पान के पत्ते और तुलसी के बीज का एक साथ सेवन करने के फायदे

Betel Leaf and tulsi : पान की पत्तियों के साथ तुलसी के बीजों का सेवन करने से पाचन संबंधी परेशानी दूर की जा सकती है। 

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Aug 30, 2022Updated at: Sep 01, 2022
पान के पत्ते और तुलसी के बीज का एक साथ सेवन करने के फायदे

Betel Leaf and tulsi : पान की पत्तियों का कसैला स्वाद शरीर की कई परेशानियों को दूर कर सकता है। अधिकतर पान खाने के शौकीन पान के पत्तों के साथ चूना, सुपारी, कत्था जैसी चीजों को मिक्स करके खाते हैं। लेकिन क्या आपने कभी पान के पत्तों का सेवन तुलसी के बीज के साथ किया है। जी हां, कत्था और चूना के साथ पान खाना भले ही स्वास्थ्य के लिए लाभकानी न हो, लेकिन पान के पत्तों को तुलसी के बीज के साथ खाना काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। 

गाजियाबाद स्वर्ण जयंती के आयुर्वेदाचार्य डॉक्टर राहुल चतुर्वेदी का कहना है कि पान की पत्तियों और तुलसी का बीज एक साथ खाने से पाचन क्रिया दुरुस्त हो सकती है। साथ ही मसूड़ों और दांतों से होने वाली परेशानी को कम की जा सकती है। इसके अलावा यह कई परेशानियों से राहत दिला सकता है। 

पान की पत्तियां और तुलसी के बीज खाने के फायदे - Betel leaf and Tulsi Seeds Benefits

पान की पत्तियां मसूड़ों में सूजन, मुंह की बदबू को दूर किया जा सकता है। इससे अलावा यह कई परेशानियों को दूर कर सकता है। आइए जानते हैं इसके बारे में-

इसे भी पढ़ें - सुबह खाली पेट खाएं नीम और तुलसी की पत्तियां, मिलेंगे ये फायदे

1. ओरल हेल्थ को रखे स्वस्थ 

पान के पत्तों में मुंह की दुर्गंध को कम करने का गुण होता है। दरअसल, इसमें मौजूद तत्व बैक्टीरिया के प्रभाव को कम करने में अहम भूमिका निभा सकता है, जिससे मुंह से आने वाली बदबू को कम की जा सकती है। 

अगर आपके मुंह से बदबू या फिर खून आने की परेशानी है तो 1 महीने तक पान के पत्तों के साथ तुलसी के बीच चबाएं। आप चाहे तो इसमें लौंग और इलायची भी डाल सकते हैं। इससे मुंह की दुर्गंध दूर होगी। 

2. इम्यूनिटी करे बूस्ट 

पान की पत्तियां और तुलसी का बीज इम्यूनिटी बूस्ट करने में असरदार हो सकता है। इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स इम्यूनिटी पावर को मजबूत करते हैं। इससे आप कई सामान्य बीमारियों को दूर रख सकते हैं।

3. शारीरिक क्षमता बढ़ाए

पान की पत्तियां शारीरिक क्षमता को बेहतर कर सकता है। इससे स्पर्म काउंट और क्वालिटी में सुधार किया जा सकता है। अगर आपको शारीरिक रूप से कमजोरी महसूस हो रही है तो नियमित रूप से अपने आहार में पान की पत्तियां और तुलसी के बीज शामिल करें। 

4. सर्दी-जुकाम से आराम

पान की पत्तियां और तुलसी के बीज का मिश्रण सर्दी-जुकाम की परेशानी को कम कर सकता है। दरअसल, पान का पत्ता सिरदर्द को कम करता है। साथ ही तुलसी के बीज में मौजूद गुण गले की खराश और कफ की परेशानी से राहत दिलाता है जिससे आपको काफी आराम महसूस हो सकता है। 

5. पाचन सबंधी समस्याओं से राहत

पान की पत्तियों के साथ तुलसी का बीज खाने से आपकी पाचन क्रियाएं दुरुस्त हो सकती है। दरअसल, तुलसी के बीज पान के साथ खाने से यह आपके सैलिवरी ग्लैंड को एक्टिव रखने में मददगार साबित हो सकती है। यह ग्लैंड  खाने को छोटे-छोटे टुकड़ों में तोड़ने का कार्य करती है, जिससे कब्ज, अपच और गैस की समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं। इसके अलावा यह गैस्ट्र‍िक अल्सर से छुटकारा दिलाने में मददगार होता है। 

6. मसूड़ों की सूजन करे कम

पान की पत्तियां और तुलसी का बीज मसूड़ों की सूजन को कम करने में प्रभावी हो सकता है। इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण सूजन और गांठ को कम कर सकते हैं। अगर आपके मसूड़ों में सूजन है तो रोजाना तुलसी के बीजों के साथ पान की पत्तियों को चबाएं। 

पान की पत्तियां और तुलसी का बीज स्वास्थ्य संबंधी कई परेशानियों का दूर कर सकता है। इसके सेवन से आपको काफी लाभ होगा, लेकिन ध्यान रखें कि अगर आपको पहले से किसी तरह की परेशानी है तो एक्सपर्ट से सलाह लेकर इनका सेवन करें। 

 
Disclaimer