घाव को कैसे करें साफ ताकि न हो इंफेक्शन का खतरा? जानें सही और सुरक्षित तरीका

घाव हो जाने पर उसे साफ करना ही नहीं बल्‍क‍ि इंफेक्‍शन से बचाना भी जरूरी होता है, जानें घाव होने पर उसे इंफेक्‍शन से कैसे बचाना है 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Jul 30, 2021 17:27 IST
घाव को कैसे करें साफ ताकि न हो इंफेक्शन का खतरा? जानें सही और सुरक्षित तरीका

घाव होने पर इंफेक्‍शन का डर रहता है। अगर आप संक्रमण से घाव को बचाना चाहते हैं तो आपको कुछ खास बातों का ध्‍यान रखना चाह‍िए। घाव अगर ज्‍यादा गहरा है तो आपको डॉक्‍टर के पास जाकर ही घाव को ड‍िसइंफेक्‍टेंट करवाना चाह‍िए। घाव को ड‍िसइंफेक्‍टेंट करने के ल‍िए ब्‍लीड‍िंग का रुकना जरूरी है। अगर ब्‍लीड‍िंग न रुके तो बैंडेज रखकर उसे हिस्‍से पर हल्‍का दबाव दें। अगर ब्‍लीड‍िंग दस म‍िनट के बाद भी न रुके तो भी आपको डॉक्‍टर की मदद लेनी चाह‍िए। अगर घाव में सूजन, सुन्‍न होना, लालपन या स्‍मेल बढ़ने लगे तो आपको तुरंत डॉक्‍टर के पास जाना चाहिए। इस लेख में हम घाव को ड‍िसइंफेक्‍टेंट करने के तरीके पर चर्चा करेंगे। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की।

wound infection

घाव होने पर सबसे पहले क्‍या करें? (How to treat wound) 

घाव होने पर साफ कॉटन लेकर घाव को क्‍लीन करें। फ‍िर सैलाइन सॉल्‍यूशन से घाव को साफ करें। जब घाव साफ हो जाए तो उस पर एंटीबायोट‍िक क्रीम लगाकर पट्टी बांध लें। घाव होने पर सबसे जरूरी है खून का रुकना। जब खून रुक जाए तब घाव पर पट्टी बांधें। अगर त्‍वचा घाव के कारण जली है तो आप उसपर बर्न प्रोटेक्‍ट‍िंग क्रीम लगाएं। अगर त्‍वचा में कोई नुकीली चीज के कारण घाव हुआ है तो आपको डॉक्‍टर के पास जाकर ही ड्रेस‍िंग करवानी चाह‍िए। अगर त्‍वचा में घाव के कारण छेद हुआ है तो आपको घाव को धूल-म‍िट्टी से बचाकर रखना चाह‍िए। घाव पर आप कई तरह के बैंडेज इस्‍तेमाल कर सकते हैं जैसे स्‍ट्र‍िप बैंड‍ेज, प्रेशर बैंडेज, मोलस्‍क‍िन आदि।

इसे भी पढ़ें- कांच चुभने पर घाव ठीक करने के लिए अपनाएं ये 5 घरेलू उपाय

घाव को ड‍िसइंफेक्‍टेंट कैसे करें? (How to disinfect wound)

  • घाव को साफ पानी से साफ करें। घाव के आसपास के ह‍िस्‍से को भी ड‍िसइंफेक्‍टेंट से क्‍लीन करें। 
  • घाव को साबुन से साफ करने से बचें, इससे आपको तेज दर्द और जलन हो सकती है। 
  • आप घाव को ड‍िसइंफेक्‍टेंट करने के ल‍िए नमक का पानी भी इस्‍तेमाल कर सकते हैं। 
  • घाव को साफ करने के ल‍िए गंदे हाथों का इस्‍तेमाल न करें। गंदे हाथों से घाव में इंफेक्‍शन हो सकता है। 
  • आपको ज‍िस हाथ या पैर में चोट लगी हो उससे ज्‍वैलरी को न‍िकाल दें, इससे भी इंफेक्‍शन हो सकता है। 
  • अगर आप क‍िसी अन्‍य व्‍यक्‍त‍ि का घाव साफ कर रहे हैं तो आपको हाथों को साफ करके ग्‍लब्‍स पहनना चाह‍िए ताक‍ि इंफेक्‍शन का डर न रहे। इससे न आपको इंफेक्‍शन होगा और न उस व्‍यक्‍त‍ि को ज‍िसके शरीर में घाव है। 
  • खून बहने पर आपको अपने घाव को ऊपर की ओर या उठाकर रखना चाह‍िए इससे खून बहना रुक जाएगा। 

