छोटे बच्चों का बार-बार आंख रगड़ना हो सकता है खतरनाक, जानें इसका कारण और बचाव के उपाय

छोटे बच्चों का आंख रगड़ना या मलना जितना प्यारा लगता है उसके पीछे उतने ही गंभीर कारण हो सकते हैं। जानते हैं कारण, जोखिम और बचाव

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Oct 14, 2021
छोटे बच्चों का बार-बार आंख रगड़ना हो सकता है खतरनाक, जानें इसका कारण और बचाव के उपाय

अक्सर आपने देखा होगा छोटे बच्चे अपनी मुट्ठी से आंखें मलते रहते हैं। लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि उनके ऐसा करने के पीछे क्या कारण है? बता दें कि छोटे बच्चे अगर किसी चीज को बार बार दोहरा रहे हैं तो उसके पीछे जरूर कोई कारण छिपा होता है। ऐसा ही कुछ आंख मलने या रगड़ने के पीछे भी है। हो सकता है कि उन्हें कोई आंखे से संबंधित समस्याओं हो या वो ऐसा करके आपको कोई संकेत दे रहे हों। ऐसे में छोटे बच्चों का आंख रगड़ना कितना सुरक्षित है इसके बारे में पता होना जरूरी है। आज का हमारा लेख इसी विषय पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि जब छोटे बच्चे अपनी आंखों को मलते रहते हैं या बार-बार तेजी से रगड़ते हैं तो इसके पीछे क्या कारण छिपे होते हैं। साथ ही आंखों को रगड़ने से होने वाले नुकसान और बचाव दोनों के बारे में जानेंगे। पढ़ते हैं आगे...

 

क्या रहती है रिसर्च?

बता दें कि बच्चे आंख तब रगड़ते हैं जब वे बेहद थकान महसूस करते हैं या उन्हें आलस आता है। इससे संबंधित एक रिसर्च भी सामने आई है जो यह बताती है कि बच्चों की आंख को रगड़ने की आदत के पीछे उनकी थकान हो सकती है। रिसर्च पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

 

बच्चों के आंख मलने के पीछे अन्य कारण

बच्चों का आंख मलने के पीछे निम्न कारण हो सकते हैं-

1 - आंखों का सूखा होना

बता दें कि जब बच्चों की आंखों में नमी खत्म हो जाती है यानी बच्चों को आंखे ड्राई महसूस होती हैं तब भी वे बार-बार अपनी आंखों को छूते हैं और तेज तेज रगड़ते हैं। बता दें कि बच्चों की ड्राई आंखों के पीछे तेज हवा एक कारण हो सकता है, जिसके कारण बच्चों को आंखों में खुजली महसूस होती है और वे अपनी आंखों को रगड़ना शुरू कर देते हैं।

2 - जिज्ञासा प्रकट करना

कुछ बच्चे अपनी जिज्ञासा प्रकट करने के लिए भी अपनी आंखों को रगड़ना या मलना शुरू कर देते हैं। वह आंखों के अलावा शरीर के कई अन्य हिस्सों को भी छोड़ने की कोशिश करते हैं और उसके बाद उत्साह जैसी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हैं। उदाहरण के तौर पर वे अपने किसी भी अंग को छूकर उत्साह प्रकट करते हैं। ऐसे में वे आंखों को तेज बंद करना, आंखों को खोलना, आंखों को रगड़ना, हाथ पैर तेज तेज हिलाना आदि प्रतिक्रिया दे सकते हैं।

इसे भी पढ़ें- शिशु को फॉर्मूला दूध पिलाने से पहले जान लें इन 6 सवालों के जवाब, वैज्ञानिक भी मानते हैं सही

3 - आंखों में कुछ चुभना

जब बच्चों की आंखों में कुछ चला जाता है या बच्चों को अपनी आंखों में कुछ चुभन या दर्द जैसा महसूस होता है, तब भी वे आंखों को मल सकते हैं। उदाहरण के तौर पर यदि बच्चों की आंखों में कोई बाल चला जाए या हवा के संपर्क में आने पर कोई मिट्टी या धूल चली जाए तब भी बच्चे अपनी आंखों को तेज तेज रगड़ना शुरू कर देते हैं, जिससे उनकी आंखें साफ हो सकें। 

