हीमोग्लोबिन और भूख बढ़ाते है पाइन नट्स, ये हैं 5 फायदे

चिलगोजा विटामिन्स, फाइबर और प्रोटीन से भरपूर होता है। अगर आप रोज पाइन नट्स का सेवन करते हैं, तो आपके शरीर को कई फायदे मिलते हैं।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavUpdated at: Feb 12, 2021 15:28 IST
हीमोग्लोबिन और भूख बढ़ाते है पाइन नट्स, ये हैं 5 फायदे

नट्स को सुपरफूड कहा जाता है। कमजोरी दूर करने या शरीर को प्रोटीन औ विटामिन्स की जरूरत होने पर अक्सर डॉक्टर नट्स खाने की सलाह देते हैं। सभी नट्स पौष्टिक होने के साथ-साथ प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और फाइबर के अच्छे स्त्रोत होते हैं। ज्यादातर नट्स में विटमिन ई, फोलिक एसिड, बी- कॉम्प्लेक्स, मैग्नेशियम, कॉपर जिंक आदि की भी मात्रा मौजूद रहती है। पाइन नट्स को चिलगोजा या नियोजा भी कहते हैं। चिलगोजा विटामिन्स, फाइबर और प्रोटीन से भरपूर होता है। अगर आप रोज पाइन नट्स का सेवन करते हैं, तो आपके शरीर को कई फायदे मिलते हैं।

पौष्टिक होते हैं पाइन नट्स

पाइन नट्स यानी चिलगोजे बहुत पौष्टिक होते हैं। यह पिनोलैनिक एसिड का एकमात्र प्राकृतिक स्रोत हैं। 10 ग्राम चिल्‍गोजे में 0.6 मिलीग्राम आयरन होता हैं। आप इसे कच्‍चा या भुना हुआ खा सकते हैं। चिलगोजे में विटामिन बी और विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। चिलगोजे मोनोसैचुरेटेड फैट से भरे होते हैं और इनके सेवन से भूख भी बढ़ती है। इसमें भरपूर मात्रा में आयरन मौजूद होता है, जिससे शरीर में हीमोग्लोबिन बढ़ता है और भूख ज्यादा लगती है।

इसे भी पढ़ें:- इन सब्जियों में मांस से ज्‍यादा होता है आयरन, महिलाओं के लिए है फायदेमंद

कोलेस्ट्रॉल घटाते हैं पाइन नट्स

चिलगोजा में अनसैचुरेटेड फैट होता है, जो कोलेस्ट्रॉल घटाने में आपकी मदद करता है। इसमें मौजूद टोकोफेरोल एक पावरफुल एंटीऑक्सीडेंट है, जो शरीर से बैड कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करता है और दिल की बीमारियों से बचाता है। कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने से दिल की बीमारियों का खतरा बहुत ज्यादा बढ़ जाता है।

बढ़ाता है इम्यूनिटी

चिलगोजे के सेवन से शरीर की इम्यूनिटी यानी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। चिलगोजे में एंटीबैक्टीयल और एंटीवायरल गुण होते हैं, जिसके कारण ये शरीर में मौजूद हानिकारक केमिकल्स से हमारी रक्षा करता है और इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर के इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाते हैं। चिलगोजे के तेल का उपयोग कई एंटीसेप्टिक दवाओं और एंटी-फंगल क्रीम में भी किया जाता है।

इसे भी पढ़ें:- बॉडी को डिटॉक्स कर वजन घटाता है मूंग दाल का पानी, ऐसे बनाएं

प्रेगनेंसी में फायदेमंद है पाइन नट्स का सेवन

चिलगोजा आयरन का बेहतरीन स्रोत है इसलिए प्रेगनेंसी में और प्रेगनेंसी के बाद इसका सेवन बहुत फायदेमंद होता है। इसके सेवन से एनीमिया नहीं होता है और ये भ्रूण के स्वस्थ विकास में भी सहायतक होता है। चिल्गोजे में ढेर सारे प्रोटीन भी होते हैं, जो कई अन्य आहारों से नहीं मिल पाते हैं। लाइसिन एक जरूरी अमीनो एसिड है, जो चिलगोजे में पाया जाता है।

होते हैं ढेर सारे एंटीऑक्सीडेंट्स

चिल्गोजा एंटीऑक्सीडेंट्स का भी बेहतरीन स्रोत होता है। पाइन नट्स में गाल्लोकैटेचिन, लूटीइन, लाइकोपीनस कैरोटिनॉयड, कैटेचिन और टोकोफेरोल जैसे ढेर सारे महत्वपूर्ण एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं। चिलगोजे में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट्स फ्री-रेडिकल्स को हटाते हैं और ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस को कम करते हैं। कच्चे चिलगोजे में गाल्लोकैटेचिन भरपूर होता है जबकि भुने हुए चिलगोजे में कैरोटिनॉयड और टोकोफेरोल भरपूर होता है। इसलिए इसका सेवन आपके पूरे शरीर को स्वस्थ रखता है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Diet & Nutrition in Hindi

Disclaimer