Covid 19: 21 दिन का लॉकडाउन! आपकी रसोई और फ्रिज में होने चाहिए ये 9 जरूरी फूड, स्वास्थ्य के साथ बनेगी सेहत

21 दिनों काे लॉकडाउन में सावर्जनिक स्थानों के साथ-साथ निजी दुकानों, मॉल और भीड़-भाड़ वाले स्थानों को पूर्ण रूप से बंद कर दिया गया है। 

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaUpdated at: Mar 25, 2020 11:07 IST
Covid 19: 21 दिन का लॉकडाउन! आपकी रसोई और फ्रिज में होने चाहिए ये 9 जरूरी फूड, स्वास्थ्य के साथ बनेगी सेहत

3rd Edition of HealthCare Heroes Awards 2023

देश-दुनिया में फैली कोरोना वायरस (Coronavirus) की दहशत ने लोगों को घरों में रहने के लिए मजबूर कर दिया है। फ्रांस, डेनमार्क, आयरलैंड, न्यूजीलैंड, पोलैंड, इटली और स्पेन कई देश पहले से ही लॉकडाउन (lockdown) की घोषणा कर चुके हैं जबकि कुछ देश इस बाबत कदम उठाने जा रहे हैं।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा ने लोगों को ये सोचने के लिए मजबूर कर दिया है कि कौन से फूड आपको अपने पास रखने चाहिए ताकि आप सेहतमंद रहें। लॉकडाउन एक ऐसी स्थिति है, जिसमें सावर्जनिक स्थानों के साथ-साथ निजी दुकानों, मॉल और भीड़-भाड़ वाले स्थानों को पूर्ण रूप से बंद कर दिया जाता है। लोग को घरों में रहना होता है और दूसरे लोगों से दूरी बनानी होती है। हालांकि आपको इस स्थिति में घबराने या जरूरत से ज्यादा चिंता करने की जरूरत नहीं है। आपको ऐसी स्थिति अपने पास जरूरी सामान खरीद कर पहले से ही रख लेने चाहिए ताकि आपको किसी प्रकार की दिक्कत न हो। इस लेख में हम आपको ऐसे जरूरी सामान के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें आपके पास होना चाहिए।

lockdown

साबुत अनाज, चावल, क्विनोआ, दलिया, बाजरा

ये सभी आपको हर प्रकार का प्रोटीन और डायटरी फाइबर प्रदान करते हैं, जिसकी आपके पाचन तंत्र को जरूरत होती है। इतनी ही नहीं ये सभी आपकी जेब पर ज्यादा असर नहीं डालते हैं, जो आपके पेट को ज्यादा देर तक भरा रखने में भी मदद करते हैं। इन सभी चीजों को आप महीने भर तक स्टोर कर भी रख सकते हैं क्योंकि ये चीजें जल्दी से खराब नहीं होती हैं।

लहसुन और प्याज

लहसुन और प्याज बाजार में आसानी से उपलब्ध होने वाले फूड आइटम हैं, जो आपके खाने के स्वाद को बढ़ाते हैं और जल्दी में बनाएं खाने को भी फ्लेवर देने का काम करते हैं। इसी के साथ आपको ये ध्यान रखने की जरूरत है कि इन्हें किसी ठंडी जगह जैसे कि फ्रिज में स्टोर कर रखें।

जड़ वाली सब्जियां

आलू, चुकंदर, ब्रसेल्स स्प्राउट्स, गाजर जैसी सब्जियों को खरीद कर रख लें। ये चीजें ऐसी हैं जो लंबे वक्त तक ताजी रहती हैं बस इन्हें धोने की जरूरत होती है।

इसे भी पढ़ेंः COVID 19: कहीं आपके हाथ में कोरोना वायरस वाला नोट तो नहीं? जानें नोट पर ठहरे वायरस से कैसे बचें और क्या करें

lockdownnuts

नट्स

ज्यादातर नट्स अपने शैल यानी के कवच के साथ आते हैं और इनके शैल की लाइफ काफी लंबी होती है, जिस कारण ये जल्दी खराब नहीं होते हैं। इतना ही नहीं नट्स स्नैकिंग का सबसे अच्छा विकल्प भी हैं और आपको स्वाद भी देने का काम करता है। इसलिए लॉकडाउन की स्थिति में इन्हें खरीदना न भूलें। मुठ्ठीभर नट्स आपकी भूख को लंबे वक्त तक शांत रखने में मदद करते हैं।

फल

फलों में सेब, केला, संतरा आपके लिए पेट भरने का एक बेहतर और सेहतमंद विकल्प हैं। जब भी बात फलों की आती है तो हर कोई सेब, केला और संतरे की ओर भागता है, जो आपकी भूख को दूसरे फलों के मुकाबले ज्यादा देर तक शांत रख सकते हैं।

अंडे

अगर अंडे को सही तरीके से रखा जाए तो फ्रिज में इसे 3 सप्ताह तक स्टोर किया जा सकता है। चूंकि अंडा प्रोटीन का भी एक उम्दा स्त्रोत है और इसे बनाना भी बहुत ही आसान है। अंडा सस्ता होने के कारण खूब खाया जाता है और इसका स्वाद भी दूसरे फूड की तुलना में बेहद अच्छा होता है।

सीरियल्स

सीरियल्स को बनाने में ज्यादा वक्त नहीं लगता और इसके ढेर सारे स्वास्थ्य लाभ भी हैं। इसलिए इसे स्टोर करना आपके लिए बेहद फायदेमंद है। इसकी खास बात ये है कि कई महीने तक स्टोर कर रखा जा सकता है।

इसे भी पढ़ेंः COVID 19 & Diabetes: डायबिटीज रोगी डेली रूटीन में फॉलो करें ये 5 टिप्स, कोरोना समेत कई वायरस का खतरा होगा खत्म

दूध और मक्खन

बाजार में बिकने वाले डिब्बाबंद दूध को जरूरत से ज्यादा खरीदने की कोशिश न करें और न ही इसे अपने फ्रिज में भरें। लेकिन आप थोड़ी मात्रा में इसे स्टॉक कर रख सकते हैं क्योंकि चाय-कॉफी के लिए इसकी जरूरत पड़ती है।

दवाईयां

डायबिटीज, ब्लड प्रेशर और हार्ट के मरीजों के लिए लॉकडाउन की स्थिति जानलेवा हो सकती है। इसलिए इन रोगों के मरीजों के कम से कम 1 महीने तक के लिए अपनी दवाईयां स्टोर कर लेनी चाहिए। समय पर दवाईयां नहीं मिलने से आपके रोग की गंभीरता बढ़ सकती है और जान जाने का खतरा भी रहता है इसलिए दवाओं को स्टोर करना आपके लिए फायदेमंद रहेगा।

Read More Articles On Coronavirus In Hindi

Disclaimer