Expert

नॉन-अल्कोहोलिक फैटी लिवर रोगी सुबह से रात तक क्या खाएं? डायटीशियन से जानें फुल डे डाइट

Non-Alcoholic Fatty Liver Diet: नॉन-अल्कोहोलिक फैटी लिवर रोगियों की डाइट कैसी होनी चाहिए? इस लेख में एक्सपर्ट से जानें सुबह से शाम तक क्या खाना चाहिए।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarUpdated at: Dec 01, 2022 00:08 IST
नॉन-अल्कोहोलिक फैटी लिवर रोगी सुबह से रात तक क्या खाएं? डायटीशियन से जानें फुल डे डाइट

3rd Edition of HealthCare Heroes Awards 2023

Non-Alcoholic Fatty Liver Diet Plan: फैटी लिवर रोगियों को अपने खानपान का खास ख्याल रखने की जरूरत होती है। क्योंकि यह एक गंभीर स्थिति है, जिसमें व्यक्ति के लिवर में फैट अधिक मात्रा में जमा होने लगती है। फैटी लिवर व्यक्ति अगर थोड़ा भी अधिक तला, भुना, मीठा, रिफाइन और डालडा आदि का सेवन करते हैं, तो इससे उनकी दिक्कते हैं बढ़ जाती हैं। इससे व्यक्ति के शरीर में भी चर्बी बढ़ती है, साथ ही कुछ मामलों में इससे लिवर फेलियर की स्थिति भी पैदा हो सकती है। आमतौर लोग लोग इस बात को लेकर काफी असमंजस में रहते हैं कि फैटी लिवर रोगियों को क्या खाना चाहिए और क्या नहीं? क्लीनिकल न्यूट्रिशनिस्ट और डायटीशियन गरिमा गोयल की मानें तो फैटी लिवर में आपका खानपान इसके प्रकार और गंभीरता पर निर्भर करता है। फैटी लिवर के दो प्रकार पहला अल्कोहोलिक फैटी लिवर (AFLD) और दूसरा नॉन अल्कोहोलिक फैटी लिवर (NAFLD)।

अल्कोहोलिक फैटी लिवर की स्थिति उन लोगों में देखने को मिलती है जो शराब का सेवन अधिक करते हैं। वहीं नॉन अल्कोहोलिक फैटी लिवर की जीवनशैली के अन्य कारकों के कारण देखने को मिलती है। नॉन अल्कोहोलिक फैटी लिवर के रोगियों को सुबह से शाम तक क्या खाना चाहिए और क्या नहीं, इस बात को लेकर लोग काफी परेशान रहते हैं। इस विषय पर बेहतर जानकारी के लिए हमने क्लीनिकल न्यूट्रिशनिस्ट और डायटीशियन गरिमा गोयल से बात की। इस लेख में हम आपके साथ नॉन अल्कोहोलिक फैटी लिवर के लिए फुल डे डाइट शेयर कर रहे हैं।

Non-Alcoholic Fatty Liver Diet Plan

नॉन अल्कोहोलिक फैटी लिवर रोग के लिए डाइट- What is the best diet for non alcoholic fatty liver disease

सुबह क्या खाएं?

सुबह लगभग 6-7 बजे के तक आपको एक गिलास (200ml) कम फैट वाला दूध पिएं।

ब्रेकफास्ट में क्या खाएं?

नाश्ते में आप लगभग 8 से 8.30 के आसपास आप सब्जियों से भरपूर खिचड़ी खा सकते हैं। साथ ही 4-5 अंडे की सफेदी खा सकते हैं।

मिड मॉर्निंग स्नैक

नाश्ते और लंच के बीच में आप अंकुरित मूंग का सेवन कर सकते हैं। साथ में दही खा सकते हैं। साथ ही कोई भी एक मौसमी फल खा सकते हैं। इसके अलावा कद्दू की सब्जी, भिंडी, एक कप पनीर आदि का सेवन कर सकते हैं

इसे भी पढें: अंडे की सफेदी या पूरा अंडा, सेहत के लिए क्या है ज्यादा फायदेमंद?

दोपहर में क्या खाएं?

  • 1 कप चावल
  • 1 कप कद्दू की सब्जी
  • आधा कप भिंडी मसाला
  • आधा कप भुना हुआ पनीर, या सब्जी

शाम को क्या खाएं?

शाम के समय (लगभग 3.30 बजे) आप आप 2-3 पीस ढोकला, आधा कप पुदीना की चटनी खा सकते हैं। देर शाम (5-5.30) के आसपास आप उबले हुए या भुने चने खा सकते हैं।

डिनर में क्या खाएं?

रात के खाने में (7.30P.M-8.00 बजे) आप 2 रोटी, एक कटोरी राजमा, गाजर और खीरे के सलाद का सेवन कर सकते हैं।

इसे भी पढें: सुबह खाली पेट जीरा, सौंफ और इलायची का पीना पीने से सेहत को मिलेंगे ये 5 फायदे

एक्सपर्ट क्या सलाह देते हैं?

डायटीशियन गरिमा के अनुसार आपको नॉन अल्कोहोलिक फैटी लिवर रोगियों को हमेशा छोटी-छोटी मील लेने चाहिए, और थोड़े-थोड़े समय बाद खाना चाहिए। इससे पाचन बेहतर होता है और भूख बनी रहती है। इसके अलावा आपको अपने आहार में रंग-बिरंगे, मौसमी फल और सब्जियों को अधिक शामिल करना चाहिए, साथ ही नमक का सेवन सीमित करना चाहिए। आपको जंक, प्रोसेस्ड, डिब्बा बंद, पैकेज्ड, कोल्ड ड्रिंक्स और चीनी युक्त फूड्स का सेवन कम से करना चाहिए। आपको नियमित एक्सरसाइज करनी चाहिए साथ ही शराब और स्मोकिंग जैसी आदतों से परहेज करना चाहिए।

All Image Source: Freepik

Disclaimer