एक्सरसाइज के दौरान सही तरीके से सांस लेने से बढ़ जाते हैं फायदे, जानें किस एक्सरसाइज में कैसे लें सांस

सांस लेने का सही तरीका पता हो, तो आपको एक्सरसाइज और योगासन का दोगुना फायदा मिलने लगता है। जानें किस अवस्था में आपको किस तरह सांस लेना चाहिए।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Sep 03, 2020
एक्सरसाइज के दौरान सही तरीके से सांस लेने से बढ़ जाते हैं फायदे, जानें किस एक्सरसाइज में कैसे लें सांस

सांस तो हम सभी लेते हैं क्योंकि बगैर सांस लिए जिंदा रहना संभव नहीं है। लेकिन हम में से ज्यादातर लोग गलत तरीके से सांस लेते हैं। सामान्य स्थिति में तो लोग सांस लेने में गलती करते ही हैं, लेकिन एक्सरसाइज के दौरान और भी बड़ी गलतियां करते हैं, जिसके कारण उनके शरीर को एक्सरसाइज का भरपूर लाभ नहीं मिल पाता है। सांस लेना हम में से किसी को भी सिखाया नहीं जाता है क्योंकि ये एक सहज प्रक्रिया है, जो हमारा जीवन शुरू होने के साथ ही अपने आप शुरू हो जाती है। लेकिन फिर भी आपको यह बताना जरूरी है कि सांस लेने का भी एक सही तरीका होता है, जिसे सीखना पड़ता है। यहां तक कि भारतीय योग तो सांस लेने के सही तरीके पर ही केंद्रित शारीरिक अभ्यास है।

अगर आप एक्सरसाइज के दौरान सही तरीके से सांस लें, तो इससे एक्सरसाइज के फायदे बढ़ सकते हैं। इसे ऐसे भी समझा जा सकता है कि एक्सरसाइज के दौरान गलत तरीके से सांस लेने से आपको एक्सरसाइज के सभी फायदे नहीं मिलते हैं। इसलिए हम आपको बता रहे हैं सामान्य स्थिति में सांस लेने का सही तरीका और अलग-अलग एक्सरसाइज के दौरान सांस लेने का सही तरीका।

right way of breathing

सामान्य स्थिति में सांस लेने का सही तरीका क्या है

अगर आप रोजमर्रा के काम कर रहे हैं यानी कोई हैवी वर्कआउट या भारी मेहनत वाला काम नहीं कर रहे हैं, तो आपको सांस नाक से लेना चाहिए, धीरे-धीरे लेकिन गहरी लेनी चाहिए। हम में से ज्यादातर लोग सामान्य स्थिति में उथली सांस लेते हैं। ध्यान रखें आप जितनी गहरी सांस लेंगे, आपके शरीर में उतनी ज्यादा ऑक्सीजन पहुंचेगी और आपका शरीर उतना ज्यादा स्वस्थ रहेगा। कुछ लोगों को शुरुआती दिनों में गहरी सांस लेने में अजीब लग सकता है और यह महसूस हो सकता है कि सांस लेने के दौरान उनका ध्यान भटक रहा है, लेकिन इसकी आदत लग जाने पर ये बिल्कुल वैसे ही सामान्य हो जाएगा, जैसे अभी आप उथली सांस लेते हैं।

इसे भी पढ़ें: पेट से सांस लेना क्यों माना जाता है फायदेमंद? जानें 4 कारण और पेट से सांस खींचने का सही तरीका

how to breathe correctly during exercise

दौड़ने और वर्कआउट के दौरान कैसे सांस लेना चाहिए

अगर आप दौड़ रहे हैं या आप कोई वर्कआउट कर रहे हैं, तो इसका अर्थ है कि आपका शरीर ज्यादा मात्रा में कैलोरीज बर्न कर रहा है और एनर्जी रिलीज कर रहा है। इसलिए ऐसे समय में आपको ज्यादा ऑक्सीजन की जरूरत पड़ती है। बिना ऑक्सीजन के कैलोरीज बर्न नहीं हो सकती हैं। इसलिए जब आप दौड़ते हैं या वर्कआउट करते हैं, तो आपकी सांस अपने आप ही तेज चलने लगती है। लेकिन इस दौरान ज्यादातर लोग मुंह खुला रखते हैं और मुंह से सांस लेते हैं, जबकि ये गलत तरीका है। मुंह से सांस लेने पर बहुत सारी गंदगी, जर्म्स और बैक्टीरिया सीधे आपके फेफड़ों और खून में पहुंच सकते हैं। चूंकि आपके नाक में हवा को फिल्टर करने की व्यवस्था होती है, इसलिए एक्सरसाइज के दौरान आपको हमेशा नाक से सांस लेनी चाहिए और मुंह से छोड़नी चाहिए।

योगासन के दौरान कैसे सांस लेना चाहिए

योगासन में तो सांस लेना ही सबसे महत्वपूर्ण है। प्राणायाम में सांस लेने का ही अभ्यास किया जाता है। इसलिए योगासन के दौरान आपको अलग तरह से सांस लेने की जरूरत पड़ती है। ज्यादातर योगासनों में निर्देश होता है कि गहरी सांस खींचें और छोड़ें। इस दौरान भी आपको ऊपर बताए गए नियम का ही पालन करना है, यानी नाक से सांस खींचें और मुंह से छोड़ें। लेकिन अंतर यह है कि एक्सरसाइज के दौरान आप सांस तुरंत खींचते हैं और तुरंत छोड़ते हैं, जबकि योगासन के दौरान आपको सांस खींचने के बाद इसे शरीर में कुछ सेकेंड्स तक रोककर रखना चाहिए, उसके बाद छोड़ना चाहिए। इस तरह सांस लेने से आपका पेट फूलता और सिकुड़ता है, जिससे अंदरूनी अंगों की भी एक्सरसाइज हो जाती है।

इसे भी पढ़ें: इस तरह सांस लेने से आपके नाक में ही खत्म हो जाते हैं ज्यादातर वायरस और बैक्टीरिया, बीमारियों का खतरा होगा कम

how to breathe properly during yoga

सही तरीके से सांस लेने के फायदे

  • अगर ऊपर बताए गई सभी स्थितियों में आप सही तरीके से सांस लेते हैं, तो आपका शरीर ज्यादा मात्रा में कैलोरीज तो बर्न करता है।
  • इन तरीकों से सांस लेने से आपका मानसिक तनाव कम होता है।
  • खाने में खाए गए सभी पोषक तत्व शरीर के सभी अंगों तक बराबर पहुंचते हैं, जिससे शरीर स्वस्थ रहता है।

Read More Articles on Exercise and Fitness in Hindi

 

Disclaimer