क्या मास्क पहनने से शरीर में बढ़ सकता है कार्बनडाई ऑक्साइड का लेवल? जानें सच्चाई

कोरोनावायरस को रोकने के लिए एक फेस मास्क पहनना जरूरी है लेकिन इसके लंबे समय तक उपयोग से सांस लेने में समस्या जैसे कुछ प्रभाव दिख सकते हैं। 

Sheetal Bisht
Written by: Sheetal BishtPublished at: Aug 22, 2020
क्या मास्क पहनने से शरीर में बढ़ सकता है कार्बनडाई ऑक्साइड का लेवल? जानें सच्चाई

क्या आप भी इस महामारी के दौरान घर से बाहर निकलने पर मास्क पहनते हैं? अगर पहनते हैं, तो अच्‍छी बात है, हम सभी को यह करना चाहिए क्योंकि यह शायद सबसे महत्वपूर्ण चीजों में से एक है। इस महामारी के समय हमारे भोजन और पानी के बाद सबसे जरूरी चीजों में से एक है। COVID-19 वायरस हवा में है और अगर आप अपना चेहरा नहीं ढकते या फिर फेस मास्‍क नहीं पहनते हैं, तो यह वायरस आपके शरीर के अंदर पहुंच सकता है। लेकिन ऐसा देखा गया है कि मास्‍क पहनने के कुछ ही मिनटों या घंटे बाद बहुत से लोगों को बेचैनी और सांस फूलने जैसी समस्‍या का महसूस हो रही है। इसका मतलब यह है कि फेस मास्‍क कार्बन डाइऑक्साइड विषाक्तता पैदा कर रहा है? यह आधा सच है। यह मास्क हमारी सुरक्षा के लिए है और जब हम बाहर होते हैं, तो हमें उन्हें पहनना चाहिए। लेकिन चेहरे के मास्क के बारे में कुछ खास बातें हैं, जिन्हें हमें ध्यान में रखना चाहिए। सबसे महत्वपूर्ण यह है कि जब आप भीड़ और खुली हवा के संपर्क में आते हैं, तो मास्‍क जरूर पहनें। लेकिन, जब आप घर जाएं तो अपना मास्क हटा दें। लंबे समय तक मास्क पहनने से इसके कुछ नुकसान हो सकते हैं। इसलिए, हमें सतर्क रहने की आवश्यकता है।

Face Mask Poisoning

क्‍या सचमुच फेस मास्‍क से बढ़ सकती है कार्बन डाइऑक्साइड विषाक्तता?

एक्‍सपर्ट मानते हैं, कि जब लगातार 8 घंटे, विशेष रूप से एन 95 या एन 99 मास्क पहना जाता है, तो कार्बन डाइऑक्साइड के स्तर में 2-2% की मामूली वृद्धि होती है। वहीं जब आप अपनी सांस के माध्यम से कार्बन डाइऑक्साइड छोड़ रहे हैं, तो वह बाहर नहीं जाती, जिससे कि कार्बन डाइऑक्साइड विषाक्तता हो सकती है।

फेस मास्क पहनने के स्‍वास्‍थ्‍य जोखिम 

कोरोनोवायरस के खिलाफ एक फेस मास्क एक महत्वपूर्ण सुरक्षा गार्ड है। लेकिन क्‍या यह आपके लिए कुछ नुकसानों से भी भरा हो सकता है? आइए यहां जानिए क्‍योंकि हमें फिलहाल लंबे समय तक इसके साथ रहना सीखना चाहिए। जब तक कि कोरोनावायरस के खिलाफ वैक्‍सीन नहीं मिल जाती है। लंबे समय तक फेस मास्‍क का इस्तेमाल आपके स्वास्थ्य को जोखिम में डाल सकता है। यह सीमित समय के लिए उपयोग किया जाता है या कुछ ताजा हवा लेने के लिए बीच-बीच में इसे उतारना जरूरी है। अन्यथा यह इन समस्याओं का कारण बन सकता है:

इसे भी पढ़ें: क्या कोविड-19 में सचमुच फायदेमंद है पेट के बल सोना? जानें कोरोना मरीजों के लिए कैसे फायदेमंद है ये पोजीशन

Face Mask Cause Carbon Dioxide Toxicity

  • आप चक्कर और कमजोर महसूस कर सकते हैं 
  • सांस फूलने में समस्‍या 
  • हाइपरकेनिया या कार्बन डाइऑक्साइड विषाक्तता, जो सबसे खराब स्थिति है और मौत के कारणों में से एक हो सकती है। 

ऐसा शरीर में ऑक्सीजन के खराब संचार के कारण ये समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं। मास्क ऑक्सीजनेशन को प्रभावित करता है क्योंकि आप ऑक्सीजन की अपेक्षित मात्रा नहीं ले पाते हैं। इससे आपके शरीर और मस्तिष्क को उचित ऑक्सीजन नहीं मिलती है।

ध्‍यान रखने योग्‍य बातें 

फेस मास्क जो कि आपका सुरक्षा गार्ड है, हो सकता है कि यही गार्ड आपको नुकसान पहुंचाए। अगर इसका उपयोग सही ढ़ग से न किया जाए। इसलिए यहां हम आपको बता रहे हैं कि आपको किन जरूरी बातों का ध्‍यान रखना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: इन आसान तरीकों से पहचानें कि आपके द्वारा इस्‍तेमाल किया जाने वाला फेस मास्‍क सही है या नहीं

  • आप फेस मास्‍क को केवल तभी पहनें जब आप खुली हवा या भीड़-भाड़ वाली जगहों जैसे- सड़क, पार्क, बाजार या कोई अन्‍य पब्लिक प्‍लेस। 
  • इसका उपयोग तब करें, जब आप काम के लिए किसी के करीब हों, जैसे- ऑफिस, सब्‍जी या राशन की खरीददारी या फिर अन्‍य बाहरी काम। 
  • इसके अलावा, यदि घर-परिवार या रिश्‍तेदारों में कोई संदिग्ध सदस्य हो, तो तब भी मास्‍क पहनें।
  • वहीं, जब आप घर पर या किसी सुरक्षित बाहरी स्थान पर हों, तो आप मास्‍क न पहनें।  

इस बीच यदि आपको मास्‍क पहनने से जुड़ी सांस लेने में तकलीफ जैसी कोई भी समस्‍या महसूस हो, तो आप तुरंत डॉक्‍टर से संपर्क करें। क्‍योंकि लापरवाही करना आपकी सेहत पर भारी पड़ सकता है। 

Read More Article On Miscellaneous In Hindi 

Disclaimer