मूंग, सोयाबीन और मोठ को भिगोकर खाने से सेहत को मिलेंगे ये फायदे

Bhegi hui moong soybean and moth khane ke fayde: मूंग, मोठ और सोयाबीन हाई प्रोटीन फूड हैं।

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasPublished at: Sep 20, 2022Updated at: Sep 20, 2022
मूंग, सोयाबीन और मोठ को भिगोकर खाने से सेहत को मिलेंगे ये फायदे

Benefits of eating soaked moong soybean and moth: जब कभी हमें भूख लगती है हम बाजार से कुछ तला हुआ, मसालेदार और अनहेल्दी ऑर्डर कर लेते हैं खा भी लेते हैं। बाजार में मिलने वाले बर्गर, पिज़्ज़ा, सैंडविच और डोनट खाने में तो टेस्टी लगते हैं, लेकिन स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक माने जाते हैं। लोग समझ नहीं पाते हैं कि आखिरकार छोटी-छोटी भूख को मिटाने के लिए हेल्दी ऑप्शन क्या है?

अगर आप भी ऐसी भूख के लिए हेल्दी खाने की तलाश कर रहे हैं तो भीगी हुई मूंग, मोठ और सोयाबीन को ट्राई कर सकते हैं। मूंग, मोठ और सोयाबीन पोषक तत्वों से भरपूर होती है जो हड्डियों को मजबूत बनाने, शारीरिक विकास और मानसिक विकास के लिए बेहतर मानी जाती है। इसलिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं भीगी हुई मूंग, मोठ और सोयाबीन खाने के फायदे।

मूंग, मोठ और सोयाबीन के पोषक तत्व - Nutrients of Moong, Moth and Soyabean

भीगी हुई या अंकुरित मूंग, मोठ और सोयाबीन में प्रचुर मात्रा में विटामिन ए, बी, सी, के, डी पाया जाता है। इसके अंकुरित मूंग, मोठ और सोयाबीन कैल्शियम, फास्फोरस, पोटेशियम, मैग्नीशियम, आयरन का भी अच्छा सोर्स माना जाता है। इन चीजों को भूख लगने पर खाने से शरीर की इम्यूनिटी स्ट्रांग बनती है।

इसे भी पढ़ेंः बालों में लगाएं अंडे का पीला हिस्सा, रुकेगा हेयर फॉल और बढ़ेंगे बाल

eating-soaked-moong-soybean-and-moth-benefits

भीगी हुई  मूंग, मोठ और सोयाबीन खाने के फायदे

कब्ज से दिलाता है राहत

मूंग, मोठ और सोयाबीन में फाइबर, पोटेशियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम, आयरन पाया जाता है। फाइबर और पोटेशियम कब्ज से राहत दिलाने में मदद करता है। जिन लोगों को पाचन संबंधी समस्याएं होती हैं उन्हें भी अंकुरित मूंग खाने की सलाह दी जाती है। इसके साथ ही फाइबर पेट को लंबे समय तक भरे हुए होने का एहसास करवाता है।

वजन घटाने में मददगार

जो लोग वजन घटाने के लिए प्लानिंग कर रहे हैं उनके लिए अंकुरित मूंग, मोठ और सोयाबीन काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। मूंग में मौजूद विटामिन बी6, प्रोटीन और सोयाबीन का फाइबर पेट को लंबे समय तक भरा हुआ होने का एहसास कराता है। पेट के लंबे समय तक भरे रहने से ओवरइटिंग की आदत बचा जा सकता है और वजन को कंट्रोल करने में मदद मिलती है।

इसे भी पढ़ेंः युवा महिलाओं में बढ़ते पीठ दर्द का कारण, बचाव और उपाय

इम्यूनिटी को बढ़ाता है मजबूत

अंकुरित मूंग, मोठ और सोयाबीन में प्रचुर मात्रा में विटामिन और मिनरल्स पाए जाते हैं, जो इम्यूनिटी को मजबूत बनाने में मदद करती है। जो लोग मौसम में बदलाव, सर्दी या गर्मी में बार-बार बीमार पड़ते हैं उन्हें रोजाना खाली पेट अंकुरित मोठ, मूंग और सोयाबीन खाने की सलाह दी जाती है।

मांसपेशियों को करता है मजबूत

भीगी हुई मूंग, मोठ और सोयाबीन खाने से शरीर तो मिनरल्स प्रचुर मात्रा मिलते हैं, जिससे मांसपेशियों को मजबूती मिलती है। नियमित तौर पर मूंग, मोठ और सोयाबीन खाने से मांसपेशियों का तनाव कम होता है और वो मजबूत बनती हैं।

स्किन के लिए बेहतर

चेहरे पर पिंपल्स, एक्ने और झुर्रियों की समस्या से राहत दिलाने में भी मूंग, मोठ और सोयाबीन काफी मदद कर सकता है। मूंग और मोठ में पाए जाने वाले पोषक तत्व शरीर के टिशू, सेल्स को बेहतर करने में मदद कर सकते हैं।

 

 

 

Disclaimer