सीजनल इंफेक्शन से बचा सकता है सफेद जामुन या रोज एप्पल (Rose Apple), रूजुता दिवेकर से जानें इसके स्वास्थ्य लाभ

सेलिब्रिटी पोषण विशेषज्ञ रूजुता दिवेकर का कहना है कि जाम एक अद्भुत फल है, जो पोषक तत्वों से भरा हुआ है। 

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Mar 20, 2020
सीजनल इंफेक्शन से बचा सकता है सफेद जामुन या रोज एप्पल (Rose Apple), रूजुता दिवेकर से जानें इसके स्वास्थ्य लाभ

मौसमी फलों को खाने के कई लाभ हैं। हाल ही में एक ऐसे ही मौसमी फल सफेद जामुन, जिसे जाम और रोज एप्पल (Rose Apple) भी कहा जाता है उसके कई फायदों को लेकर सेलिब्रिटी पोषण विशेषज्ञ रूजुता दिवेकर ने एक पोस्ट किया है। सफेद जामुन या वैस्स एप्पल को भारत में गोलप जैम के रूप में भी जाना जाता है। वहीं यह कोलकाता में फलों के बाजारों में भी लोकप्रिय है, जहां इसे गुलाब जामुन के रूप में अधिक जाना जाता है। इसके पौष्टिक लाभों के बारे में बात करते हुए वो रूजुता दिवेकर कहती हैं कि रोज एप्पल कुरकुरे और रसदार फल होते हैं। रोज एप्पल एक इम्यूनिटी बूस्टर के रूप में भी अच्छा काम करता है। स्प्रिंग सीजन में होने वाले सीजनल इंफेक्शन से भी ये आपको बचा सकता है। । इसके अतिरिक्त, इसका सेवन करते समय सावधानी बरतने की सलाह भी दी जाती है, क्योंकि इसका बीज को जहरीला माना जाता है। आइए अब विस्तार से जानते हैं सफेद जामुन के स्वास्थ्य लाभों के बारे में।

insidesafedjamun

रोज एप्पल (Rose Apple) या सफेद जामुन के फायदे

विटामिन सी से भरपूर

इन फलों को विटामिन सी से भरपूर कहा जाता है। इसे खाने से त्वचा में निखार बनी रहती है और जिन लोगों को एक्ने की परेशानी है उनके लिए ये बेहद फायदेमंद है। वहीं एजि्ंग से परेशान लोगों के लिए ये एक एंटीएजिंग एजेंट का काम करता है। ये त्वचा को जवां बनाए रखने के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने और कोलेजन के निर्माण के लिए महत्वपूर्ण भूमिका मिभा सकता है। इसलिए इस समय खासकर दोहर मौसम में इसका सेवन करना आपको सर्दी-जुकाम से भी बचा सकता है।

 
 
 
View this post on Instagram

Keep calm and eat jaam - They say that there are two sides of every coin. So while the #coronavirus may slow you down and force you to stay indoors, don’t let it shut the doors on curiosity and cheerfulness. It’s spring time and if you look outside, you will see this beauty in bloom. It’s the native jaam or rose apple as some people call it. It will turn into a tasty, crunchy, pinkish fruit that is so powerful in its nutrients that it will ensure that you will stay in the pink of health, now and forever. It’s time to reinforce that longevity, immunity and cohesion in society is born out of sharing all that is local, seasonal and traditional. Stronger together, safer together, smarter together💪🏼🙏🏼 #eatlocal #jaam #hyperlocal

A post shared by Rujuta Diwekar (@rujuta.diwekar) onMar 18, 2020 at 12:59am PDT

इसे भी पढ़ें: Rasam Tea: एक नहीं कई बीमारियों को दूर कर इम्‍युनिट बूस्‍ट करती है साउथ इंडियन रसम टी, जानें फायदे और रेसेपी

फाइबर से समृद्ध 

सफेद जामुन या गुलाब सेब को फाइबर में समृद्ध फल कहा जाता है। जिन लोगों को जो दस्त और पेट फूलने जैसी सामान्य पाचन समस्याएं हैं उनके लिए ये एक रामबाण इलाज है। ये आहार फाइबर ब्लड शुगर को नियंत्रित करने के लिए भी अच्छा है और वजन प्रबंधन में भी मदद करता है। ऐसे में जिन लोगों का ब्लड शुगर बैलेंस नहीं रहता है उनके लिए भी ये एक फायदेमंद फल है। इसका रोज सेवन करना भी पेट से जुड़ी परेशानियों से हमेशा के लिए निजात दिला सकता है।

विटामिन ए से भरपूर

आंखों के स्वास्थ्य के लिए भी रोज एप्पल अच्छा है। ऐसा इसलिए क्योंकि इसमें आंखों के लिए सबसे महत्वपूर्ण पोषक तत्वों में से एक विटामिन ए पाया जाता है, जो आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए फायदेमंद माना जाता है। सेब या इस जामुन में भी उच्च पानी की मात्रा (प्रति 100 ग्राम 93 ग्राम) पाई जाती है और इसलिए यह आपको चिलचिलाती गर्मी में हाइड्रेटेड रहने में मदद कर सकता है। इसलिए जिन लोगों में पानी की कमी होती है उनके लिए भी ये काफी फायदेमंद माना जाता है।

insidesafedjamunbenefits

इसे भी पढ़ें: वर्क फ्रॉम होम में आलस, नींद और ऊब को दूर करने में मदद करेंगे ये 5 स्नैक्स, मोटापे की भी कोई चिंता नहीं

कैल्शियम और पोटेशियम से समृद्ध

दांतों और हड्डियों के लिए सबसे महत्वपूर्ण पोषक तत्व कैल्शियम है, जो कि सेब से भरपूर होता है। 100 ग्राम गुलाब के सेब में 29 माइक्रोग्राम कैल्शियम (यूएसडीए डेटा के अनुसार) होता है। इसमें में अच्छी मात्रा में एक और पोषक तत्व पोटेशियम भी पाया जाता हैं, जो शरीर में तरल और इलेक्ट्रोलाइट संतुलन बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण है। वहीं जिन लोगों को मितली या कमजोरी महसूस होती है उनके लिए ये एक बेहद फायदेमंद है क्योंकि ये शरीर में इलेक्ट्रोलाइट को बैलेंस करके ताकत पहुंचाने का काम करते हैं।

Read more articles on Healthy-Diet in Hindi

Disclaimer