Expert

अंडे की सफेदी या पूरा अंडा, सेहत के लिए क्या है ज्यादा फायदेमंद?

Which Is Healthier Egg White Or Whole Egg: लोग अक्सर पूछते हैं कि पूरा अंडा खाना ज्यादा फायदेमंद है या सिर्फ इसका सफेद भाग? आइए एक्सपर्ट से जानें।

 

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarUpdated at: Nov 29, 2022 00:13 IST
अंडे की सफेदी या पूरा अंडा, सेहत के लिए क्या है ज्यादा फायदेमंद?

Which Is Healthier Egg White Or Whole Egg: अंडे पोषक तत्वों का पावर हाउस होते हैं, इन्हें नाश्ते के लिए सबसे बेहतर विकल्प माना जाता है। हम में से ज्यादातर ब्रेकफास्ट में अंडे की सफेदी, उबले हुए अंडे, ऑमलेट आदि पसंद खाना पसंद करते हैं- खासकर फिटनेस लवर्स के लिए यह ब्रेकफास्ट की पहली पसंद है। हालांकि शाकाहारी लोगों के साथ ऐसा नहीं है। अंडे को प्रोटीन के सर्वश्रेष्ट स्रोत में से एक माना जाता है, क्योंकि इनमें बहुत हाई क्वालिटी प्रोटीन होता है। यह आपको पूरा दिन एनर्जी प्रदान करने में मदद करता है, साथ ही आपके पेट लंबे समय तक भरा रखता है। ये वजन प्रबंधन में मदद करने से लेकर, कई गंभीर रोगों को आपके दूर रखने और मसल बिल्डिंग तक, सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद होते हैं। लेकिन अक्सर हम देखते हैं कि कुछ लोग सिर्फ अंडे का सफेद भाग खाते हैं और अंदर का पीला भाग अलग निकाल देते हैं। वहीं कुछ लोग पूरा अंडा खाना पसंद करते हैं।

ऐसे में अक्सर लोग इस बात को लेकर काफी असमंजस में रहते हैं कि अंडे का सफेद भाग खाना ज्यादा फायदेमंद होता है या पूरा अंडा? इस विषय पर बेहतर जानकारी के लिए हमने क्लीनिकल न्यूट्रिशनिस्ट और डायटीशियन गरिमा गोयल से बात की। इस लेख में हम आपको इसके बारे में विस्तार से बता रहे हैं।

Which Is Healthier Egg White Or Whole Egg

पूरा अंडा सेहत के लिए कैसे फायदेमंद है- Whole Egg Health Benefits

डायटीशियन गरिमा के अनुसार अगर पोषण की बात करें, तो पूरे अंडे में अंडे की सफेदी से अधिक पोषण होता है। जब आप पूरा अंडा खाते हैं तो इससे आपको विटामिन ए, बी6, बी12, डी, ई, के, कोलीन, फोलेट आदि प्राप्त होते है। वहीं इससे कई जरूरी मिनरल्स भी प्राप्त होते हैं जैसे कैल्शियम, आयरन, सोडियम, सेलेनियम, पोटेशियम, मैग्नीशियम आदि। इसके अलावा, अंडे का पीला भाग हेल्दी फैट्स और गुड़ कोलेस्ट्रॉल से भरपूर होता है।

साउथ कैरोलिना विश्वविद्यालय के एक अध्ययन में यह निष्कर्ष निकाला गया कि जो लोग पूरे अंडे का सेवन करते हैं, उनमें कैंसर जैसे गंभीर रोगों का जोखिम कम देखने को मिलता है। यह स्तन कैंसर के जोखिम को कम करने में भी प्रभावी है।   ऐसा इसलिए क्योंकि अंडे के पीले भाग में कोलीन होता है, जो महिलाओं में स्तन कैंसर के जोखिम को कम करने और रोकने में प्रभावी साबित हो सकता है। इसके अलावा अंडे इसमें कैरोटेनॉयड्स भी मौजूद होते हैं, जो आपकी आंखों को हेल्दी रखने में मदद करते हैं। हालांकि आपको यह ध्यान रखना चाहिए कि अंडे के पीले भाग में भूरे या किसी भी तरह के धब्बे न हों।

इसे भी पढें: सुबह खाली पेट जीरा, सौंफ और इलायची का पीना पीने से सेहत को मिलेंगे ये 5 फायदे

अंडे का सफेद भाग सेहत के लिए कैसे फायदेमंद है- Egg White Health Benefits

अंडे का सफेद भाग उन लोगों के लिए ज्यादा फायदेमंद होता है, जो वजन कम करने या मसल बिल्डिंग का प्रयास कर रहे होते हैं। क्योंकि इनमें कैलोरी की मात्रा कम होती है। एक पूरा अंडा खाने से आपको 5 ग्राम प्रोटीन और 60 कैलोरी मिलती है और फैट भी मिलता है। वहीं सिर्फ अंडे का सफेद भाग खाने से आपको 3 ग्राम प्रोटीन मिलता है, लेकिन इससे आपको कैलोरी सिर्फ 20 मिलती है और फैट न के बराबर होता है। इसलिए ही फैट लॉस और वेट लॉस करने वाले लोग अंडे का सफेद भाग खाना ज्यादा पसंद करते हैं, क्योंकि वे अगर अधिक अंडे का सफेद भाग भी खाते हैं, तो इससे उनकी प्रोटीन की जरूरत पूरी हो जाती है और कैलोरी की खपत भी अधिक नहीं होती है।

हालांकि इसमें पोषण कम होता है, लेकिन प्रोटीन, कैल्शियम, पोटैशियम, सोडियम, मैग्नीशियम और फास्फोरस आदि जैसे पोषक तत्व प्रचुर मात्रा में मौजूद होते हैं। इसका सेवन डायबिटीज और हृदय रोगियों के लिए भी सुरक्षित माना जाता है।

इसे भी पढें: सिंघाड़ा और मिश्री साथ में खाने से मिलते हैं कई फायदे, एक्सपर्ट से जाने इनके बारे में

अंडे का सफेद भाग या पूरा अंडा, आपको क्या खाना चाहिए?

डायटीशियन गरिमा की मानें तो पूरा अंडा और अंडे का सफेद भाग, सेहत के लिए दोनों ही बहुत फायदेमंद होते हैं। आपको किसका सेवन करना चाहिए यह आपकी जरूरतों, मेडिकल कंडीशन और फिटनेस गोल्स पर निर्भर करता है। हालांकि सेहतमंद रहने के लिए आप दोनों का सेवन भी कर सकते हैं, जैसे कि अगर कोई व्यक्ति 5 अंडे खाता है तो वह 3 या 2 पूरे अंडे और बाकी का सिर्फ सफेद भाग खा सकता है। इससे आपको पर्याप्त पोषण मिलता है, और सेहत को भी कई लाभ मिलते हैं।

All Image Source: Freepik

Disclaimer