रोजाना गर्म पानी से नहाना कम कर सकता है दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा, शोध में हुआ खुलासा

गर्म पानी से नहाना स्वास्थ्य के लिए कई तरह से फायदेमंद है, लेकिन इसका दीर्घकालिक प्रभाव है कार्डियोवैस्कुलर जोखिमों को कम करना।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Mar 26, 2020
रोजाना गर्म पानी से नहाना कम कर सकता है दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा, शोध में हुआ खुलासा

गर्म पानी या गुनगुने पानी से नहाना हमेशा से ही फायदेमंद माना जाता है। पर हाल ही में आया एक अध्ययन बताता है कि हर दिन गर्म पानी से नहाना आपको दिल से जुड़ी कई बीमारियों से बचा सकता है। शोध की मानें, तो प्रत्येक दिन गर्म पानी का स्नान दिल का दौरा या स्ट्रोक से मरने की संभावना को काफी कम कर सकता है। दरअसल एक जापानी अध्ययन के लिए 30,000 से अधिक लोगों पर शोध किया गया था, जिनके 1990 और 2009 के बीच स्नान की आदतों पर नजर रखी गई। जर्नल हार्ट में परिणामों को प्रकाशित करते हुए, शोधकर्ताओं ने यह भी कहा कि गर्म पानी से दैनिक स्नान करने वालों में उच्च रक्तचाप का खतरा कम था, वहीं ये कई बीमारियों के खतरे को भी कम कर सकता है। 

insidehotwaterbathandheartrisks

क्या कहता है शोध

दरअसल शोध में अध्ययन के लिए 30,000 से अधिक लोगों के नहाने की आदतों का अध्ययन किया गया, जिससे पता चलता है कि आदतन टब स्नान मध्यम आयु वर्ग के बीच के लोगों में हृदय रोग (सीवीडी) के कम जोखिम से जुड़ा हुआ था। शोध में देखा गया कि जो लोग गर्म पानी से नहा रहे थे, ब्लड सर्कुलेशन बेहतर था। साथ ही उनके शरीर का ब्लड प्रेशर ठंडे पानी से नहाने वाले लोगों की तुलना में बेहतर ढ़ंग से संतुलित था। दिल का दौड़ा और हृदय से जुड़ी बीमारियों से बचने के लिए भी ये एक प्रभावी तरीका हो सकता है।

इसे भी पढ़ें: ये 5 संकेत बताते हैं बस आ ही गया हार्ट अटैक, जानें न दिखाई लेने वाले लक्षणों से कैसे बचें

शोधकर्ताओ की मानें, तो गर्म पानी से नहाना व्यायाम के प्रभाव के समान हैं और माना जाता है कि यह लंबे समय तक संवहनी कार्य को बेहतर बनाता है। हालांकि शोधकर्ताओं ने स्वीकार किया कि गर्म स्नान करने की आवृत्ति केवल हृदय रोग की दर निर्धारित करने वाला एकमात्र कारक नहीं हो सकता है। उन्होंने पाया कि गर्म पानी का स्नान करने वाले लोगों को अन्य स्वस्थ व्यवहारों में संलग्न होने की संभावना कम थी। रिपोर्ट ने बताया कि गर्म स्नान से जुड़े कुछ जोखिम थे।

insidehotwaterbathandheartrisks

इसका पता लगाने के लिए, शोधकर्ताओं ने जापान पब्लिक हेल्थ सेंटर स्थित स्टडी कोहोर्ट 1 में प्रतिभागियों पर किया, जो 61,000 से अधिक मध्यम आयु वर्ग के वयस्कों का एक ट्रैकिंग-आधारित अध्ययन है। 1990 में अध्ययन की शुरुआत में, कुछ 43,000 प्रतिभागियों ने अपने स्नान की आदतों और संभावित प्रभावशाली कारकों पर एक विस्तृत प्रश्नावली पूरी की। जीवन शैली, जिसमें व्यायाम, आहार, शराब का सेवन, वजन (बीएमआई) आदि भी शामिल था। औसत नींद की अवधि, चिकित्सा इतिहास और वर्तमान दवाओं का उपयोग करने वाले लोगों में भी ये शोध हुआ।

इसे भी पढ़ें: अचानक बढ़ जाती है दिल की धड़कन तो हो सकती है ये खतरनाक बीमारी, इन लक्षणों से पहचानें

बुजुर्गों का स्वास्थ्य

अगर बुजुर्गों के स्वास्थ्य के बात करें, तो टब स्नान अचानक मृत्यु, विशेष रूप से बुजुर्गों में, आकस्मिक मौत या दिल के दौरे को टीक कर सकता है। दरअसल गर्म पानी से नहाने से शरीर के तापमान में तेजी से बदलाव आता है और ये गर्मी ब्लड प्रेशर को मेंटेन करने का काम करती है। शोध की मानें, तो गर्म पानी से नहाने से दिन से जुड़ी बीमारियां 26 प्रतिशत तक कम होती है और 35 प्रतिशत तक बाकी बीमारियों के जोखिम को कम करता है। वहीं गर्म पानी से नहाने से नींद भी बेहतर होती है। दरअसल स्नान करना अच्छी नींद की गुणवत्ता और बेहतर स्वास्थ्य के साथ जुड़ा हुआ है, लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि इसका दीर्घकालिक प्रभाव हृदय रोग के जोखिम पर हो सकता है, जिसमें दिल का दौरा, अचानक हृदय की मृत्यु और स्ट्रोक शामिल हैं।

Read more articles on Health-News in Hindi

Disclaimer