डायबिटीज रोगियों के लिए मछली खाना है बहुत फायदेमंद, एक्सपर्ट से जानें इससे मिलने वाले 6 फायदे

वैसे तो मछली का सेवन बहुत से स्वास्थ्य लाभ देता है। लेकिन शोध बताते हैं कि मछली खाने से डायबिटीज भी कम होती है।

 

Monika Agarwal
डायबिटीज़Written by: Monika AgarwalPublished at: Jul 21, 2021Updated at: Jul 21, 2021
डायबिटीज रोगियों के लिए मछली खाना है बहुत फायदेमंद, एक्सपर्ट से जानें इससे मिलने वाले 6 फायदे

मछली का सेवन करना (Eating Fish) और डायबिटीज का रिस्क कम होना आम तौर पर यह दोनों शब्द एक दूसरे से जोड़ कर बताए जाते हैं। डॉक्टर शालिनी गार्विन ब्लिस, आहार विशेषज्ञ, कोलंबिया एशिया अस्पताल,का कहना है कि मछली खाने (Eating Fish) से आप पूरी तरह से तो डायबिटीज से नहीं बच सकेंगे। लेकिन अगर आप ओबेज हैं या मोटापे के शिकार हैं तो इससे आपका डायबिटीज के मरीज बनने का रिस्क बहुत कम हो सकता है।" मछली में बहुत से अच्छे गुण होते हैं जैसे यह ओमेगा 3, फैटी एसिड्स और बहुत सारे प्रोटीन और विटामिन्स का अच्छा स्रोत होती है। इसमें विटामिन डी होता है जो डायबिटीज के मरीजों में शुगर लेवल नियंत्रित करने में मदद करता है। इससे स्वस्थ लोगों में भी डायबिटीज का रिस्क कम होता है व साथ ही आप हृदय रोगों से भी बच सकते हैं। इसलिए यदि आप रोजाना मछली का सेवन(Eating Fish) करें तो शरीर में शुगर का खतरा काफी कम रहेगा। 

1. प्रोटीन से भरपूर (Protein Rich)

मछली प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत होती है और यह आपको बीफ और चिकन के मुकाबले भी अधिक और हाई क्वालिटी का प्रोटीन प्रदान करवाती है। टूना जैसी मछली आपको भूख भी ज्यादा नहीं लगने देती है और आपके इंसुलिन प्रतिक्रिया को तेज करती है। इसलिए मछली में होने वाले प्रोटीन की मदद से भी आपका डायबिटीज होने का रिस्क काफी कम हो सकता है।

इसे भी पढ़ें - डायबिटीज के कारण हो सकती हैं मुंह की ये 4 स्वास्थ्य समस्याएं, एक्सपर्ट से जानें बचाव के लिए टिप्स

2. मछली में होता है विटामिन डी (Contains Vitamin D)

कुछ फैटी फिश जैसे साल्मन और हेरिंग में ओमेगा 3 और विटामिन डी होते हैं। विटामिन डी से आपके अंदर डायबिटीज का रिस्क कम होता है। यह आपने शरीर की इंसुलिन सेंसिटिविटी को नियंत्रित करते है और इसी की वजह से आपका डायबिटीज का रिस्क कम होता है। असल में डायबिटीज का मुख्य कारण इंसुलिन का सही से प्रयोग न हो पाना ही तो है।

3. ओमेगा 3 फैटी एसिड्स से युक्त (Omega 3 Fatty Acids)

ओमेगा 3 फैटी एसिड न केवल डायबिटीज को कंट्रोल करने में मदद करते हैं बल्कि इनके और भी बहुत सारे स्वास्थ्य लाभ होते हैं। ओमेगा 3 प्रो इन्फ्लेमेटरी साइटोकाइंस को कम करते हैं। जिसे डायबिटीज होने का मुख्य कारण माना जाता है। यह कोलेस्ट्रॉल लेवल को भी नियंत्रित करते हैं। इसलिए ये आपके हृदय रोग व डायबिटीज होने के रिस्क को कम करने में सहायक हैं।

4. कैलोरीज़ की मात्रा होती है बहुत कम (Low Calories)

यह तो हम सब जानते हैं कि मोटापा डायबिटीज का एक रिस्क फैक्टर है। इसलिए आपको वही चीजें खानी चाहिए जिनमें कम कैलरी हों और आपका पेट भी भर सके। तिलापिया, कोड और सोल जैसी मछलियों में कैलोरीज़ की संख्या काफी कम होती है और इसलिए यह आपके शरीर में अधिक फैट या अधिक कैलोरीज़ का जमाव नहीं होने देती हैं। जिससे आपका मोटापा नहीं बढ़ता है और डायबिटीज होने का रिस्क भी कम होता है।

5. फाइबर से भरपूर (Fibre Rich)

मछली में फाइबर की मात्रा भी होती है और एक स्टडी के अनुसार डाइट्री फाइबर ग्रहण करने से आपके बैड कोलेस्ट्रॉल लेवल में कमी आती है व इससे आपके प्लाज्मा लिपिड लेवल भी कम हो सकते हैं। जिससे आपका इंसुलिन नियंत्रित होता है। फाइबर के सेवन से आपको ज्यादा समय के लिए भूख भी नहीं लगती है जो आपको ओवर ईटिंग करने से बचाता है।

इसे भी पढ़ें - कितना होना चाहिए आपका ब्लड शुगर? जानें घर पर कैसे चेक करें ब्लड शुगर

6. विटामिन बी 12 से भरपूर (Rich With Vit B12)

एक स्टडी के अनुसार बहुत से डायबिटीज के मरीजों में विटामिन बी 12 की कमी देखने को मिलती है। अगर आप मछली खाते हैं तो इससे आपके शरीर में प्रयाप्त मात्रा में विटामिन बी 12 पहुंचता है और इसकी कमी के कारण आपका डायबिटीज होने का रिस्क बहुत कम हो जाता है।

तो देखा आपने की मछली में कितने अधिक पोषण तत्त्व होते हैं और यह सब न केवल आपको डायबिटीज और हृदय रोगों से बचाते हैं बल्कि आपके शरीर के लिए भी बहुत लाभदायक होते हैं। ये आपको हेल्दी रहने में मदद करते हैं। इसलिए आप अगर डायबिटीज के रिस्क में हैं तो आपको मछली को अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए। ताकि आप मोटापे, हृदय रोगों और डायबिटीज सभी से बच सकें और एक हेल्दी जीवन जी सकें।

Read more Article on Healthy Diet in Hindi 

Disclaimer