डायबिटीज एक लाइलाज बीमारी है। इसलिए इसे कंट्रोल में रखने के लिए खाने-पीने पर बहुत ध्यान देने की आवश्यकता होती है।

"/>

Expert

डायबिटीज मरीजों का ब्लड शुगर रहेगा कंट्रोल, फॉलो करें CDC का बताया ये डाइट प्लान

डायबिटीज एक लाइलाज बीमारी है। इसलिए इसे कंट्रोल में रखने के लिए खाने-पीने पर बहुत ध्यान देने की आवश्यकता होती है।

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasPublished at: Jun 19, 2022Updated at: Jun 23, 2022
डायबिटीज मरीजों का ब्लड शुगर रहेगा कंट्रोल, फॉलो करें CDC का बताया ये डाइट प्लान

Foods For Diabetes Patients:आजकल की अनियमित लाइफस्टाइल में कई लोग डायबिटीज जैसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं। डायबिटीज एक ऐसी लाइलाज बीमारी है जो अगर एक बार किसी व्यक्ति को हो जाए तो उसे ताउम्र इसके साथ जीना पड़ता है। कई रिसर्च में यह बात सामने आ चुकी है कि डायबिटीज के मरीजों को आंख, किडनी और दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा ज्यादा रहता है। यही कारण है कि डॉक्टर डायबिटीज के मरीजों को ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रखने की सलाह देते हैं।&

डॉक्टरों का मानना है कि डायबिटीज को कंट्रोल में रखने के लिए हेल्दी डाइट के साथ फिजिकल एक्टिविटी बहुत जरूरी है। इसलिए वो मरीजों को योग, मेडिटेशन, वॉकिंग जैसी एक्सरसाइज करने के लिए कहती हैं। चूंकि डायबिटीज का कोई ऐसा इलाज नहीं है जिससे वो तुरंत ठीक हो जाए ऐसे में उन्हें खान पान का बहुत ध्यान रखना होता है। सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) ने डायबिटीज के मरीजों के लिए एक खास डाइट प्लान शेयर किया है। इस डाइट प्लान को फॉलो करने से ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है।

इसे भी पढ़ेंः महिलाओं और पुरुषों के कंडोम में होता है थोड़ा अंतर, जानें बर्थ कंट्रोल के लिए कौन है ज्यादा भरोसेमंद

पोर्शन और सर्विंग साइज पर ध्यान देना है जरूरी

सीडीसी के मुताबिक डायबिटीज के मरीजोंको अपने खाने की प्लेट का पोर्शन और सर्विंग साइज दोनों ही बातों पर बहुत ध्यान देने की जरूरत होती है। पोर्शन के साइज पर ध्यान देना इसलिए जरूरी है क्योंकि कई रिसर्च में यह बात सामने आई है कि जब थाली पर ज्यादा खाना परोसा जाता है तो लोग ज्यादा खाते हैं, जिससे ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है।

रेस्त्रां में खाते वक्त ध्यान रखना है जरूरी

CDC का मानना है कि आजकल रेस्त्रां में खाना खाने का चलन काफी है। अगर कोई डायबिटीज का मरीज रेस्त्रां में खाना आ खा रहा है तो वहां पर सिर्फ आधा खाना ही खाए और बाकी पैक करवा लें। खाने के दो हिस्सों में खाने से ब्लड शुगर लेवल पर प्रभाव पड़ता है। इसी तरह घर पर चिप्स, कुरकुरे या कोई भी स्नैक्स खाते समय इसे पहले प्लेट में निकाले ताकि मात्रा का ध्यान रखा जा सके। 

से भी पढ़ेंः पैकेटबंद मीठी चीजों में होता है आर्टिफिशियल स्वीटनर का इस्तेमाल, जानें इससे सेहत को होने वाले नुकसान

डायबिटीज के मरीज खाने की मात्रा को कैसे मापें

डायबिटीज के मरीज खाने की मात्रा को कैसे माप सकते हैं इसके लिए भी सीडीसी के एक फार्मूला तैयार किया है। खाने की मात्रा को मापने के लिए डायबिटीज के मरीज अपने हाथ और उंगलियों का इस्तेमाल कर सकते हैं और खाने के पोर्शन को ठीक कर सकते हैं। चिकन, रेड मीट या फिश के 3 औंस हाथ की हथेली (नॉनवेज खाने की मात्रा हाथ के बीच वाले हिस्से जितना ही खाएं)

1. चिकन, रेड मीट या फिश के 3 औंस

हाथ की हथेली (नॉनवेज खाने की मात्रा हाथ के बीच वाले हिस्से जितना ही खाएं)

2. चिकन, रेड मीट या पनीर  के 1 औंस 

अंगूठा 

3. कोई भी फ्रूट या नट

एक मुट्ठी

4. खाने की कोई भी अतिरिक्त चीज

हाथ के बीच में

आप खाने को किस तरह के अपनी डेली डाइट में शामिल कर रहे हैं यह आपके स्वास्थ्य, वजन और उम्र पर निर्भर करता है। डायबिटीज के मरीजों को हमेशा हेल्दी खाना जैसे की सलाद, हरी बीन्स, चिकन, अंडे खाने की सलाह दी जाती है। लेकिन किसी भी चीज को डाइट प्लान में शामिल करने से पहले अपने डॉक्टर से बातचीत जरूर करें।

All Image Source: Freepik.Com

(With Inputs: Center for Disease Control and Prevention Website)

 

 

Disclaimer