आईबीएस (IBS) के साथ है कब्ज की समस्या? न्‍यूट्र‍िशन‍िस्‍ट रुजुता से जानें क‍िचन की 3 चीजें जो देंगी आराम

इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम (IBS) के साथ कब्ज की समस्या भी हो रही है, तो इससे छुटकारा पाने के लिए अपनाएं रुजुता दिवेकर के बताए ये 3 घरेलू उपाय।

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Jun 24, 2022Updated at: Jun 24, 2022
 आईबीएस (IBS) के साथ है कब्ज की समस्या? न्‍यूट्र‍िशन‍िस्‍ट रुजुता से जानें क‍िचन की 3 चीजें जो देंगी आराम

इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम के साथ कब्‍ज (IBS-C), आईबीएस का एक प्रकार है ज‍िसमें इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम के साथ   व्यक्ति को कब्‍ज की  शिकायत भी रहती है। आईबीएस से बचने के ल‍िए आपको सही डाइट, एक्‍सरसाइज और स्‍ट्रेस कम करने के उपाय अपनाने चाह‍िए। ये लेख स‍िलेब्रि‍टी डायटीश‍ियन रुजुता द‍िवेकर की ओर से शेयर क‍िए गए वीड‍ियो पर आधार‍ित है। गट हेल्‍थ (पेट के स्वास्थ्य) को बेहतर रखने के ल‍िए उन चीजों का सेवन करना चाह‍िए जो क‍िचन में आसानी से मौजूद हैं। इस लेख में रुजुता ने 3 ऐसे खास फूड्स का ज‍िक्र क‍िया है ज‍िनका सेवन करने से इर‍िटेबल बॉवेल स‍िंड्रोम और कब्ज की समस्‍या दूर होगी। 

dates in hindi    

आईबीएस के साथ कब्‍ज दूर करने के ल‍िए क्‍या खाएं? (Foods For Gut Health in Hindi)

रुजुता द‍िवेकर के मुताब‍िक, इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम की समस्‍या को दूर करने के ल‍िए आपको कुछ एक्‍सट्रा नहीं करना है बल्‍क‍ि घर में म‍िलने वाली चीजों का ही सेवन करना है। गट हेल्‍थ को अच्‍छा रखने वाले फूड्स का सेवन करने से पेट में दर्द, कब्‍ज की समस्‍या, ब्‍लोट‍िंग आद‍ि लक्षण भी दूर होंगे और इनका सेवन करने के 3 से 4 हफ्ते में ही आपको फर्क महसूस होने लगेगा। गट हेल्‍थ के ल‍िए इन 3 चीजों का सेवन करना चाह‍िए-

1. छुहारा (Dry Dates) 

  • पुराने जमाने में लोग छुहारा  यानी सूखे डेट्स का सेवन करते थे। गट हेल्‍थ के ल‍िए छुहारा या खार‍िक का सेवन फायदेमंद है। 
  • छुहारे में फाइबर और आयरन की मात्रा  ज्‍यादा होती है।
  • अगर  रोज छुहारे का सेवन करेंगे तो आईबीसी के लक्षण कम होंगे।
  • सुबह उठकर थोड़े  छुहारे का सेवन कर सकते हैं।
  • दोपहर के समय भी  छुहारे का सेवन कर सकते हैं।  

2. गुड़ और घी (Jaggery and Ghee)

  • आपको गुड़ के साथ घी का सेवन करना चाह‍िए। 
  • लंच के बाद गुड़ के साथ घी का सेवन करना चाह‍िए।
  • इस समस्‍या से बचने के ल‍िए रोटी के साथ या लंच के बाद गुड़ व घी के साथ खाएं।    

3. गुलकंद पानी (Gulkand Water)

  • आपको एक चम्‍मच गुलकंद लेना है।
  • गुलकंद को एक ग‍िलास पानी में म‍िलाएं।   
  • जैसे-जैसे  फूल की पत्तियां पानी पर तैरने  लगें, तो उस पानी को बैठकर पीना है।
  • कब्‍ज के अलावा आपको अन्‍य दर्द जैसे स‍िर के दर्द की समस्‍या है तो भी आप गुलकंद का पानी पी सकते हैं।  
  • आप गुलकंद पानी को बेडटाइम पर या ड‍िनर के तुरंत बाद पी सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें- अगर कब्ज से पाना चाहते हैं छुटकारा तो ट्राई करें ये 5 आसान टिप्स, जल्द होगी समस्या दूर

आईबीएस से बचने के ल‍िए अपनाएं रुजुता के बताए ट‍िप्‍स (How To Prevent IBS in Hindi)

अगर एक बार में पेट साफ नहीं होता है और कुछ भी पीने या खाने के बाद शौच जाने की जरूरत महसूस हो तो आपको आईबीएस की समस्‍या हो सकती है। इन लक्षणों से बचने के ल‍िए आप रुजुता के बताए ट‍िप्‍स अपना सकते हैं-  

  • इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम से बचने के ल‍िए हल्‍का व्‍यायाम करना चाह‍िए। एक्‍सरसाइज करने से तनाव भी कम होता है और गट हेल्‍थ इंप्रूव होती है।
  • आईबीएस की समस्‍या से छुटकारा पाने के ल‍िए आप फाइबर र‍िच फूड्स का सेवन करें।
  • स्‍ट्रेस के कारण भी आईबीएस की समस्‍या हो सकती है इसल‍िए मेड‍िटेशन करें, डीप ब्रीद‍िंग एक्‍सरसाइज की मदद लें।
  • ज्‍यादा म‍िर्च-मसाले या ऑयली फूड का सेवन करने से आपको बचना चाह‍िए।

इन आसान डाइट ट‍िप्‍स की मदद से आप आईबीएस की समस्‍या से बच सकते हैं, अगर लक्षण गंभीर हों तो डॉक्‍टर से संपर्क करें।

Disclaimer