बच्चों के कान में क्यों होती है खुजली ? जानें इसके कारण और बचाव के उपाय

बच्चों के कान में खुलजी की परेशानी सामान्य हो सकती है। हालांकि, इसके कुछ गंभीर कारण भी हो सकते हैं। आइए जानते हैं इसके बारे में-

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Jan 17, 2022Updated at: Jan 17, 2022
बच्चों के कान में क्यों होती है खुजली ? जानें इसके कारण और बचाव के उपाय

नए पेरेंट्स अपने छोटे से बच्चे की हर एक छोटी से छोटी बातों पर ध्यान देते हैं। रोने की आवाज से लेकर उनकी हर एक हरकतों पर माता-पिता का ध्यान चला जाता है। ऐसे में क्या आपने कभी अपने बच्चों को कान खुजलाते हुए देखा है ? क्या आप उनकी इस बात पर ध्यान देते हैं ? अगर नहीं, तो आपको बता दें कि बच्चों के कान में खुजली होना सामान्य हो सकता है, लेकिन कुछ मामलों में यह एक समस्या भी हो सकती है। इसलिए अगर आपका बच्चा कान में बार-बार खुजली कर रहा है, तो इस बात को अनदेखा बिल्कुल भी न करें। बल्कि यह जानने की कोशिश करें कि वह अपने कान को बार-बार खींच या फिर खुजला क्यों (baby rubbing ear and side of head) रहे हैं। अगर इस दौरान आपको कोई समस्या नजर आए, तो तुरंत उन्हें डॉक्टर के पास ले जाएं। आज हम इस लेख में बच्चों के कान में खुजली होने के कारण और बचाव के बारे में जानेंगे। 

बच्चों के कान में क्यों होती है खुजली ? ( baby itchy ears causes )

1.  कान के आसपास रैशेज

अगर आपका बच्चा बार-बार कान में उंगली डाल रहा है या फिर कान के आसपास खुजली कर रहे है, तो हो सकता है कि उसके कान के आसपास रैशज हो गए हों। दरअसल, कुछ शिशुओं की स्किन ड्राई होती है, जिसकी वजह से उनके कान के आसपास रैशेज हो जाते हैं। जिसमें खुजली होने की वजह से वह अपने हाथों को बार-बार कान तक ले जाते हैं। 

इसे भी पढ़ें - बच्चे को पालने की बजाए बेड पर कब से सुलाना शुरू करें? जानें इसे समझने के 5 संकेत

2. कान में इंफेक्‍शन

कान में इंफेक्शन की परेशानी होने पर भी आपका बच्चा बार-बार कान के आसपास खुलजी कर सकता है। इसके अलावा इसके संकेत कान में उंगली डालना और कान को खींचना भी हो सकता है। इसलिए अगर आपका बच्चा छोटा है और इस तरह की हरकतें कर रहा है, तो उनकी इन हरकतों को नजरअंदाज न करें। इस स्थिति में तुरंत डॉक्टर के पास ले जाएं। कान में इंफेक्शन (baby rubbing ear and crying)  होने पर बच्चों को नाक बहना, अधिक रोना, बुखार जैसे लक्षण भी दिख सकते हैं। 

3. थकान होना

कुछ बच्चे थकान महसूस होने पर भी अपने कान के आसपास खुजली (ear itching in babies,) करते हैं। अगर आपका बच्चा बार-बार कान छू रहा या फिर कान के आसपास अपने हाथों को ले जा रहे हैं, तो समझने की कोशिश करें कि वह थका हुआ है। ऐसी स्थिति में उन्हें पर्याप्त नींद की जरूरत होती है। इसलिए उन्हें सुलाने की कोशिश करें। अगर आप उनके रुटीन को समझने की कोशिश करेंगे, तो आपको आसानी से समझ आएगा कि आपका बच्चा कब थक गया है और उसे नींद की जरूरत है। 

4. एक्‍ज‍िमा के कारण 

एक्जिमा के कारण भी कुछ बच्चों को कान में खुलजी की परेशानी हो सकती है। बच्चों के कान के आसपास अगर रेडनेस, सूजन, पस जैसे लक्षण दिखे, तो इस स्थिति में उन्हें तुरंत डॉक्टर से पास ले जाएं। बच्चों की इस तरह की समस्या को नजरअंदाज करने से बचें। क्योंकि एक्जिमा धीरे-धीरे गंभीर रूप भी ले सकता है।

