क्या माइग्रेन या तेज सिरदर्द का कारण हाई ब्लड प्रेशर भी हो सकता है?

कई बार हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को तेज सिरदर्द यानी माइग्रेन की समस्या हो जाती है। डॉक्टर से जानें दोनों समस्याओं का आपस में क्या संबंध है।

Monika Agarwal
अन्य़ बीमारियांWritten by: Monika AgarwalPublished at: Jun 12, 2021Updated at: Jun 12, 2021
क्या माइग्रेन या तेज सिरदर्द का कारण हाई ब्लड प्रेशर भी हो सकता है?

हाई ब्लड प्रेशर (High Blood Pressure) की समस्या लगभग आधी जनसंख्या को होती है। हाई बीपी (High BP) के बहुत से लोगों को शुरुआती अवस्था में कोई लक्षण नहीं दिखते इसलिए लोगों को पता भी नहीं होता कि वो ब्लड प्रेशर से पीड़ित हैं। इसी वजह से हाई ब्लड प्रेशर या हाइपरटेंशन (Hypertension) को साइलेंट किलर भी कहा जाता है। अगर आप यह सोचते हैं कि कोई विशेष लक्षण होने पर ही आप बीमारी का पता करेंगे और तब उसका उपचार होगा तो आप गलत सोचते हैं। यह आप अपनी हेल्थ के साथ रिस्क ले रहे हैं। कई बार देखा जाता है कि जिन लोगों को हाई ब्लड प्रेशर (High BP) की समस्या होती है, उन्हें माइग्रेन (Migraine) या सिर दर्द की समस्या भी होने लगती है।

migraine pain and high blood pressure

हाई ब्लड प्रेशर के कारण सिरदर्द या माइग्रेन कितना खतरनाक है?

मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल, साकेत के दर्द प्रबंधन सेवाओं के वरिष्ठ सलाहकार और प्रमुख, डॉ अमोद मनोचा के अनुसार हाई ब्लड प्रेशर (High BP) की वजह से तेज सिर दर्द, ब्लड ब्रेन बैरियर का काम करता है। इस कारण अत्याधिक दबाव की वजह से ब्लड वेसल्स लीक हो सकती हैं और एडेमा (Edema) या सूजन की समस्या की पूरी संरभावना रहती है। दरअसल हमारा मस्तिष्क खोपड़ी के बीच में होता है और जगह न होने की वजह से वह फैल नहीं पाता। तब यह सूजन और अधिक दबाव बनाती है। जिसकी वजह से सिर दर्द (Headache), थकान, बेहोशी, कमजोरी माइग्रेन (Migraine) या अंधेपन की समस्या हो जाती है। इस अवस्था में अगर ब्लड प्रेशर को कम करने का उपचार किया जाए तो 1 घंटे के अंदर इन लक्षणों में सुधार हो जाता है। अगर आपको इस प्रकार का दर्द या ऐसा कोई भी लक्षण दिख रहा है तो तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: लंबे समय से सिरदर्द (माइग्रेन) है, तो अपने खान-पान में रखें इन 5 बातों का ख्याल

headache and high blood pressure

महिलाओं को माइग्रेन का खतरा 3 गुना ज्यादा

कुछ शोधों के अनुसार महिलाओं को पुरुषों के मुकाबले 3 गुणा अधिक माइग्रेन और हाई ब्लड प्रेशर (High BP) होने का रिस्क होता है। शोध ये भी बताते हैं कि अगर आपको माइग्रेन की समस्या है तो उसकी वजह से भी आपका बीपी बढ़ सकता है। वैसे तो एक आध बार माइग्रेन अटैक आने पर लोगों को हाई ब्लड प्रेशर (High BP) की समस्या नहीं होती है। लेकिन अगर यह बार बार होता है तो निश्चय ही आपका बीपी लेवल बहुत अधिक बढ़ सकता है। जिन लोगों को स्लीप एप्निया जैसी समस्या है उनको भी यह दोनों स्थिति एक साथ हो सकती हैं। अगर आपके एंडोक्राइन सिस्टम में ट्यूमर है तो भी माइग्रेन के साथ हाई ब्लड प्रेशर (High BP) की समस्या देखने को मिल सकती है।

हाई ब्लड प्रेशर के साथ होने वाला सिर दर्द कैसा महसूस होता है?

जब आपको सिर दर्द (Headache) होने लगता है तो यह संकेत है कि आपका बीपी बहुत अधिक बढ़ चुका है 180/120 mm मर्करी के लेवल को पार कर चुका है। कारण चाहे कोई भी हो सिर दर्द में व्यक्ति तुरंत आराम पाना चाहता है। इसलिए यदि कोई सी भी दवा ले रहे हैं तो पहले उसका लेवल चेक कर लें। कहीं ऐसा ना हो कि वह फायदा करने की जगह आप को नुकसान पहुंचाए। अभी आप कुछ ऐसी डाइट का भी प्रयोग कर सकते हैं जिससे आपके सिर दर्द में आराम मिले और सूजन कम हो जैसे कि सिलेरी, बीट, ब्लू बैरीज, फ्लैक्स सीड आदि। इन सबके अलावा साबुत अनाज का सेवन या एसेंशियल ऑयल जैसे कि पेपरमिंट और लैवेंडर के प्रयोग से नर्वस सिस्टम को आराम मिलता है। साथ ही कैफीन का प्रयोग कम करें।

इसे भी पढ़ें: हाई ब्लड प्रेशर से जुड़ी इन 9 मिथक (अफवाहों) को न मानें सही, जानें इनकी सच्चाई

सिर दर्द (Headache) और बीपी का अधिक बढ़ जाना कई बार स्ट्रोक और बहुत सी हृदय संबंधी बीमारियों की  वजह भी हो सकते हैैं। इसलिए आपको जितना जल्दी यह सब लक्षण महसूस करने को मिलते हैं, आपको तुरंत डॉक्टर या अपने नजदीकी अस्पताल में संपर्क करना चाहिए।

Read More Articles on Other Diseases in Hindi

Disclaimer