माता-पिता पढ़ाई में अच्छे तो बच्चे भी करेंगे टॉप

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 07, 2014

way of studyक्या आप जानते हैं अगर आप अपने छात्र जीवन में शैक्षिक प्रदर्शन में काबिल होंगे तो आपके बच्चे का प्रदर्शन भी अच्छा रहेगा। हाल ही में हुए शोध में कहा गया है कि स्कूल में बच्चे का शैक्षिक प्रदर्शन उसके अभिभावकों की पढ़ाई-लिखाई पर निर्भर करता है। माता-पिता की शैक्षिक स्थिति का वर्किंग मेमोरी या व्यावहारिक स्मरणशक्ति से संबंधित कार्यो में बच्चों के प्रदर्शन पर सीधा असर पड़ता है।

वर्किंग मेमोरी का मतलब यह है कि एक बच्चा दिमाग में कितनी सूचनाएं रख सकता है, उस पर कितनी क्षमता से विचार कर सकता है और उसपर व्यवहार में कितना अमल कर सकता है। यह क्षमता बचपन से विकसित होती रहती है और यह स्कूल से लेकर जीवन के हर क्षेत्र में सफलता की कूंजी होती है।

शोध में यह भी पाया गया कि बच्चों में 10 साल की अवस्था में व्यावहारिक स्मरण में विभिन्न बच्चों में जो अंतर होता है, वह किशोरावस्था के अंत तक बना रहता है।

अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ पिट्सबर्ग के विद्वान डैनियल हैकमैन ने कहा, "व्यवहारिक स्मरणशक्ति में असमानातओं के विकास के कारणों और प्रक्रियाओं को यदि समझ लिया जाए, तो इसका उपयोग शिक्षा क्षेत्र में किया जा सकता है।"

शोधकर्ताओं ने पाया कि व्यावहारिक स्मरण शक्ति में अंतर 10 साल की उम्र में पैदा होती है और किसी बच्चे में इसकी कमी इसलिए होती है, क्योंकि उसके अभिभावकों की शिक्षा कम होती है।

source चाइल्ड डेवलपमेंट शोध-पत्रिका

 

Read More Health News In Hindi

Loading...
Is it Helpful Article?YES1167 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK