नया टूथब्रश खरीदते समय किन बातों का रखें ध्यान? डेंटिस्ट से जानें मुंह को स्वस्थ रखने में टूथब्रश की अहमियत

बाजार से ऐसे ही कोई भी टूथब्रश न खरीद लाएं। सही टूथब्रश का चुनाव करें। सही टूथब्रश आपके दांतों को लंबे समय तक स्वस्थ रख सकता है।

Meena Prajapati
Written by: Meena PrajapatiPublished at: Apr 08, 2021Updated at: Apr 08, 2021
नया टूथब्रश खरीदते समय किन बातों का रखें ध्यान? डेंटिस्ट से जानें मुंह को स्वस्थ रखने में टूथब्रश की अहमियत

मुंह की सफाई के लिए टूथब्रश का प्रयोग किया जाता है। अगर सही टूथब्रश का चुनाव नहीं किया तो आपके दांतों की समस्याएं आपको डायबीटिज या हृदय रोगों का रोगी भी बना सकती हैं। मुंह की सफाई केवल दांतों तक के लिए सीमित नहीं है बल्कि इससे हमारी शारीरिक और सामाजिक हेल्थ भी प्रभावित होती है। मुंह की ठीक से सफाई नहीं होने पर मुंह से बदबू आती है, मसूड़ों से खून निकलता है। मसूड़े कमजोर होते हैं। दांत निकलने लग जाते हैं। इन समस्याओं से बचना है तो दांतों को साफ करना बेहद जरूरी है। दांतों को साफ करने के लिए एक सही टूथब्रश का होना बहुत जरूरी है।

Inside1_howtochoosetoothbrush

अमूमन लोग ओरल हाइजीन (Oral hygiene benefits ) को गंभीरता से नहीं लेते हैं। यही वजह है कि वे बाजार से कोई भी टूथब्रश खरीद लाते हैं। मुंबई के गर्वमेंट डेंटल हॉस्पिटल में सहायक प्रोफेसर और डेंटिस्ट डॉ. मुसद्दिक जमाल ने बताया कि आपको सही टूथब्रश का चुनाव (How to choose right toothbrush) कैसे करना चाहिए। साथ ही यह भी बताया कि एक टूथब्रश की उम्र कितनी होती है, उसे कैसे डिस्पोज (How to disposed toothbrush) करना चाहिए। तो आइए जानते हैं विस्तार से।

क्यों जरूरी है सही टूथब्रश का चुनाव

प्रोफेसर और डेंटिस्ट डॉ. मुसद्दिक जमाल का कहना कि अगर सही टूथब्रश का चुनाव नहीं होगा तो दांतों की सफाई ठीक से नहीं होगी। अगर आप मंजन से या उंगलियों से ब्रश कर रहे हैं तो दांतों की सफाई ठीक से नहीं होगी। जब सफाई ठीक से नहीं होगी तो दांतों पर मैल जमेगा। मैल जमने से मसूड़ों से खून निकलेगा, बदबू आएगी, दांत की हड़्डी कम होगी। दांत हिलने लगेंगे। अगर आपने बहुत हार्ड ब्रश इस्तेमाल कर लिया तो दांत घिसने लग जाते हैं। सेंसटिविटी हो जाती है। यही वजह है कि हमें सही ब्रश चुनना चाहिए।

ऐसे चुनें सही टूथब्रश (How to choose right toothbrush)

सही टूथब्रश को चुनने के लिए जरूरी है कि हमें उसके प्रकार के बारे मामूल हो। तो यहां डॉक्टर जमाल ने टूथब्रश के प्रकार के साथ बताया कि किसको कैसे टूथब्रश चुनना चाहिए।

मध्यम आकार टूथब्रश (Medium Size Toothbrush)

स्वस्थ लोगों के लिए मीडियम साइज टूथब्रश होता है। इस टूथब्रश में ब्रिसल (Bristle) मुलायम होता है।

मुलायम टूथब्रश (Soft toothbrush)

बुजुर्गों के लिए मुलायम ब्रिसल टूथब्रश होते हैं। जिन लोगों को मसूड़ों की दिक्कत होती है उनके लिए भी सॉफ्ट ब्रिसल वाले टूथब्रश दिए जाते हैं।

सख्त ब्रिसल टूथब्रश (Hard Bristle toothbrush)

हार्ड ब्रिसल टूथब्रश बहुत कम इस्तेमाल होते हैं। इनका प्रयोग तब किया जाता है जब किसी के दांत टेढ़े-मेढ़े होते हैं। जिन लोगों के दांत टेढ़े-मेढ़े होते हैं, उनके सभी दांतों तक टूथब्रश नहीं पहुंच पाता, इसलिए उन्हें कुछ समय के लिए हार्ड टूथब्रश का प्रयोग करने को कहा जाता है। डॉ. जमाल का कहना है कि हार्ड ब्रश 5 से 6 महीने तक ही इस्तेमाल करने चाहिए।

अगर कोई व्यक्ति हार्ड ब्रश ज्यादा इस्तेमाल करता है तो दांतों का इनेमल घिस जाता है और सेंसटिविटी हो जाती है। डॉ. जमाल ने बताया कि अगर दांत ज्यादा टेढ़े मेढ़े हैं तो डेंटिस्ट से मिलें।

