मौसमी बीमारियों से बचने के लिए घर पर बनाएं एंटीबैक्टीरियल जूस, मिलेंगे कई फायदे

सर्दियों के बाद अब गर्मी की शुरुआत हो चुकी है। मौसम में बदलाव होने पर बुखार, जुकाम, खांसी और इंफेक्शन जैसी समस्याएं काफी बढ़ जाती हैं। मौसमी बीमारियों का खतरा उन लोगों को ज्यादा होता है, जिनकी इम्यूनिटी यानी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है। दरअसल

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Apr 15, 2019
मौसमी बीमारियों से बचने के लिए घर पर बनाएं एंटीबैक्टीरियल जूस, मिलेंगे कई फायदे

सर्दियों के बाद अब गर्मी की शुरुआत हो चुकी है। मौसम में बदलाव होने पर बुखार, जुकाम, खांसी और इंफेक्शन जैसी समस्याएं काफी बढ़ जाती हैं। मौसमी बीमारियों का खतरा उन लोगों को ज्यादा होता है, जिनकी इम्यूनिटी यानी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है। दरअसल मौसम बदलने पर वायरस और बैक्टीरिया ज्यादा एक्टिव हो जाते हैं। यही वायरस और बैक्टीरिया जुकाम, बुखार, दाद, खाज, खुजली आदि का खतरा बढ़ा देते हैं। अगर आप इन मौसमी बीमारियों से बचना चाहते हैं, तो एंटीबैक्टीरियल जूस का सेवन आपके लिए मददगार साबित हो सकता है। आइए आपको बताते हैं कि एंटीबैक्टीरियल जूस क्या है और इसे कैसे आप आसानी से घर पर ही बना सकते हैं।

क्या है एंटीबैक्टीरियल जूस

एंटीबैक्टीरियल यानी ऐसी चीजें जो बैक्टीरिया को पनपने और विकास करने से रोकती हैं। हमारे शरीर में होने वाले ज्यादातर सामान्य रोगों का कारण वायरस और बैक्टीरिया ही होते हैं। प्राकृतिक रूप से कुछ आहारों में एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं। इन एंटीबैक्टीरियल आहारों का रस निकालकर ही एंटीबैक्टीरियल जूस बनाया जाता है।

इसे भी पढ़ें:- ये 6 आयुर्वेदिक चीजें खाने से साफ होती है खून की गंदगी, रोगों से मिलेगा छुटकारा

कैसे बनाएं एंटीबैक्टीरियल जूस

घर पर एंटीबैक्टीरियल जूस बनाने के लिए आपको लहसुन, प्याज, अदरक और एक ग्लास पानी की जरूरत पड़ेगी। आइए जानें इसे कैसं बनाना है-

  • सबसे पहले लहसुन की 3-4 कलियां, अदरक और प्याज को छीलकर रख लें।
  • अब ग्राइंडर में इन तीनों सामग्रियों को डालकर बारीक पीस लें।
  • अगर ये आसानी से नहीं पिस रहे हैं, तो इसमें थोड़ा पानी मिला लें।
  • अब चाय छानने वाली छन्नी से इस पेस्ट के रस को एक ग्लास पानी में छान लें।
  • दिन के नाश्ते के 1 घंटे बाद या रात में सोने से पहले इसे एक ग्लास पीने से आपको मौमसी बीमारियां कभी छू नहीं पाएंगी।
  • अगर इसका स्वाद आपको पसंद नहीं आ रहा है, तो इसमें स्वादानुसार काला नमक मिला लें।
  • अगर आपको पहले से कोई मौसमी बीमारी जैसे- जुकाम, बुखार आदि है, तो इसे दिन में 2 बार पी सकते हैं।

रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ाता है ये जूस

ये खास आयुर्वेदिक जूस न सिर्फ आपको मौसमी बीमारियों और बैक्टीरिया से बचाता है, बल्कि आपके शरीर की रोगों से लड़ने की क्षमता भी विकसित करता है। कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता के कारण कैंसर का भी खतरा होता है। लहसुन में ऐसे गुण मौजूद होते हैं, जो कैंसर सेल्स को पनपने से रोकते हैं। इसलिए इसका सेवन आपके लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है।

इसे भी पढ़ें:- सेहत के लिए वरदान है एलोवेरा जूस, ब्लड प्रेशर, मोटापा और कोलेस्ट्रॉल करें कंट्रोल

क्यों फायदेमंद है ये जूस

लहसुन में एलिसिन नामक तत्व होता है, जो अपने एंटीबैक्टीरियल, एंटीवायरल, एंटीफंगल और एंटीऑक्सीडेंट गुणों के लिए जाना जाता है। इसमें मौजूद विटामिन सी, बी6 और दूसरे मिनरल्स इम्यून सिस्टम को मजबूत और संक्रमण से बचाव करते है। प्‍याज में भी एंटी बैक्‍टीरियल और एंटी वायरल गुण पाये जाते है। गर्मी में प्याज का सेवन करने से लू का खतरा दूर होता है। इसमें विटामिन सी, लोहा, गंधक, तांबे जैसे बहुमूल्‍य खनिज पाये जाते हैं, जिनसे शारीरिक शक्‍ति बढ़ती है। इसी तरह अदरक में ओलेओरेसिन नाम का एक कम्पाउंड पाया जाता है जो कफ और सर्दी की समस्या को दूर करने का काम करता है। इसमें पर्याप्त मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट होते हैं और यह एक बेहतरीन एंटी-वायरल और एंटी-बैक्टीरियल है। इसलिए इन तीनों हर्ब्स का जूस आपको कई तरह के रोगों से बचाने में सक्षम है।

Read More Articles On Ayurveda In Hindi

Disclaimer