ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को करना है कम तो डाइट में करें यह जरूरी बदलाव, जोखिम होगा कम

अगर आप ब्रेस्ट कैंसर से बचना चाहती हैं या आप ब्रेस्ट कैंसर पीड़ित रही हैं और अब उसे दोबारा लौटने से बचाना चाहती हैं तो आपको अपने खानपान पर भी पूरा ध्यान देना होगा। 

मिताली जैन
कैंसरWritten by: मिताली जैनPublished at: Sep 17, 2019Updated at: Oct 22, 2021
ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को करना है कम तो डाइट में करें यह जरूरी बदलाव, जोखिम होगा कम

महिलाओं में होने वाले सबसे प्रमुख कैंसरों में से एक है ब्रेस्ट कैंसर। हर महिला के मन में यह डर रहता है कि कहीं वह ब्रेस्ट कैंसर की जद में न आ जाए। अगर आप भी ब्रेस्ट कैंसर से बचना चाहती हैं तो यह जरूरी है कि आप अपनी सेहत के प्रति सजग रहें और अपनी डाइट पर विशेष ध्यान दें। अपनी डाइट में कुछ खास चीजों को शामिल करके ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को काफी हद तक कम किया जा सकता है-

प्लांट बेस्ड फूड

अगर आप स्तन कैंसर होने की संभावना को कम करना चाहती हैं तो प्लांट बेस्ड फूड को अपनी डाइट का हिस्सा बनाएं। शोधकर्ताओं के अनुसार, इस तरह की डाइट कई बेहद गंभीर ट्यूमर से आपको बचा सकती है। फल और सब्जियां हमेशा से आहार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा रहे हैं, यह न सिर्फ आपको हेल्दी वेट मेंटेन करने में मदद करते हैं, बल्कि स्तन कैंसर को भी वापस आने से रोकने में मदद करते हैं।

होलग्रेन फूड

जब आप अपने आहार में अनप्रोसेस्ड व्हीट, ओट्स, कार्न, चावल व बार्ले को अपनी डाइट में शामिल करती हैं तो इससे आपको स्तन कैंसर होने की संभावना कम हो सकती है। दरअसल,  इन खाद्य पदार्थों में फाइटोकेमिकल्स पाए जाते हैं, जो न सिर्फ ब्रेस्ट कैंसर के होने की संभावना कम करते हैं, बल्कि इन्हें दोबारा लौटने से भी रोकते हैं। इतना ही नहीं, यह हृदय रोग से बचाने में भी मदद कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ेंः  रातभर पानी में भिगोकर खाएं ये खाएं 5 फूड, शरीर होगा तंदरुस्त और कई बीमारियों से रहेंगे दूर

फैट फैक्ट

कुछ अध्ययनों के अनुसार, फैट का अधिक सेवन बे्रस्ट कैंसर को बढ़ाने में भूमिका निभा सकता है, हालांकि इसे लेकर शोध स्पष्ट नहीं है। लेकिन अगर आप ब्रेस्ट कैंसर के रिस्क को कम करना चाहती हैं तो सैचुरेटिड फैट व ट्रांस फैट युक्त आहार जैसे बीफ़, मक्खन, पनीर, आइसक्रीम व तले हुए खाद्य पदार्थ आदि का कम ही मात्रा में सेवन करें तो अच्छा।

फाइबर पर करें फोकस

आपको शायद पता न हो लेकिन फाइबर युक्त आहार ब्रेस्ट कैंसर के रिस्क को काफी हद तक कम करता है। साबुत अनाज, फल, सब्जियाँ और फलिया में फाइबर पर्याप्त मात्रा में होता है। यह ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को कम करने के साथ-साथ रक्त शर्करा के स्तर, हृदय और पाचन तंत्र पर भी सकारात्मक प्रभाव डालता है।

विटामिन डी

विटामिन डी और ब्रेस्ट कैंसर का आपस में गहरा नाता है। अगर शरीर में विटामिन डी की कमी हो जाती है तो इससे ब्रेस्ट कैंसर होने की संभावना कई गुना बढ़ जाती है। वैसे आप सूरज की रोशनी के अतिरिक्त अपने आहार में भी ऐसी कुछ चीजों को शामिल कर सकते हैं, जिससे आपके शरीर में विटामिन डी की कमी पूरी हो जाए जैसे साल्मन, सीप, हेरिंग, मैकेरल और सार्डिन। वहीं अगर आप शाकाहारी हैं तो आपके लिए दूध, दही और संतरे के रस का सेवन करना अच्छा रहेगा।

इसे भी पढ़ेंः शरीर में गुड़ कोलेस्ट्रोल लेवल कम होने पर खाएं ये 5 फूड, तेजी से बढ़ेगा HDL

कैरोटीनॉयड

यह प्लांट-बेस्ड भोजन में पाया जाने वाला एक अन्य प्रकार का फाइटोकेमिकल है, जिसके सेवन से स्तन कैंसर के खतरे को कम किया जा सकता है। यह ऑरेंज, येलो, व गहरे हरे रंग की सब्जियों और फलों में अधिक पाया जाता है। अपने आहार में अधिक गाजर, कद्दू, पालक, केल, शकरकंद, आदि शामिल करके इसे पा सकते हैं।

Read More Articles On Healthy Diet in Hindi

Disclaimer