आयुर्वेद के अनुसार गर्म तासीर वाले हैं ये 7 आहार, गर्मियों में इनका ज्यादा सेवन हो सकता है नुकसानदायक

आयुर्वेद के अनुसार इन गर्म तासीर वाले आहारों का सेवन गर्मी में सावधानी पूर्वक करना चाहिए वर्ना ये फूड्स पेट की गर्मी बढ़ाकर आपको बीमार कर सकते हैं।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Apr 20, 2020Updated at: May 10, 2021
आयुर्वेद के अनुसार गर्म तासीर वाले हैं ये 7 आहार, गर्मियों में इनका ज्यादा सेवन हो सकता है नुकसानदायक

आयुर्वेद में मौसम के अनुसार चीजों को खाने-पीने की सलाह दी जाती है। जैसे इस समय भारत में गर्मी ने दस्तक दे दी है, तो अगर आप गर्म आहारों का सेवन ज्यादा करेंगे, तो आपको कई तरह की परेशानियां शुरू हो सकती हैं। आयुर्वेद में ऐसे कई आहार बताए गए हैं, जिनकी तासीर गर्म होती है। इनमें बहुत सारे आहार तो ऐसे हैं, जिन्हें आप हेल्दी मानते हैं और रोजाना खाने में इस्तेमाल करते हैं। इन आहारों को खाना गलत नहीं है, मगर इनकी मात्रा सर्दियों की अपेक्षा कम रखनी चाहिए। हम आपको बता रहे हैं ऐसे ही गर्म तासीर वाले 7 आहार।

1. गुड़

गुड़ को बहुत हेल्दी माना जाता है। अगर आपको मीठा खाना पसंद है, तो चीजों को चीनी के बजाय गुड़ से बनाइए। चीनी और गुड़ दोनों ही गन्ने के रस से बनाए जाते हैं। मगर चीनी बनाने में इसकी प्रॉसेसिंग और रिफाइनिंग की जाती है, जिसके कारण ये शरीर के लिए बिल्कुल भी हेल्दी नहीं होती है। वहीं गुड़ अपने प्राकृतिक स्वरूप के ज्यादा निकट रहता है इसलिए अच्छा है। लेकिन गुड़ की तासीर गर्म होती है, इसलिए गर्मी के मौसम में बहुत अधिक गुड़ नहीं खाना चाहिए। इससे नकसीर फूटने (नाक से खून निकलने) का खतरा रहता है।

इसे भी पढ़ें:- घर पर बनाएं इम्यूनिटी बढ़ाने वाला आयुर्वेदिक च्यवनप्राश, जानें 30 मिनट में बनाने की आसान रेसिपी और फायदे

2. लाल मिर्च

लाल मिर्च के बिना मसालों को अधूरा माना जाता है। मगर लाल मिर्च काफी गर्म होती है। खासकर मोमोज की चटनी और रेस्टोरेंट्स में मिलने वाले दूसरे आहारों में लाल मिर्च का खूब प्रयोग किया जाता है, जिसके कारण गर्मियों में इनका सेवन नुकसानदायक हो सकता है। अगर आपको तीखा पसंद है तो आप लाल सूखी मिर्च की जगह हरी ताजी मिर्च का प्रयोग करें।

chilly chutny

3. अदरक

अदरक में वैसे तो एंटीबैक्टीरियल और एंटीवायरल गुण होते हैं, जिसके कारण ये इम्यूनिटी बढ़ाने और वायरस से बचाने में मददगार है। मगर गर्मी के मौसम में अगर आप ज्यादा अदरक का प्रयोग करेंगे, तो इससे आपको सीने में जलन और त्वचा पर एलर्जी की समस्या हो सकती है। अदरक की तासीर भी गर्म होती है, इसलिए गर्मियों में इसका सेवन करें, लेकिन कम करें।

4. लहसुन

कुछ लोग खाने में लहसुन न डालें तो स्वाद अधूरा लगता है। खासकर नॉनवेज बनाने वाले लोग खूब मात्रा में अदरक, लहसुन और लाल मिर्च डालते हैं। मगर लहसुन की तासीर भी गर्म होती है। अगर आप गर्मियों में ज्यादा लहसुन खाएंगे तो इससे आपको पेट की समस्याएं और दूसरी कई समस्याएं हो सकती हैं। हालांकि गर्मियों में लहसुन का प्रयोग पूरी तरह बंद नहीं करना चाहिए। आप इसे थोड़ी मात्रा में खाएं।

lahsun adrak

5. बाजरा

बाजरा भी गर्म होता है इसलिए इसका सेवन सर्दियों में तो सही है, मगर गर्मियों में इसे कम से कम खाएं या न खाएं। गर्मियों में बाजरे का ज्यादा सेवन करने से आपके शरीर में वात-पित्त-कफ का संतुलन बिगड़ सकता है और आपको कई तरह की शारीरिक परेशानियां हो सकती हैं।

इसे भी पढ़ें:- आयुर्वेद के अनुसार पेट दर्द में इन 5 चीजों से करें परहेज, जानें 5 आसान उपचार

6. बादाम

बादाम वैसे तो बहुत हेल्दी होता है और सुबह-सुबह खाने से बड़े फायदे मिलते हैं। मगर गर्मियों में बादाम का ज्यादा सेवन आपके शरीर में गर्मी पैदा कर सकता है, जिससे आपको त्वचा पर दाने, चकत्ते और पेट की समस्याएं हो सकती हैं। हालांकि आप गर्मियों में भी रात में पानी में भिगोकर रखे गए 6-7 बादाम सुबह छीलकर खा सकते हैं। लेकिन अगर आपको इसके दुष्प्रभाव दिखें, तो इसकी संख्या कम कर दें।

garam masale

7. गरम मसाले

गरम मसाले खाने का स्वाद भी बढ़ाते हैं और शरीर की इम्यूनिटी भी बढ़ाते हैं। मगर इन्हें गरम मसाले इन्हीं लिए कहा जाता है क्योंकि इन सबकी तासीर गर्म होती है। अगर आप गर्मियों में गरम मसालों जैसे- दालचीनी, कालीमिर्च, जायफल, लौंग, चक्रफूल आदि का सेवन ज्यादा करेंगे, तो आपको नुकसान हो सकता है। इसलिए बेहतर होगा कि आप इनका पाउडर बना लें और आधा या 1 चम्मच जरूरत से अनुसार डिशेज में डालें।

Read More Articles on Ayurveda in Hindi

Disclaimer