लीवर को डिटॉक्स करने के घरेलू उपाय, पिएं ये ड्रिंक्स और बाहर निकालें लीवर की गंदगी

आज कल की भागदौड़ भरी जिंदगी में शरीर को हेल्दी रखना चैलेंज से कम नहीं है। विशेषकर जब बात आती है शरीर को डिटॉक्स करने की, तो लोग अक्सर कंफ्यूज रहते हैं

सम्‍पादकीय विभाग
अन्य़ बीमारियांWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Jun 13, 2022Updated at: Jun 13, 2022
लीवर को डिटॉक्स करने के घरेलू उपाय, पिएं ये ड्रिंक्स और बाहर निकालें लीवर की गंदगी

हमारे शरीर का हर अंग बहुत ही महत्वपूर्ण है। अगर शरीर के एक अंग में समस्या होती है तो यह कई पर प्रभाव डालती है। जैसे की लीवर। लीवर शरीर से जहरीले रसायन को बाहर निकालने में मदद करता है। लीवक पित्त का उत्सर्जन कर एंजाइम को दोबारा एक्टिव करने में भी मदद करता है। इसके अलावा लीवर कई मिनिरल्स और आयरन को स्टोर करके शरीर को हेल्दी रखने में मदद करता है। जब लीवर के इतने सारे काम हैं तो इसको स्वस्थ्य बनाए रखना भी बहुत महत्वपूर्ण है। यही वजह है कि आजकल लीवर डिटॉक्स (Liver detoxification) की चर्चा हर कोई कर रहा है। माना जाता है कि लीवर को डिटॉक्स करने से यह शरीर से हानिकारक पदार्थों को बाहर निकलता है।

यही कारण है कि लीवर को डिटॉक्स यानी की क्लीन करने के लिए आज बाजार में कई तरह के प्रोडक्ट्स उपलब्ध हैं। बाजार में मिलने वाले प्रोडक्ट्स लीवर को क्लीन करने का दावा तो करते हैं, लेकिन इसमें कितनी सच्चाई है इसका कोई वैज्ञानिक प्रमाण अब तक नहीं मिला है। इसलिए जरूरी है कि लीवर को डिटॉक्स करने के लिए किसी दवा या मार्केट में मिलने वाले प्रोडक्ट का सहारा न लेकर घर में बनी चीजों का सेवन किया जाए। घरेलू चीजें नेचुरल होती हैं जिससे शरीर पर किसी भी तरह का दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है। तो आइए आज जानते हैं लीवर को डिटॉक्स करने के बारे में

कब पड़ती है लीवर को डिटॉक्स करने की जरूरत? (When does liver need to be detoxified?)

लीवर को डिटॉक्स करने से पहले इस बात को समझना जरूरी है कि शरीर को इसकी जरूरत कब पड़ती है। थोड़ा सा काम करते ही थकान महसूस होना, स्किन का रंग बदलना, बार-बार एलर्जी होना, छाती में जलन, भोजन शरीर को न लगना जैसी प्रॉब्लम अगर शरीर में दिखती है तो कहा जाता है कि लीवर सही तरीके से काम नहीं कर रहा है और इसे डिटॉक्सीफाई करने की जरूरत है।

लीवर डिटॉक्स करने के घरेलू उपाय (Home remedies for liver detox)

हल्दी का पानी

भारतीय घरों के खाने में हल्दी का इस्तेमाल न हो ऐसा असंभव है। हल्दी स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद मानी जाती है। जिन लोगों को लीवर से संबंधित समस्या होती है उन्हें प्रतिदिन हल्दी का पानी पीने की सलाह दी जाती है। हल्दी का पानी शरीर में एंजाइम को बूस्ट करने का काम करती है। इससे खाने के साथ पेट के अंदर गए टॉक्सिन को बाहर निकालने में मदद मिलती है।

कब करें हल्दी के पानी का सेवन

लीवर को हेल्दी बनाने के लिए आप रोजाना रात को सोने से पहले हल्दी के पानी का सेवन कर सकते हैं। हल्दी का पानी बनाने के लिए एक गिलास पानी में कच्ची हल्दी का एक छोटा सा टुकड़ा डालें और एक उबाल पर इसे छान लें। इसे गुनगुना ही पिएं।

नींबू और गुनगुना पानी

शरीर से जब फैट को कम करने की बात आती है तो अक्सर लोग गुनगुने पानी के साथ नींबू पीने की सलाह देते हैं। नींबू लीवर डिटॉक्सिफिकेशन का काम करता है। प्रतिदिन एक गिलास नींबू और गुनगुना पानी पीने से शरीर से टॉक्सिन बाहर निकलते हैं और यह लीवर को हेल्दी रखने में मददगार साबित हो सकता है।

गुनगुने पानी के साथ नींबू कब पिएं

गर्म पानी के साथ नींबू आप सुबह और शाम दोनों में से किसी भी वक्त पी सकते हैं। जानकारों के मुताबिक एक दिन में एक गिलास से ज्यादा गर्म पानी और नींबू नहीं पीना चाहिए।

इसे भी पढ़ेंः छीलकर या बिना छीले? खीरा खाने का सही तरीका क्या है 

लीवर को सही रखने के लिए क्या करें (What to do to keep the liver healthy)

अगर आप चाहते हैं कि आपका लीवर हमेशा स्वस्थ रहे तो इसके लिए आपको अपने खाने पीने में कुछ बदलाव करने होंगे। खाने में पिज्जा, बर्गर, नूडल्स जैसे जंक फूड और शराब, सिगरेट जैसी बुरी आदतों को बाय-बाय कहकर आप लीवर को हेल्दी बनाए रख सकते हैं।

अगर आपको लीवर से संबंधित कोई गंभीर समस्या है या आप किसी अन्य बीमारी से जूझ रहे हैं तो बिना डॉक्टर की सलाह के किसी भी चीज का सेवन न करें। कोई भी उपाय करते वक्त विशेषज्ञों की सलाह जरूर लें।

(All Image Sources- Freepik.com)

 
 
 
Disclaimer