5. कान में पानी 

बच्चों को नहलाते समय या फिर गोद में लिटाकर पानी पिलाते समय कान में पानी जाने पर भी खुलजी हो सकती है। इस स्थिति में उनके कान के आसपाक के एरिए को सूखे कपड़े से पोछने की कोशिश करें। ध्यान रखें कि इस दौरान उनके कान को किसी तरह की क्षति न पहुंचे। 

6. कान में मैल होना

कान में मैल होने पर भी बच्चों के कान में खुलजी की शिकायत हो सकती है। इयरवैक्स बिल्डअप आमतौर पर ईयर कैनाल में कॉटन स्वैब डालने की वजह से होता है। इसलिए कभी भी अपने बच्चों को कान के मैल को खुद से निकालने की कोशिश न करें। इससे ईयरवैक्स अंदर की ओर चला जाता है, जिससे बच्चों को कान में कई तरह की परेशानी हो सकती है। 

इसे भी पढ़ें - घर में है छोटा बच्चा तो उसकी सुरक्षा के लिए घर को बनाएं 'बेबी प्रूफ', जानें इसके 5 तरीके

7. साबुन और शैंपू कान

बच्चों के कान में खुलजी का कारण कान के अंदर साबुन या फिर शैंपू जाना भी हो सकता है। नहाने के बाद साबुन या शैम्पू कान रह जाने की वजह से इस तरह की परेशानी हो सकती है। ऐसी स्थिति से बचने के लिए हमेशा बच्चों के कान को ढककर ही नहाएं। ताकि परेशानी से बचाव किया जा सके। 

बच्चों के कान में खुलजी से कैसे करें बचाव (baby itchy ears Prevention)

  • बच्चों को हमेशा गंदगी से दूर रखें। 
  • उन्हें बार-बार कान में हाथ या उंगली न डालने दें। ताकि संक्रमण से बचाव किया जा सके। 
  • नहाते वक्त हमेशा कान में कॉटन डालें। ताकि कान के अंदर साबुन या पानी न जाए। 
  • बच्चों के कान के मैल को कभी भी खुद से निकालने की कोशिश न करें। इससे उनके कान में वैक्स काफी अंदर जा सकता है, जिसकी वजह से कई तरह की समस्याएं जैसे- कान में पस, रेडनेस जैसी समस्या हो सकती है।
  • कान के आसपास हमेशा सफाई करें। लेकिन अंदर की ओर किसी भी तरह का दबाव न डालें। 
  • सर्दियों में हमेशा बच्चे के कान को ढक कर रखें। 
  • बिना डॉक्टरी सलाह के बच्चों के कान में किसी भी तरह के तेल का इस्तेमाल न करें। इससे बच्चों के कान में संक्रमण की समस्या हो सकती है। 
  • कान में संक्रमण के लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर के पास ले जाएं। 

कान में खुजली होने पर डॉक्टर के पास कब जाएं ? (When You Call Doctor)

अगर आपका बच्चा पिछले 3 दिनों से अधिक समय से कान में खुजली कर रहा है, तो इस स्थिति में तुरंत डॉक्टर के पास जाएं। ताकि किसी भी तरह की परेशानी को बढ़ने से रोका जा सके और समय पर कान में संक्रमण या फिर अन्य समस्या का इलाज हो सके।

बच्चों के कान में खुलजी होना एक सामान्य समस्या हो सकती है। लेकिन अगर आपका बच्चा बार-बार कान में खुजली कर रहा है, तो यह एक गंभीर स्थिति भी हो सकती है। इसलिए कभी भी बच्चों की छोटी से छोटी परेशानी को अनदेखा न करें। अगर आपका बच्चा 3 दिनों से अधिक समय तक कान में खुजली कर रहा है, तो इस स्थिति में उन्हें तुरंत डॉक्टर के पास ले जाएं।  ताकि गंभीर स्थिति से बचा जा सके।

Disclaimer