इसे भी पढ़ें : दांत ही नहीं टूथब्रश का भी रखें सही ख्याल, इन 5 कारणों से हो सकते हैं मुंह के कई रोग

Inside4_howtochoosetoothbrush

टूथब्रश की कीमत

जब आप टूथब्रश खरीद रहे हैं तो ध्यान रहे कि उसकी कीमत कितनी है। हालांकि आजकल इकोफ्रेंडली टूथब्रश भी आ गए हैं, तो आप वे भी खरीद सकते हैं। तो वहीं, इलेक्ट्रिक टूथब्रश भी बाजार में हैं। आप अपने दांतों के अनुसार टूथब्रश खरीदें।

टूथब्रश की प्रभावशीलता

ऐसे टूथब्रश खरीदें, जो आपके दांतों पर पीलापन न जमने दे। आपके मसूड़े स्वस्थ रहें। बहुत बार देखने में आता है कि लोग नियमित रूप से ब्रश करते हैं लेकिन फिर भी उनके दांत साफ नहीं होते, उन्हें फिर भी दांतों और मसूड़ों से संबंधित परेशानियां होती हैं, ऐसी स्थिति में डॉक्टर से मिलकर तय कर लें कि कौन सा टूथब्रश उनके लिए सही है। नहीं तो ओरल प्रॉब्लम्स बढ़ती चली जाएंगी। 

 बच्चों के लिए ऐसे चुनें टूथब्रश (Choose toothbrushes for children)

  • डॉक्टर जमाल ने बताया कि छोटे बच्चे बहुत कोमल होते हैं। वे ज्यादा हार्ड चीजें सह नहीं सकते। इसलिए उन्हें हमेशा छोटे साइज के टूथब्रश देने चाहिए। 
  • बच्चों के लिए छोटे साइज में सॉफ्ट टूथब्रश आते हैं। उन्होंने बताया कि 12 साल तक के बच्चों के लिए छोटे आकार के और मुलायम आकार के टूथब्रश होने चाहिए। 
  • जब बच्चा 15 साल का हो जाता है तब उसे मीडियम साइज टूथब्रश देना चाहिए। 
  • जो टूथब्रश बिल्कुल सीधा हो और मुंह में डालने पर मुड़ता न हो, उसे न लें। जो टूथब्रश मुंह में जाने के मुड़ सके उसे खरीदें।
  • बच्चों के लिए ऐसे टूथब्रश खरीदें जिनके साथ वे खेल-खेल में दांत साफ कर सकें।

Inside3_howtochoosetoothbrush

कितनी होती है एक टूथब्रश की उम्र

डॉक्टर जमाल ने बताया कि बहुत से लोग एक टूथब्रश को 5 से छह साल तक चलाते हैं, जबकि यह ठीक नहीं है। उन्होंने बताया कि कोई भी ब्रश तीन से चार महीने तक इस्तेमाल करना चाहिए। जब तीन से चार महीने हो जाएं तब देखें कि टूथब्रश के ब्रिसल यानि ब्रश के ऊपर वाला हिस्सा, जिससे आप ब्रश करते हैं, वह सही स्थिति में हैं या नहीं। अगर ब्रिसल सीधे हैं तो वह सही है। अगर टेढ़े हो जाते हैं, नीचे झुक जाते हैं या फैल जाते हैं तो इसका मतलब है कि मतलब है कि उस टूथब्रश को बदल देना चाहिए।

इसे भी पढ़ें : दांतों की मैल (प्‍लाक) हटाने में ज्‍यादा उपयोगी है इलेक्ट्रिक टूथब्रश, जानें इसके अन्‍य फायदे

टेढ़े दांत वाले लोगों के लिए क्या कहते हैं एक्सपर्ट

डॉक्टर जमाल का कहना है कि जिन लोगों के दांत टेढ़े होते हैं उन्हें दांत साफ करने में दिक्कत होती है। ठीक से दांत साफ न होने की वजह से मसूड़ों से खून बहने की समस्या होने लगती है। इसके अलावा अन्य ओरल प्रॉब्लम्स भी घेरने लगती हैं। ऐसे लोगों को डॉक्टर स्केलिंग एंड पॉलिशिंग के लिए डॉक्टर कहते हैं। 

दांत साफ करते समय ना करें ये गलतियां 

  • ज्यादातर लोग दांत साफ करते समय दाएं बाएं ब्रश करते हैं। जबकि ब्रश करने का सही तरीका ऊपर और नीचे हैं। ऊपर नीचे दांत साफ करने से दांतों में जमी गंदगी निकलती है। 
  • लोग सीधे हाथ (Right Hand) से टूथब्रश करते हैं। सीधे हाथ से ब्रश करने की वजह से उल्टी तरफ वाले दांतों (Left side teeth) पर ज्यादा दबाव पड़ता है। इसलिए लेफ्ट साइड के दांत घिस जाते हैं। लेफ्ट साइड के दांतों की तरफ से ज्यादा सफाई होगी तो ब्लीडिंग गम होगी।
  • दांतो को आराम से ब्रश करें।

दांतों की सही सफाई के लिए जरूरी है कि सही टूथब्रश का चुनाव। सही टूथब्रश के लिए यहां सुझाए उपाय आपको मदद करेंगे। जब टूथब्रश सही होगा तो मुंह से संबंधित परेशानियां कम होंगी।

Read More Articles On Miscellaneous In Hindi

 
Disclaimer