Heat Stroke Home Remedies: गर्मी की लू और हीट स्ट्रोक से बचाने में मदद करेंगे ये 5 एसेंशियल ऑयल, जानें प्रयोग

गर्मी के मौसम में अगर आप हीट स्ट्रोक से बचना चाहते हैं और शरीर को ठंडा रखना चाहते हैं, तो आप इन 5 एसेंशियल ऑयल्स का प्रयोग कर सकते हैं।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: May 22, 2020
Heat Stroke Home Remedies: गर्मी की लू और हीट स्ट्रोक से बचाने में मदद करेंगे ये 5 एसेंशियल ऑयल, जानें प्रयोग

क्या आपको गर्मियां पसंद हैं? अगर फूड्स, आइसक्रीम, कोल्ड ड्रिंक्स और फैशन को छोड़ दें, तो इस मौसम की अपनी ढेर सारी परेशानियां हैं। यही कारण है कि गर्मी का मौसम अक्सर लोगों को पसंद नहीं होता है। दोपहर की गर्म लू, पसीना, छोटी-छोटी बात पर फूड पॉयजनिंग और आलस आदि के कारण गर्मी के मौसम में सभी को परेशानी होती है। गर्मी की तेज तपती दोपहर में कहीं जाना हो, तो जान सूख जाती है। इसका कारण है लू यानी हीट स्ट्रोक। हीट स्ट्रोक को ही हिंदी में लू लगना कहते हैं। हीट स्ट्रोक का पहला लक्षण है- पेट में दर्द, तेज बुखार, अचानक बेहोशी, उल्टी, दस्त आदि।

आपको हीट स्ट्रोक की समस्या सामान्य लग सकती है, मगर कई बार थोड़े समय की देरी से इस सामान्य सी समस्या के कारण लोगों की जान भी चली जाती है। विपरीत परिस्थितियों में हीट स्ट्रोक के कारण व्यक्ति के जरूरी अंग काम करना भी बंद कर सकते हैं। इस हीट स्ट्रोक से बचाव करने और गर्मी की दूसरी समस्याओं को रोकने के लिए आप एसेंशियल ऑयल्स का इस्तेमाल कर सकते हैं। आइए आपको बताते हैं कि ये एसेंशियल ऑयल्स गर्मियों में किस तरह आपके काम आ सकते हैं।

heat stroke

पिपरमिंट ऑयल

पिपरमिंट के बारे में आप जानते होंगे कि इसमें जबरदस्त कूलिंग इफेक्ट होता है। यही कारण है कि इस तेल के प्रयोग से आपका शरीर प्राकृतिक रूप से ठंडा रहता है। पिपरमिंट में मुख्य तत्व मेंथॉल होता है, जो आपको ठंडेपन का एहसास कराता है। इसकी खुश्बू इतनी मनमोहक और सूदिंग होती है कि आप गर्मियों में इसकी खुश्बू से भी बहुत लाभ उठा सकते हैं। हीट स्ट्रोक से बचने के लिए अपने शरीर में लगाने जाने वाले बॉडी लोशन में पिपरमिंट ऑयल की कुछ बूंदें मिला लें और पूरे शरीर में लगा लें। ये गर्मियों में आपके लिए लू से बचाने को रक्षा कवच की तरह काम करेगा।

इसे भी पढ़ें: गर्मी में पिएं ये 5 हर्बल चाय, पेट को मिलेगी ठंडक और लू से रहेगा बचाव

यूकेलिप्टस ऑयल

यूकेलिप्टस एसेंशियल ऑयल में ठंडक प्रदान करने वाला (Cooling) गुण होता है। इसके अलावा ये एंटी-इंफ्लेमेट्री गुणों से भी भरपूर है। इसलिए इसके प्रयोग से शरीर में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है और शरीर का तापमान कम होता है। गर्मी के मौसम में अगर आप अपने नहाने के पानी में कुछ बूंदें यूकेलिप्टस एसेंशियल ऑयल को मिला लेते हैं, तो इससे आप गर्मी की सामान्य परेशानियों और हीट स्ट्रोक की समस्या से बच सकते हैं। इसके अलावा आप चाहें तो रात में सोते समय इस तेल की कुछ बूंदें पानी में मिलाकर बिस्तर पर छिड़क सकते हैं। इससे आपको नींद अच्छी आएगी और आपको गर्मी की समस्याएं नहीं होंगी।

सैंडलवुड ऑयल (चंदन का तेल)

चंदन का तेल बहुत सारे ब्यूटी प्रोडक्ट्स में इस्तेमाल होता है। इस तेल में भी कूलिंग इफेक्ट होता है। मंदिरों और धार्मिक स्थलों पर माथे पर चंदन लगाने का रिवाज भी इसीलिए शुरू हुआ ताकि तंत्रिकाओं और मांसपेशियों को शांत किया जा सके और मस्तिष्क को ठंडा रखा जा सके। चंदन की खुश्बू बहुत मनमोहक होती है। इसलिए चंदन के तेल को आप गर्मियों में अगर इस्तेमाल करते हैं, तो आप हीट स्ट्रोक से बच सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: डायबिटीज, एनीमिया, लू और मोटापे जैसी कई बीमारियों से बचाता है सत्तू का शरबत

essential oils

वेटिवर ऑयल

हीट स्ट्रोक में अचानक तबीयत बिगड़ने के 2 कारण होते हैं, एक शरीर के तापमान का बहुत अधिक बढ़ जाना और दूसरा शरीर में इंफ्लेमेशन की समस्या। इन दोनों ही समस्याओं को ठीक करने के लिए वेटिवर ऑयल बहुत फायदेमंद होता है। हीट स्ट्रोक से बचाव के लिए आप अपने नहाने के पानी में 3-4 बूंद वेटिवर ऑयल मिलाएं। ये आपके नर्व्स को रिलैक्स करेगा और इंफ्लेमेशन से बचाएगा।

लैवेंडर ऑयल

लैवेंडर ऑयल की मनमोहक खुश्बू के कारण इसे एरोमा थेरेपी में काफी ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। ध्यान और एकाग्रता के लिए भी कुछ लोग डिफ्यूजर में डालकर इसका प्रयोग करते हैं। लैवेंडर ऑयल आपके शरीर को ठंडा रखता है। इस तेल को किसी कैरियर ऑयल में मिलाकर अपने शरीर पर लगा सकते हैं। ये तेल धूप में झुलसी त्वचा को भी ठीक कर देता है। लैवेंडर ऑयल को लगाने से भी आप लू से बच सकते हैं।

Read More Articles on Home Remedies in Hindi

Disclaimer