Expert

आयुर्वेद के अनुसार दूध कैसे पीना चाहिए? आयुर्वेदाचार्य से जानें दूध पीने के 6 नियम

Ayurveda Rules For Drinking Milk: दूध पीने से जुड़े कुछ आयुर्वेदिक नियम के बारे में जानना और उन्हें फॉलो करना बहुत जरूरी है, यहां जानें 6 नियम।

 

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarUpdated at: Jan 02, 2023 12:06 IST
आयुर्वेद के अनुसार दूध कैसे पीना चाहिए? आयुर्वेदाचार्य से जानें दूध पीने के 6 नियम

Ayurveda Rules For Drinking Milk:आयुर्वेदिक कहता है कि गाय का दूध रोज खाए जाने वाले बेस्ट फूड्स में से एक है, जिसका सेवन करना सेहत के लिए बहुत लाभकारी होता है। इसलिए बच्चे हों या बड़े, सभी को रोजाना एक गिलास दूध जरूर पीना चाहिए। यह कैल्शियम, प्रोटीन, विटामिन डी, बी के साथ ही कई जरूरी पोषक तत्वों से भरपूर होता है। वहीं आयुर्वेद कहता है कि दूध भारी और पोषण प्रदान करने वाला फूड है, यह शरीर में वात, पित्त को संतुलित करता है और कफ को बढ़ाता है। लेकिन दूध के स्वास्थ्य लाभ प्राप्त करने के लिए इसका सेवन सही तरीके से करना बहुत जरूरी है। अक्सर हम देखते हैं कि कुछ लोग बहुत अधिक ठंडा दूध पीते हैं, साथ ही दूध के साथ कुछ ऐसे फूड्स का भी सेवन करते हैं, जिनके साथ मिलकर दूध सेत को नुकसान पहुंचा सकता है, खासकर शेक और स्मूदीज में लोग दूध के साथ असंगत फूड्स को अधिक शामिल करते हैं।

आयुर्वेदिक चिकित्सक डॉ. वरालक्ष्मी (BAMS Ayurveda) की मानें तो दूध पीने के कुछ नियम होते हैं, जिनका ध्यान हमें जरूर रखना चाहिए। अगर आप इन्हें ध्यान में नहीं रखते हैं तो दूध का सेवन करने पर आपको फायदे के बजाए नुकसान पहुंच सकता है। आयुर्वेद के अनुसार दूध पीने के कुछ नियम के बारे में डॉ. वरालक्ष्मी ने अपनी एक इंस्टाग्राम पोस्ट में विस्तार से बताया है। आइए जानें आयुर्वेद के अनुसार दूध कैसे पीना चाहिए और इसके नियम।

ayurvedic rules for drinking milk in hindi

आयुर्वेद के अनुसार दूध पीने के कुछ नियम- Ayurveda Rules For Drinking Milk In Hindi

1. दूध कैसे पीना चाहिए- How To Drink Milk

  • दूध को हमेशा उबालकर पीना चाहिए
  • दूध का सेवन हमेशा उबालकर किया जाना चाहिए, क्योंकि कच्चे दूध पचने में भारी और ठंडा होता है।
  • जब आप दूध को उबालकर, गुनगुना करके पीते हैं यह कफ को संतुलित रखने में मदद करता है।
  • जब आप उबले हुए दूध को ठंडा हो जाने के बाद पीते हैं, तो यह पित्त दोष के संतुलन में मदद करता है।
  • दूध उबालते समय हमेशा दूध में बराबर मात्रा में पानी मिलाएं और इसे तब तक उबालें जब तक कि यह वापस दूध जितना न रह जाए। इस तरह दूध की प्रकृति हल्की हो जाती है और यह पचने में आसान हो जाता है।
  • पानी डाले बिना उबला हुआ दूध पोषण और मजबूती प्रदान करने वाला, साथ ही जीवन शक्ति यानी वाइटैलिटी में सुधार करने वाला होता है।

2. दूध पीने का सही समय या टाइम- Right time to drink milk

  • सुबह खाली पेट: यह पौष्टिक होता है और अग्नि (Agni) को शांत करता है। यह एक एंटी-एजिंग के रूप में कार्य करता है।
  • दोपहर में: यह पोषण प्रदान करने, साथ ही कफ और पित्त को संतुलित करता है।
  • रात में: यह उन लोगों को जल्दी सोने और अच्छी नींद लेने में मदद करता है जो बहुत थका हुआ और कमजोर महसूस करते हैं।

3. दूध किसके साथ पी सकते हैं?

  • मिश्री
  • किशमिश
  • मीठा और पका हुआ आम
  • ब्राउन शुगर
  • चावल
  • ओट्स
  • घी
  • मसाले जैसे- सौंफ सूखी अदरक का पाउडर
  • लहसुन
  • खजूर

4. दूध किसके साथ नहीं पीना चाहिए?

  • नमक
  • दही
  • गुड़
  • खट्टे फल
  • मछली
  • अंडे
  • मीट
  • चना दाल
  • मूली
  • हरी पत्तेदार सब्जियों के साथ

इनके कुछ समय पहले और बाद में भी दूध के सेवन से बचना चाहिए।

5. दूध किन लोगों के लिए अच्छा है?

  • कमजोर और लीन लोग
  • बच्चे और बूढ़े
  • ब्लीडिंग डिसऑर्डर वाले लोग
  • दस्त या डायरिया रोगी
  • एनीमिया या खून की कमी वाले लोग
  • पेट की समस्या वाले लोग
  • भावनात्मक रूप से उदास लोग

6. दूध किन लोगों को नहीं पीना चाहिए- Who should avoid drinking milk

  • अगर सर्दी और खांसी की समस्या है
  • छाती में ऐक्यूट इन्फेक्शन और अधिक तापमान वाले लोग
  • कफ का असंतुलन या असामान्यता होने पर
  • भारीपन, फूला हुआ पेट या ब्लोटिंग महसूस होने पर
  • खराब पाचन के साथ मेटाबॉलिक रोग वाले लोग
दूध पीते समय में आयुर्वेद के इन नियमों को जरूर ध्यान में रखें, इससे दूध पीने न तो कोई नुकसान होगा, बल्कि सेहत को कई लाभ भी मिलेंगे।

All Image Source: Freepik

Disclaimer