क्या आपके बच्चे को भी है हकलाने या तुतलाने की आदत? इन 7 घरेलू उपायों से दूर करें ये समस्या

बच्चों में हकलाने की आदत अगर बढ़ जाए, तो इसका इलाज करना जरूरी रहता है। ताकि आगे चलकर यह समस्या उनके लिए शर्मिंदगी का कारण न बन जाए।

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Sep 16, 2021
क्या आपके बच्चे को भी है हकलाने या तुतलाने की आदत? इन 7 घरेलू उपायों से दूर करें ये समस्या

छोटे बच्चों का तुतलाकर या फिर हकलाकर बोलना आपको काफी अच्छा लग सकता है। लेकिन जैसे-जैसे बच्चा बड़ा होने लगता है, तो उनकी यही बोली हंसी मजाक का विषय बनने लगती है। ऐसे में बच्चों के साथ-साथ माता-पिता को भी शर्मिंदगी का सामना करना पड़ता है। अगर आपका बच्चा भी तुतलाकर या फिर हकलाकर बात करता है, तो लोगों के सामने इसे शर्मिंदगी का विषय न बनने दें। बल्कि शुरुआत में ही इसका घरेलू उपाय करें, ताकि धीरे-धीरे आपका बच्चा तुतलाने या फिर हकलाने की आदत को छोड़ सके। अमृत आयुर्वेदिक क्लीनिक के डॉक्टर श्रेय शर्मा बताते हैं कि कुछ घरेलू नुस्खों और आयुर्वेदिक तरीकों से बच्चों में तुलताने की परेशानी को दूर किया जा सकता है। चलिए जानते हैं आयुर्वेदाचार्य द्वारा बताए गए कुछ बेहतरीन नुस्खे-

1. आंवला 

मोटी जीभ की वजह से कुछ बच्चे तुतलाते या फिर हकलाते हैं, ऐसी स्थिति में बच्चों को आंवला चबाने के लिए दें। आंवला चबाने से जीभ पतली होती है, जिससे बच्चे की आवाज साफ निकल सकती है। लगातार कुछ दिनों तक अगर आप अपने बच्चे को आंवला चबाने के लिए देंगे, तो इससे उनके हकलाने की आदत काफी हद तक ठीक हो सकती है। इसके लिए आप बच्चों क पके हुए आंवले या फिर आंवला कैंडी भी चूसने के लिए दे सकते हैं। 

2. रोजाना दें मिश्री

 ज्यादा मीठा खासतौर पर चीनी खाने से तुतलाने या फिर हकलाने की आदत बढ़ती है। अगर आपका बच्चा ज्यादा चीनी या फिर मीठा खाना पसंद करता है, तो उन्हें चीनी के बजाय मिश्री खाने के लिए दें। मिश्री खाने से जुबां साफ होती है। साथ ही इससे चीनी खाने की क्रैविंग भी कम होती है। ऐसे में आपका बचे की जीभ भी साफ होगी और चीनी से होने वाली अन्य परेशानियां भी दूर रहेंगी। 

इसे भी पढ़ें - ब्रेस्ट साइज बढ़ाने के लिए एलोवेरा का इन 4 तरीकों से करें इस्तेमाल

3. सौंफ और गाय का दूध

बच्चों में हकलाने की समस्या को दूर करने के लिए आप सौंफ और गाय के दूध का भी इस्तेमाल कर सकते हैँ। इसके लिए 5 ग्राम सौंफ लें। इसमें करीब 1 गिलास पानी डालकर इसे करीब आधा होने तक उबालें। जब पानी आधा रह जाए, तो इसे ठंडा होने दें। बाद में इसमें 50 ग्राम करीब मिश्री और 250 मिली गाय का दूध मिक्स करके बच्चे को पिलाएं। लगातार कुछ दिनों तक इस मिश्रण को देने से बच्चे की स्पष्ट बोली निकल सकती है।

4. शहद और अदरक

बच्चों में हकलाने और तुतलाने की समस्या को दूर करने के लिए आप अदरक और शहद का सेवन करवा सकते हैं। अदरक और शहद स्वास्थ्य के लिए लाभकारी माने जाते हैं। इसके लिए थोड़ा सा शहद लें। अब इसमें अदरक के रस की कुछ बूंदे डालकर बच्चों को चटाएं। इसके बाद एक घूंट करीब गर्म पानी बच्चे को पिलाएं। इससे बच्चों में हकलाने की आदत दूर हो सकती है। 

5. ब्राह्मी का करें इस्तेमाल 

आयुर्वेदाचार्य बताते हैं कि बच्चों में हकलाने की समस्या को दूर करने के लिए ब्राह्मी काफी फायदेमंद हो सकता है। ब्राह्मी को आप सलाद के रूप में बच्चों को दे सकते हैं। इसके अलावा ब्राह्मी की पत्तियों के रस को गाय के घी में मिलाकर इसे हल्का सा गर्म करके बच्चों को दें। इससे बच्चों में तुतलाने की आदत दूर हो जाएगी। 

 

इसे भी पढ़ें - टखनों का कालापन दूर करने के लिए अपनाएं ये 5 घरेलू नुस्खे

6. दूध और छुहारा 

दूध और छुहारा स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। यह न सिर्फ बच्चे को चुस्त दुरुस्त करने में मददगार हो सकता है, बल्कि इससे बच्चों में तुतलाने की आदत भी दूर हो सकती है। नियमित रूप से 1 गिलास दूध में छुहारा उबालकर देने से बच्चों की आवाज साफ हो सकती है। इससे आपका बच्चा कुछ ही दिनों में ठीक हो सकता है।  

7 गाय का घी

रोजाना गाय का घी चटाने से भी बच्चों में तुतलाने और हकलाने की आदत दूर हो सकती है। इससे बच्चे के जीभ का मूवमेंट सही तरीके से होता है। लेकिन ध्यान रखें कि बच्चे को देसी घी चटाने के 1 घंटे तक कुछ भी न खिलाएं। 

बच्चों के हकलाने और तुलताने की आदत को दूर करने के लिए आप इन देसी नुस्खों का सहारा ले सकते हैं। लेकिन ध्यान रखें कि अगर आपका बच्चा काफी ज्यादा हकला रहा है, तो उसे तुरंत डॉक्टर के पास ले जाएं। ताकि उसके हकलाने का कारणों का पता चल सके और समय पर इलाज किया जा सके।

Read More Articles on Home Remedies in Hindi

Disclaimer