गले की खराश दूर करने के लिए पिएं ये 5 हर्बल चाय, खिचखिच और अन्य परेशानियों से मिलेगा छुटकारा

गले में खराश की परेशानी होने पर हर्बल टी आपके लिए काफी लाभकारी हो सकता है। आइए जानते हैं ऐसे कुछ चाय के नाम और इनके गुणकारी फायदे

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Jan 17, 2022Updated at: Jan 17, 2022
गले की खराश दूर करने के लिए पिएं ये 5 हर्बल चाय, खिचखिच और अन्य परेशानियों से मिलेगा छुटकारा

सर्दी के मौसम में गर्म चाय की प्याली मूड को बेहतर करने के साथ-साथ शरीर को गर्म भी रखती है। साथ ही अगर आप सर्दी और फ्लू जैसी समस्याओं से लड़ रहे हैं, तो यह आपके लिए लाभकारी हो सकता है। फ्लू और संक्रमण की वजह से गले में काफी ज्यादा खराश की परेशानी होती है। इस समस्या से भी राहत दिलाने में हर्बल टी आपकी मदद कर सकता है। एक कप हर्बल टी सर्दियों में आपको गर्म रखता है। साथ ही कई बीमारियों से लड़ने में असरदार है। गले की खिचखिच हो या फिर गले में दर्द हर तरह की समस्याओं को दूर करने में प्रभावी हो सकता है। आज हम इस लेख में कुछ ऐसे हर्बल टी के बारे में जानेंगे, जिससे आप गले की खराश को दूर कर सकते हैँ। साथ ही यह सर्दियों में आपको संक्रमण से लड़ने में असदार हो सकता है। आइए जानते हैं कुछ ऐसे बेहतरीन हर्बल टी के बारे में-

1. कैमोमाइल टी ( Chamomile Tea )

गले में खराश की परेशानी होने पर आप कैमोमाइल हर्बल टी का सेवन कर सकते हैं। कैमोमाइल में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट दोनों गुण पाए जाते हैं, जो गले में सूजन को कम करने और टिश्यू को ठीक करने में मदद करते हैं। यह एक एंटीस्पास्मोडिक (antispasmodic) भी है, जिसका अर्थ है कि यह किसी भी तरह की खांसी को कम करने में भी मदद कर सकता है। आमतौर पर सर्दी से जुड़ी सांस की समस्याओं के इलाज के लिए कैमोमाइल टी आपके लिए काफी बेहतरीन घरेलू नुस्खा हो सकता है। 

इसे भी पढ़ें - सर्दियों में गले में खराश और इंफेक्शन होने पर आजमाएं ये 10 आसान घरेलू नुस्खे, जल्द मिलेगी राहत

2. हल्दी की चाय (Turmeric Tea)

गले की परेशानी को दूर करने के लिए आप हल्दी की चाय का (what kills a sore throat fast) भी सेवन कर सकते हैं। हल्दी का इस्तेमाल काफी लंबे समय से संक्रमण से लड़ने वाले एंटीसेप्टिक के रूप में किया जाताहै। गले में खराश को दूर करने के लिए आप हल्दी टी बैग खरीद सकते हैं या फिर उबलते हुए पानी में पिसी हुई हल्दी मिलाकर चाय की तरह इसका सेवन कर सकते हैं। हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीसेप्टिक गुण पाया जाता है, जो गले में खराश के साथ-साथ दर्द से भी राहत दिलाने में मददगार होता है। 

3.  ग्रीन टी (Green Tea )

ग्रीन टी स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है। इससे न सिर्फ वजन को घटाया जा सकता है। बल्कि यह कई अन्य संक्रमण और वायरस से लड़ने में प्रभावी भी होता है। ग्रीन टी में अमीनो एसिड, विटामिन और खनिज भरपूर रूप से पाए जाते हैं, जो कई तरह की समस्याओं से राहत दिला सकते हैं। इसके अलावा ग्रीन टी में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है, जो बीमारियों से लड़ने में काफी असरदार है। अध्ययनों से पता चलता है कि अगर आप ग्रीन टी से गरारा करते हैं, तो यह गले में खराश के लक्षणों को कम करने में असरदार हो सकता है। 

4. पुदीने की चाय (Peppermint Tea )

पेपरमिंट यानि पुदीने में मेन्थॉल होता है, यह एक प्रभावी डिकॉन्गेस्टेंट (decongestant) और सूथिंग एजेंट (soothing agent.) को बढ़ाता है।  गले में खराश या फिर पाचन की समस्या होने पर सोने से पहले एक कप पुदीने की चाय का सेवन करें। इसमें एंटीवायरल, एंटीबैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी घटक पाया जाता है, जो सर्दी के लक्षणों को दूर करने में प्रभावी है। 

5. ब्लैक टी ( Black Tea )

मौसम में किसी भी तरह का बदलाव होने पर सबसे पहले हम चाय की ओर भागते हैं। अगर आप भी चाय के शौकीन हैं, तो कैफीयुक्त चाय के बजाय ब्लैक टी का सेवन करें। यह न केवल आपको फ्रेश रखेगा, बल्कि इससे आपके शरीर को टैनिन नामक यौगिक भी प्राप्त होगा। यह यौगिक सूजन को कम करने और गले के दर्द से राहत दिलाने में मददगार होता है। गले की खराश और दर्द को दूर करने के लिए आप ब्लैक टी से गरारा भी कर सकते हैं। यह आपके लिए काफी लाभकारी है।

इसे भी पढ़ें - निगलने में परेशानी और खराश जैसे लक्षण हो सकते हैं गले में गांठ का संकेत, जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज

गले में खराश या फिर किसी अन्य तरह की समस्याएं जैसे- संक्रमण, सर्दी-जुकाम, पाचन, गले में दर्द और जकड़न को दूर करने के लिए आप इन हर्बल टी का सेवन कर सकते हैँ। यह हर्बल टी आपको कई तरह की परेशानी से बचा सकते हैँ। लेकिन ध्यान रखें कि अधिक मात्रा में इन हर्बल टी का सेवन न करें। वहीं, अगर आपको पहले से किसी तरह की गंभीर समस्या है, तो डॉक्टर की सलाह पर ही इसका सेवन करें।

Disclaimer