Doctor Verified

प्रेगनेंसी में अचार खाना चाहिए या नहीं

गर्भावस्था में अगर आप का अचार खाने का मन करता है तो एक बार अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें क्योंकि अचार खाने के कुछ साइड इफेक्ट भी हो सकते हैं।

Monika Agarwal
महिला स्‍वास्थ्‍यWritten by: Monika AgarwalPublished at: Jul 03, 2022Updated at: Jul 03, 2022
प्रेगनेंसी में अचार खाना चाहिए या नहीं

प्रेगनेंसी में महिलाओं को तरह-तरह की चीजें खाने का मन करता है, इसमें अचार भी शामिल है। इस दौरान महिलाओं को अचार खाने का मन अकसर ही करता है। लेकिन ऐसे में उनके मन में सवाल रहता है कि प्रेगनेंसी में अचार खाना मां और शिशु के लिए सुरक्षित होता है या नहीं। मदरहुड हॉस्पिटल में सीनियर गायनेकोलॉजिस्ट डॉक्टर मनीषा रंजन के अनुसार अचार में किसी तरह की पौष्टिक वैल्यू नहीं होती है। इसमें नमक भी ज्यादा होता है, इसलिए हाई ब्लड प्रेशर से जूझ रही महिलाओं को इसका सेवन करने से बचना चाहिए। अगर आप पूरी तरह से स्वस्थ हैं, तो इसका सेवन कभी-कभार किया जा सकता है। कई बार महिलाओं को अचार थोड़ी मात्रा में खाने से भी नुकसान पहुंच सकता है, इसलिए डॉक्टर को पूछे बिना बिल्कुल भी अचार का सेवन न करें।

आइए जानते हैं प्रेगनेंसी के दौरान अचार खाना चाहिए या नहीं।

प्रेगनेंसी के दौरान अचार खाना चाहिए या नहीं?

प्रेगनेंसी के दौरान महिलाएं सबसे ज्यादा अचार खाना ही पसंद करती हैं। कुछ महिलाओं को 9 महीनों तक अचार की क्रेविंग होती रहती है, तो कुछ महिलाओं को कुछ ही महीने अचार खाने का मन करता है। अगर अचार खाने से कोई रिएक्शन या एलर्जी नहीं होती है, तो कम मात्रा में इसका सेवन करना बिल्कुल सुरक्षित हो सकता है। अचार में किसी तरह का पोषण नहीं होता है। इसमें फैट और कोलेस्ट्रॉल भी नहीं होता है। आप डॉक्टर की सलाह पर प्रेगनेंसी में अचार का सेवन कर सकते हैं।

प्रेगनेंसी में अचार खाने के फायदे

शरीर में पोटेशियम और सोडियम दो तरह के इलेक्ट्रोलाइट होते हैं। ये ऐसे मिनरल्स होते हैं, जो शरीर में इलेक्ट्रिकल ट्रांसमिशन में मदद करते हैं। प्रेगनेंसी के दौरान शरीर ज्यादा मात्रा में फ्लूइड रिटेन करना शुरू कर देता है। इस समय बच्चे की जरूरतें भी बढ़ जाती हैं। इससे शरीर में इलेक्ट्रोलाइट की मात्रा की ज्यादा जरूरत पड़ने लगती है। अचार के रस में थोड़ा सा पोटेशियम होता है और सोडियम इसमें खूब पाया जाता है। अचार का सेवन करने से इलेक्ट्रोलाइट की पूर्ति हो सकती है।

इसे भी पढ़ें- कर रही हैं मां बनने की प्लानिंग? डॉक्टर से जानें प्रेगनेंसी के पहले मन में उठने वाले सभी सवालों के जवाब

प्रेगनेंसी में अचार खाने के नुकसान

प्रेगनेंसी में अचार खाने से मां और बच्चे को नुकसान पहुंच सकता है। प्रेगनेंसी में अचार खाने के नुकसान-

गैस्टेशनल हाइपरटेंशन की स्थिति बढ़ सकती है। इससे ब्लड प्रेशर का रिस्क बढ़ जाता है और किडनी, ब्लड वेसल्स को भी नुकसान पहुंच सकता है।

प्रेगनेंसी में अचार खाने से ब्रेन में सूजन आना, प्रोटीन का लॉस होना, ऑक्सीजन और अन्य पौष्टिक तत्वों की सप्लाई प्रभावित होने जैसे लक्षण देखने को मिल सकते हैं।

अचार में सोडियम की मात्रा काफी ज्यादा होती है। बच्चे और मां दोनों के लिए ही सोडियम का ज्यादा सेवन काफी जोखिम भरा हो सकता है। अधिक सोडियम का सेवन करने से शरीर डिहाइड्रेट हो सकता है। इसके अलावा इससे ब्लड प्रेशर भी बढ़ सकता है।

गर्भवती होने के दौरान बच्चे की पौष्टिक जरूरतों का स्रोत केवल उसकी मां ही होती है। ज्यादा ब्लड प्रेशर बढ़ने के कारण किडनी भी प्रभावित हो सकती हैं। साथ ही इससे बच्चे में भी ब्लड प्रेशर का जोखिम बढ़ सकता है।

अगर डाइट में सोडियम की मात्रा कम ले रही हैं, तो ही कभी कभार अचार का सेवन किया जा सकता है। यह कहा जा सकता है कि प्रेगनेंसी में अधिक नमक के सेवन से बचना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें- प्रेगनेंसी में पहला अल्ट्रासाउंड कब करना चाहिए?

प्रेगनेंसी के दौरान अगर किसी चीज की क्रेविंग होती है, तो पहले यह जरूर जान लें कि यह चीज बच्चे और मां के लिए सुरक्षित है या नहीं। उसके बाद ही उसे सीमित मा6ा में सेवन करने का सोचें। 

Disclaimer