिनों तक भी जीवित रहते हैं। दरअसल वायरस का जीवन   तापमान, आर्द्रता और सतह पर भी निर्भर करता है। इसलिए अगर आपके घरों में लगातार सफाई नहीं हो रही है या कोई जगह गीली है तो वहां वायरस जरूर हो सकता है।

घर में क्या -क्या दूषित हो सकते है?

जब कोई खांसता है या छींकता है, खासकर अगर वे अपना मुंह नहीं ढकते हैं, तो यह संभावना है कि उनके करीब की सभी जहगें दूषित होगी। उसके बाद वहां रखी चीजों को छूने से हाथ अक्सर रोगजनकों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर स्थानांतरित करने के लिए जिम्मेदार होते हैं, इसलिए जिन वस्तुओं को लोग अक्सर छूते हैं, वे दूषित होने का सबसे बड़ा खतरा होता है।बार-बार छुआ जाने वाले आइटम में 

  • -टीवी रीमोट
  • -फ्रिज के दरवाजे
  • -रसोई की अलमारी
  • - रसोई की सतह
  • -नल और दरवाजे के हैंडल शामिल हो सकते हैं। 
  • -फोन और आईपैड 
insidecleaning

इसे भी पढ़ें: आपके फेवरिट बॉलीवुड स्टार्स बता रहे हैं कोरोना वायरस को रोकने का तरीका, देखें किसने क्या कहा

सफाई के लिए क्या और कैसी चीजों का उपयोग करना चाहिए?

वायरस एक नाजुक संरचना है और यह पर्यावरण में कमजोर है। साबुन सहित गर्मी और डिटर्जेंट, दोनों इसे कार्य करना बंद कर सकते हैं। इसलिए आप इन चीजों को ऐसे साफ कर सकते हैं।

दूषित सतहोंं की सफाई

घर की सभी सतहें, जैसे कि फर्श और रसोई की अलमारी इत्यादि। आप इन्हें आम घरेलू कीटाणुनाशक से साफ कर सकते हैं, जो कि वायरस को बढ़ने से एक हद तक रोक सकता है। वहीं एल्कोहल आधारित चीजों का इस्तेमाल करें, तो ये सफाई और बेहतर हो सकती है। पर सफाई के बाद अपने हाथों को धोना याद रखें और अपनी आंखों, मुंह या नाक को छूने से बचें। सफाई के उपयोग करने के लिए कई विकल्प हैं, जिसमें कागज तौलिया, कपड़ा या डिस्पोजेबल पोंछे आदि शामिल हैं।

इसे भी पढ़ें: Coronavirus: हाथ की घड़ी, अंगूठी और चूड़ियों पर भी जमा हो सकता है कोरोना वायरस, सिर्फ हाथ धोना नहीं पर्याप्त

"S" के आकार में सफाई करना है जरूरी

आप कैसे साफ करते हैं यह महत्वपूर्ण है। सफाई करते समय "पुनरावृत्ति" न करें यानी कि जहां से सफाई की नीचे आए और फिर वहीं चले गए। सतह के एक तरफ से दूसरी तरफ काम करने से इसे साफ करने के लिए "S" आकार का उपयोग करें। अगर आप एक कपड़े का पुन: उपयोग कर रहे हैं, तो इसे बाद में धोना याद रखें और इसे सूखने दें। सामान्य वाशिंग लीक्विड के साथ वॉशिंग मशीन में कपड़े धोने के लिए भी वायरस को मारने की संभावना होती है पर अगर आप सफाई के लिए गर्म पानी का इस्तेमाल करें, तो वो ज्यादा बेहतर होगी।

व्यंजन और कटलरी

गर्म पानी और डिटर्जेंट से धोना व्यंजन और कटलरी के लिए ठीक है। एक डिशवॉशर और भी बेहतर है, क्योंकि यह गर्म पानी का उपयोग कर सकता है और आपके हाथ भी इससे साफ रहेंगे।

कपड़ा और लिनन

दूषित कपड़े धोने के लिए गर्ण पानी का इस्तेमाल करें और सुनिश्चित करें कि आप इसे पूरी तरह से सूखने दें। अगर कोई व्यक्ति बीमार है, उससे कपड़े धोना अन्य लोगों की वस्तुओं से धोने के लिए गर्म या गुनगुने पानी का इस्तेमाल करें। वहीं अगर आप दूषित वस्तुओं जैसे तौलिया या चादर को साफ कर रहे हैं, तो धोने से पहले उन्हें हिलाने से बचें, ताकि अन्य सतहों के दूषित होने का खतरा कम हो। वहीं सबसे ज्यादा जरूरी बात ये ध्यान रखें कि किसी भी दूषित कपड़े धोने के तुरंत बाद अपने हाथ धोना याद रखें।

Read more articles on Miscellaneous in Hindi

Disclaimer