4 - किसी इंफेक्शन के कारण

जब बच्चे किसी इंफेक्श या एलर्जी का शिकार हो जाते हैं तब भी वह आंखों को तेज तेज रगड़ना या मलना शुरू कर देते हैं। इससे संबंधित एक रिसर्च भी सामने आई है जो यह बताती है कि बच्चे एलर्जी और इन्फेक्शन के कारण भी अपनी आंखों को तेज-तेज मलना या रगड़ना शुरू कर देते हैं। रिसर्च पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

छोटे बच्चों का आंखों को रगड़ने से होने वाले नुकसान

अगर बच्चे बार-बार अपनी आंखों को रख देंगे या तेज तेज मिलेंगे तो इससे उन्हें उनकी आंखों को काफी नुकसान हो सकता है यह नुकसान निम्न प्रकार है

1 - आंखों को ज्यादा तेज रगड़ने से छोटे बच्चों की आंखें लाल हो सकती हैं।

2 - जब बच्चे अधिक समय तक अपनी आंखों को मलते हैं तो इससे उनकी आंखों को क्षति पहुंच सकती है या आंखों में चोट लग सकती है।

3 - यदि छोटे बच्चे आंखों को बार-बार रगड़ते हैं तो ऑक्यूलर इचिंग यानी आंखों में खुजली की समस्या भी हो सकती है।

4 - जब बच्चे आंखों को तेज तेज मलते हैं तो इसके कारण उनकी आंखों में सूजन भी आ सकती है।

5 - छोटे बच्चों का अपनी आंखें मलने से आंखों का संक्रमण हो सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि कुछ बच्चे खेलने के दौरान कई अन्य चीजों को छूते रहते हैं। ऐसे में उनके हाथों में संक्रमण चिपक सकता है और वह रगड़ने के माध्यम से आंखों में पहुंच सकता है।

6 - जब बच्चे अपनी आंखों को तेज-तेज मलते हैं तो इसके कारण छोटे बच्चों को कीमोसिस यानी सूजन से संबंधित समस्या हो सकती है, जिसके कारण बच्चों की आंखें जलना शुरू हो जाती है।

इसे भी पढ़ें- बच्चों के आंखों में खुजली, लालपन और पानी आना हो सकता है VKC रोग का संकेत, डॉक्टर से जानें क्या है ये बीमारी

बच्चों के आंख मलने की समस्या से बचाव

1 - अगर बच्चे केवल एक बार आंख मल रहे हैं तो घबराने की बात नहीं है। लेकिन अगर बच्चा बार बार आंख मल रहा है तो हो सकता है कि इसके पीछे किसी संक्रमण या एलर्जी कारण हो। ऐसे में तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना जरूरी है।

2 - अगर बच्चा बार बार अपनी आंखें मल रहा है तो ऐसे में आप उसे मुलायम दस्ताने पहना सकते हैं, जिससे उसकी आंखों को कोई परेशानी ना हो।

3 - अगर बच्चा रात के समय या दोपहर के समय अपनी आंखें रगड़ रहा है तो हो सकता है कि उसे थकान महसूस हो रही हो। ऐसे में आप उसे सुलाने की कोशिश करें।

4 - अगर बच्चा किसी धूल मिट्टी वाली जगह पर अपनी आंखें मल रहा है तो हो सकता है कि उसकी आंखों में कुछ चला गया हो। ऐसे में गीला कपड़ा करके उसकी आंखों को साफ करें।

5 - अगर आप बच्चे को बाहर लेकर जा रहे हैं तो इसके लिए आप सनग्लासेस का प्रयोग भी कर सकते हैं।

6 - समय-समय पर बच्चों की आंखों को गीले कपड़े से साफ करें।

7 - बच्चे की आंखों मैं तेज प्रकाश ना जाने दें।

नोट - ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि छोटे बच्चों के आंख रगड़ने करने के पीछे कई कारण छिपे हो सकते हैं। वहीं जब बच्चे बार-बार अपनी आंख मलते हैं तो इससे कई समस्याएं जन्म भी ले सकती हैं। ऐसे में बच्चों का आंख रगड़ना समय रहते बंद करना जरूरी है। इससे अलग यदि आंख रगड़ने के दौरान आंखों से पानी आए या आंखों में दर्द, खुजली, सिर में दर्द, चक्कर आदि लक्षण नजर आएं तो ऐसे में हो सकता है कि बच्चे को कोई सीरियस बीमारी हो गई है। इस स्थिति में डॉक्टर से संपर्क करना बेहद जरूरी है।

इस लेख में फोटोज़ Freepik से ली गई हैं।

Disclaimer