Home Remedies: सर्दियों के मौसम में बढ़ जाता है सोरायसिस का खतरा, इन 5 उपायों से करें बचाव

सोरायसिस एक चर्म रोग है, जिसमें की आपके हाथ-पैर, पीठ, सिर और कोहनी व घुटनों में लाल चखत्‍ते और पपड़ीदार स्किन होन लगती है।

Sheetal Bisht
Written by: Sheetal BishtUpdated at: Oct 27, 2021 15:11 IST
Home Remedies: सर्दियों के मौसम में बढ़ जाता है सोरायसिस का खतरा, इन 5 उपायों से करें बचाव

3rd Edition of HealthCare Heroes Awards 2023

सर्दी के मौसम में खांसी-जुखाम या बुखार को सबसे अधिक होने वाली बीमारियों में गिना जाता है। क्‍योंकि अक्‍सर ठंड के चलते यह आम बीमारियां हैं, जो हमें जल्‍दी पकड़ जाती हैं। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि सर्दी के मौसम आते ही सोरायसिस का खतरा भी अधिक हो जाता है। सोरायसिस त्‍वचा पर होने वाला रोग है, जिसमें आपकी त्‍वचा पर रैसेज, लाल चखत्‍ते और दानों के साथ खुजली की समस्‍या होती है। यह आम तौर पर स्‍कैल्‍प, हाथ-पैरों और पीठ पर अधिक होता है। आइए आज हम आपको बताते हैं, सोरायसिास क्‍या हे और सर्दियों सोरायसिस की समस्‍या से आप कैसे बचाव करें। 

सोरायसिस क्‍या है और कैसे होता है?

सोरायसिस एक चर्म रोग है, जिसमें आपकी त्‍वचा में पपड़ी, रैसेज, खुजली और दाने जैसी समस्‍याएं होती हैं। इस दौरान आपकी त्‍वचा इतनी कमजोर पड़ जाती है कि नई त्‍वचा बनने से पहले ही खराब होने लगती है। सोरायसिस में आपकी स्किन पर लाल चखत्‍ते और खून भी निकलने लगता है। यह सोरायसिस के आम लक्षण हैं। सोरायसिस आपके हार्मोनल बदलाव, कमजोर इम्‍यून सिस्‍टम और आनुवांशिक कारणो से हो सकता है। इसके अलावा, ठंड की स्थिति में सोरायसिस का खतरा बढ़ता है, क्‍योंकि इस दौरान वैसे भी आमतौर पर स्क्नि में ड्राईनेस होती है। 

सोरायसिस के लक्षण 

  • त्‍वचा पर लाल चखत्‍ते
  • खुजलीदार त्‍वचा और छिल्केदार त्वचा
  • त्‍वचा पर पपड़ियां जमना
  • कोहनी, घुटनों, कमर पर ड्राईनेस और दाद दिखना 

सोरायसिस से बचाव के घरेलू उपाय 

1. संतुलित खाना है जरूरी 

सोरायसिस की समस्‍या से बचाव के लिए जंक फूड्स को त्‍यागक‍र हेल्‍दी डाइट लें। जिसमें आप फल, हरी पत्तेदार सब्जियां, दालें, करेले का जूस, नट्स, मछली, ब्रोकली और ओमेगा-3 फैटी एसिड्स और विटामिन डी से भरपूर खाना खाएं। 

2. हल्दी है सोरायसिस का रामबाण इलाज 

श्री राम सिंह हॉस्पिटल एंड हार्ट इंस्टीट्यूट नई दिल्ली के कंसल्टेंट डर्मेटोलॉजिस्ट और डायरेक्टर ऑफ स्किन लेजर सेंटर नोएडा डॉक्टर टी.ए राणा (Consultant Dermatologist Dr. T.A.Rana) बताते हैं कि हल्‍दी में मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण त्वचा के लिए फायदेमंद हैं। इसलिए यह सोरायसिस की समस्‍या से निपटने के लिए हल्‍दी एक बेहतरीन उपाय है। इसके लिए आप हल्‍दी का पेस्‍ट तैयार करें और इसे हल्‍की आंच में गर्म करें। इसके बाद आप सोने पहले सोरयसिस से प्रभावित हिस्‍से में इस पेस्‍ट को लगाएं। यह आपको खुजली को कम करने और स्किन को डैमेज होने से बचाएगा।

इसे भी पढें: कॉमन कोल्‍ड से बचाव में मददगार हैंं दादी मां के ये 6 घरेलू नुस्‍खे, एक बार आजमा के जरूर देखें

3. गुनगुने पानी से नहाएं

सोरायसिस की समस्‍या में राहत पाने के लिए आप रात को सोने से पहले गुनगुने पानी में सेंधा नमक, गुलाबजल, मिनरल ऑयल और जैतून का तेल मिलाकर नहाएं। इससे आपकी त्‍वचा पर होने वाली खुजली कम होगी।

4. मॉइश्चराइजर लगाना न भूलें

नहाने के बाद हमेशा स्किन को मॉइश्चराइज करना चाहिए। इससे आपकी स्किन सॉफ्ट रहती है और किसी तरह की ड्राईनेस और खुजली नहीं होती है। खासकर अगर आपको सोरायसिस की समस्‍या है, तो आप आप नहाने के बाद और सोने से पहले अपनी स्किन को माइश्चराइजर करना कभी न भूलें। क्‍योंकि यह आपकी रातों की नींद उड़ा सकता है।  

5. एक दिन में 2 लीटर पानी पिएं

पानी पीना आपकी संपूर्ण सेहत के लिए अच्‍छा होता है। इससे आपका पूरा शरीर हाइड्रेट रहता है और आप दिनभर तरोताज रहते हैं। इसलिए यदि सोरायसिस है, तो फिर आपके लिए पानी की र्प्‍याप्‍त मात्रा लेना और भी जरूरी है। आप दिन में कम से कम 10 ग्‍लास पानी जरूर पिएं। 

इसे भी पढें: हाई ब्‍लड प्रेशर (Hypertension) को कंट्रोल करने में मददगार हैं दादी मां के ये 7 घरेलू नुस्‍खे

6. ऑलिव ऑयल से मसाज 

डॉक्टर राना के मुताबिक यदि सोरायसिस की समस्‍या है और आप चखत्‍ते और खुजली का सामना कर रहे हैं, तो आप जैतून के तेल को हल्‍का गर्म करके इस्‍तेमाल की सकते हें। इसके लिए आप गुनगुने जैतून के तेल में 2 बूदें कंदुला आर्गेनिक ऑयल की डालें और त्‍वचा पर लगाएं। यह सोरायसिस में आराम और लक्षणों को कम करने में मदद करेगा। 

Read More Article On Home Remedies In Hindi

Disclaimer