Doctor Verified

ब्‍लड कैंसर में क्या परेशानी होती है? डॉक्टर से जानें कैसे शरीर पर पड़ता है असर

ब्‍लड कैंसर की कोशिकाएं तेजी से शरीर को ग‍िरफ्त में लेती हैं। इससे शरीर में कई प्रभाव पड़ते हैं। जानते हैं ब्‍लड कैंसर से पड़ने वाले बुरे प्रभाव। 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Dec 30, 2022 19:30 IST
ब्‍लड कैंसर में क्या परेशानी होती है? डॉक्टर से जानें कैसे शरीर पर पड़ता है असर

ब्‍लड कैंसर जानलेवा बीमारी है। ये शरीर को बुरी तरह से प्रभाव‍ित करती है। ब्‍लड कैंसर होने पर खून में असामान्‍य ब्‍लड सेल्‍स बनने लगते हैं। ब्‍लड कैंसर होने पर स्‍वस्‍थ्‍य ब्‍लड सेल्‍स का प्रभाव कम हो जाता है। हेल्‍दी ब्‍लड सेल्‍स का प्रभाव कम होने से शरीर, बीमार‍ियों से नहीं लड़ पाता। इस स्‍थ‍िति‍ में शरीर संक्रमण और बीमार‍ियों का घर बन जाता है। इस लेख में हम जानेंगे क‍ि आख‍िर ब्‍लड कैंसर, शरीर के अंगों को कैसे प्रभाव‍ित करता है। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की।

blood cancer affects on body

1. त्‍वचा पर ब्‍लड कैंसर का प्रभाव 

ब्‍लड कैंसर के कारण शरीर में रैशेज की समस्‍या हो जाती है। ऐसा प्‍लेटलेट्स कम होने के कारण होता है। ब्‍लड कैंसर होने पर त्‍वचा का रंग बदल जाता है या गहरा हो जाता है। ब्‍लड कैंसर होने पर त्‍वचा में छोटे स्‍पॉट्स या पैचेस नजर आ सकते हैं। कुछ केस में ब्‍लड कैंसर होने पर मसूड़ों से खून आ सकता है।  

इसे भी पढ़ें- ब्लड कैंसर (Blood Cancer) के लक्षण, कारण, जांच और इलाज के तरीके

2. ब्‍लड कैंसर के कारण थकान होना 

ब्‍लड कैंसर होने पर शरीर में थकान महसूस होती है। रेड ब्‍लड सेल्‍स में ऑक्‍सीजन होती है। अगर शरीर में रेड ब्‍लड सेल्‍स की मात्रा कम है, तो आपको एनीम‍िया यानी खून की कमी हो सकती है। एनीमि‍या के कारण थकान, कमजोरी, सांस लेने में तकलीफ महसूस हो सकती है। एनीम‍िया के कारण बेहोश हो जाना या स‍िर में दर्द होने के लक्षण नजर आ सकते हैं।

3. बार-बार संक्रमण होना 

ब्‍लड कैंसर होने पर शरीर में बार-बार संक्रमण हो जाता है। ब्‍लड कैंसर के कारण वाइट ब्‍लड सेल्‍स कम हो जाते हैं। ये सेल्‍स कम होने के कारण शरीर को संक्रमण से लड़ने में मुश्‍क‍िल होती है। बार-बार संक्रमण के साथ ब्‍लड कैंसर से पीड़‍ित व्‍यक्‍त‍ि को बुखार भी आ सकता है। बुखार के अलावा खांसी, गले में खराश, ठंड लगने जैसे लक्षण भी महसूस हो सकते हैं।  

4. वजन कम होना 

शरीर में कैंसर सेल्‍स बढ़ने से शरीर का मेटाबॉलि‍ज्‍म धीमे हो जाता है। इससे मसल्‍स और फैट घट जाता है और वजन कम हो जाता है। ब्‍लड कैंसर से पीड़ि‍त मरीजों को खाने में भी द‍िक्‍कत होती है। भूख लगना कम हो जाता है ज‍िसके कारण भी मरीज का वजन कम हो जाता है।  

5. हड्ड‍ियों में दर्द होना 

ब्‍लड कैंसर होने पर पीठ, र‍िब्‍स या ह‍िप्‍स के ह‍िस्‍से में दर्द महसूस हो सकता है। ऐसे मरीजों को रात में पसीना भी ज्‍यादा आता है। ब्‍लड  कैंसर के मरीजों की गर्दन, आर्मप‍िट में गांठ महसूस हो सकती है। इन गांठ में दर्द महसूस नहीं होता। अगर शरीर के अंदर गांठ होगी, तो मरीज को सांस लेने में तकलीफ या अड़चन महसूस हो सकती है।     

ब्‍लड कैंसर के लक्षण नजर आने पर तुरंत डॉक्‍टर को द‍िखाएं। लेख पसंद आया हो तो शेयर करना न भूलें।

Disclaimer