घाव को इंफेक्‍शन से बचाने के ल‍िए किन बातों का ध्‍यान रखें? (How to prevent infection in wound)

wound

  • घाव को साफ करने के बाद आपको इस बात का ध्‍यान रखना है त्‍वचा पर लालपन, सूजन या ब्‍लड न बहे। अगर घाव से तरल पदार्थ न‍िकल रहा है तो उसके रंग को ध्‍यान से देखें, अगर उसका रंग पीला, ब्राउन या हरा है तो इसका मतलब घाव में इंफेक्‍शन है। ऐसे लक्षण नजर आने पर तुरंत डॉक्‍टर से संपर्क करें। 
  • आपको बैंडेज को पानी या नमी से बचाना चाह‍िए तभी घाव जल्‍दी ठीक होगा। 
  • घाव को जल्‍दी ठीक करना है तो उसे बार-बार छूने से बचें, इससे घाव में इंफेक्‍शन का खतरा कम होगा। 
  • एंटीबायोट‍िक दवा खरीदने से पहले उसके इंग्रीड‍िएंट्स ध्‍यान से पड़ लें कहीं आपको क‍िसी चीज से इंफेक्‍शन तो नहीं है। 
  • आपको रोजाना नहाने के बाद द‍िन में एक बार ड्रेस‍िंग जरूर बदलनी चाह‍िए, अगर घाव गहरा है तो डॉक्‍टर से सलाह लेकर ही पट्टी बदलें। 
  • अगर आपके घाव में छेद है या क‍िसी चीज से घाव हुआ है तो आपको ट‍िटनेस का इंजेक्‍शन भी लेना चाहि‍ए।

इसे भी पढ़ें- इंजेक्शन के साइड इफेक्ट के कारण त्वचा पर हो रिएक्शन या बनने लगे मवाद, तो कभी न करें ये 5 गलतियां

घाव को इंफेक्‍शन से बचाने के घरेलू उपाय (Home remedies to disinfect wound)

अगर आप अस्‍पताल से दूर हैं या आपके पास ड‍िसइंफेक्‍टेंट मौजूद नहीं है तो आप कुछ घरेलू उपायों की मदद से घाव को इंफेक्‍शन से बचा सकते हैं। अगर आपका घाव अध‍िक गहरा नहीं है तो ही आप इन तरीकों को अपनाएं, अगर खून ज्‍यादा बह रहा है तो पहले ब्‍लीड‍िंग रोकने की कोश‍िश करें और घाव को इंफेक्‍शन से बचाएं, इन दो तरीकों से आप घाव को इंफेक्‍शन से बचा सकते हैं-

हल्‍दी और नीम के पेस्‍ट से ठीक दूर होगा घाव का इंफेक्‍शन (Apply haldi + neem paste on wound)

neem paste for wound

घाव को ठीक करने के ल‍िए आप हल्‍दी और नीम का पेस्‍ट लगा सकते हैं। हल्‍दी में एंटी-इंफ्लामेटरी गुण और एंटी-माइक्रोब‍ियल गुण होते हैं, इससे घाव ठीक भी होता है और इंफेक्‍शन खत्‍म भी होता है। हल्‍दी के साथ आप नीम को म‍िलाएं, इससे घाव जल्‍दी ठीक हो जाएगा और घाव में इंफेक्‍शन नहीं होगा। हल्‍दी और सूजन से दर्द और सूजन भी ठीक होगा। आप हल्‍दी के साथ गुनगुना पानी म‍िलाकर भी घाव पर लगा सकते हैं। म‍िश्रण बनाने के ल‍िए आप हल्‍दी में नीम की पत्‍त‍ियों का पेस्‍ट म‍िला लें। 

घाव को इंफेक्‍शन से बचाने के लि‍ए शहद लगाएं (Apply honey on wound)

आप घाव को इंफेक्‍शन से बचाने के ल‍िए शहद लगा सकते हैं। शहद च‍िपच‍िपा और मीठा होता है इसल‍िए आप इस म‍िश्रण को ज्‍यादा देर लगाने में परेशानी हो सकती है पर इस तरीके से घाव से कारण होने वाले दर्द से राहत म‍िलेगा। अगर घाव ज्‍यादा गहरा नहीं है तो आप उस पर लहसुन का पेस्‍ट भी लगा सकते हैं। टी ट्री ऑयल से भी इंफेक्‍शन को कम क‍िया जा सकता है पर टी ट्री ऑयल को कैस्‍टर ऑयल में म‍िलाकर तब घाव पर लगाएं। 

एलोवेरा और नार‍ियल के तेल से भी दूर कर सकते हैं घाव का इंफेक्‍शन (Apply alovera + coconut oil paste on wound)

alovera for wound

चोट या घाव होने पर आप एलोवेरा और नार‍ियल के तेल का भी इस्‍तेमाल कर सकते हैं। एलोवेरा जेल में व‍िटाम‍िन और म‍िनरल होते हैं ज‍िससे घाव ठीक हो जाता है और नार‍ियल के तेल से घाव का दर्द कम होगा और इंफेक्‍शन का डर नहीं रहेगा। एलोवेरा से जलन भी कम होती है। आप घाव को साफ करके इस म‍िश्रण को लगाएं और पट्टी बांध लें। म‍िश्रण बनाने के ल‍िए एलोवेरा की पत्‍त‍ियों से जेल न‍िकालें और उसमें नार‍ियल का तेल म‍िला लें। 

अगर खून न रुके या घाव गहरा हो तो खुद से इलाज न करें, तुरंत डॉक्‍टर के पास जाएं। गहरे घाव को घर पर ठीक नहीं क‍िया जा सकता उसके ल‍िए च‍िकि‍त्‍सा सहायता की जरूरत होती है। 

Read more on Miscellaneous in Hindi 

Disclaimer